NDTV Khabar

दाऊद इब्राहिम और हाफिज सईद पर क्या है पाकिस्तान की राय, NDTV से इमरान खान की पांच बातें

इस्लामाबाद में इमरान खान ने एनडीटीवी से कहा, 'हम लोग पुरानी बातों के साथ नहीं रह सकते. हमारे पास भी भारत में मौजूद पाकिस्तान के कुख्ताय लोगों की लिस्ट है. आतंक के लिए पाकिस्तान की जमीन का इस्तेमाल हमारे हित में नहीं है.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दाऊद इब्राहिम और हाफिज सईद पर क्या है पाकिस्तान की राय, NDTV से इमरान खान की पांच बातें

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान.

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से जब एनडीटीवी ने भारत के सबसे कुख्यात आतंकी दाऊद इब्राहिम के बारे में पूछा तो उनका जवाब था कि उन्हें पुरानी बातों के लिए जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता. इस्लामाबाद में इमरान खान ने एनडीटीवी से कहा, 'हम लोग पुरानी बातों के साथ नहीं रह सकते. हमारे पास भी भारत में मौजूद पाकिस्तान के कुख्ताय लोगों की लिस्ट है. आतंक के लिए पाकिस्तान की जमीन का इस्तेमाल हमारे हित में नहीं है.' इसके अलावा इमरान खान ने मुंबई हमलों के आरोपी हाफिज सईद पर भी अपनी राय रखी. उन्होंने कहा कि मुंबई हमला केस पहले से ही अदालत में लंबित है. यूएन ने पहले से ही हाफिज सईद पर बैन लगा रखा है.
इमरान खान की पांच बातें
  1. दाऊद पर सवाल के जवाब में कहा पुरानी बातों के लिए मुझे जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता. जो मैंने कहा, मैं उस पर कायम रहूंगा. पुरानी बातों के लिए मैं जिम्मेदार नहीं हूं. हमसे भी संसद में जवाब तलब होता है. हमारे पास भी भारत में मौजूद पाकिस्तान के मॉस्ट वांटेड लोगों की लिस्ट है.
  2. उन्होंने कहा, आतंक के लिए हमारी जमीन का इस्तेमाल हमारे हित में नहीं है. एकतरफा कदमों से कुछ नहीं होता है.
  3. हाफिज सईद के बारे में पूछे जाने पर कहा कि 26/11 का मामला अभी अदालत में है. यूएन ने पहले से हाफिज सईद पर बैन लगा रखा है. ये ऐसे मुद्दे हैं जो हमें विरासत में मिले हैं.
  4. 30 मिनट की बातचीत में इमरान खान से पूछा गया कि उन्होंने बातचीत के लिए आक्रामक रूख क्यों अपनाया हुआ है तो उन्होंने कहा, 'संसद पर हमले के बाद मैंने देखा कि दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने आ गई थी. मुंबई हमले के बाद वही हालात दोबारा हो गए. अमन की ख्वाहिश तब से ही है.'
  5. इमरान खाने ने कहा, मैंने पहले दिन (शपथ ग्रहण के बाद) कहा था कि आप(भारत) कदम बढ़ेंगे तो हम दो कदम बढ़ाएंगे. लेकिन यूएन में बैठक को रद्द कर दिया गया. बातचीत के लिए ऐसे शर्तें क्यों? क्या शांति बनाए रखने का कोई मकसद नहीं है. अब हम चुनाव के बाद बातचीत के लिए अप्रैल तक इंतजार करेंगे. 
संबंधित खबरें-
पाक पीएम इमरान खान की सफाई: 'छोटे लोग, बड़े दफ्तर' वाला ट्वीट पीएम नरेंद्र मोदी के लिए नहीं था
- इमरान खान ने फेंकी 'गुगली', भारत ने करतारपुर के कार्यक्रम में भेजे मंत्री : पाक विदेशमंत्री

पाकिस्तान पीएम के मंदिर खोलने के प्रस्ताव पर महबूबा मुफ्ती ने कुछ यूं दिया जवाब 
हाफिज सईद और दाऊद इब्राहिम को लेकर पूछे गए सवाल पर पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने कही यह बात


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement