NDTV Khabar

पीएम मोदी ने इंदिरा गांधी की हत्या के बाद हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस पर इशारों-इशारों में साधा निशाना, 8 बड़ी बातें

पीएम मोदी ने नमो ऐप के जरिये युवा कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि बीजेपी के पक्ष में हवा है.

464 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम मोदी ने इंदिरा गांधी की हत्या के बाद हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस पर इशारों-इशारों में साधा निशाना, 8 बड़ी बातें

पीएम मोदी ( फाइल फोटो )

बंगलोर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 'नमो ऐप' के जरिये आज कर्नाटक के बीजेपी युवा मोर्चा को संबोधित करते हुए कहा कि मुद्रा लोन का लाभ कर्नाटक के भी युवाओं को मिला है. उन्होंने कहा कि स्टार्टअप की दुनिया में बंगलोर की युवाओं का भी का भी बड़ा नाम है. पीएम मोदी ने इस मौके पर बीजेपी के युवाओं पर जोश भरते हुए कहा कि बीजेपी के पक्ष में हवा है. इसके साथ ही एक बार उन्होंने फिर से कांग्रेस को निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी की हत्या के बाद देश में हिंसा का एक दौर चला. उसके बाद ऐसा लगता है कि हिंसा हमारी राजनीति का हिस्सा बन गई है. यह बंद होनी चाहिये.
पीएम मोदी की 8 बड़ी बातें
  1. पीएम मोदी ने कहा, चिलचिलाती धूप में जो जोश मैं कर्नाटक चुनावों में देख रहा हूं उससे ऐसा प्रतीत होता है कि जनता खुद यह चुनाव लड़ रही है.
  2. इस चुनाव में बीजेपी के युवा कार्यकर्ताओं का मुख्य रोल है. युवा ऊर्जा अपने पहले मोर्चा पर है.
  3. हमने आपके काम को महसूस किया है आप लोग बीजेपी की सबसे बड़ी संपत्ति हैं. 
  4. आधुनिक भारत के लिए भाजपा जहां प्रौद्योगिकी का समर्थन करती है वहीं एक दल है जो इसका विरोध करता है चाहे वह ईवीएम हो या फिर आधार कार्ड 
  5. भारत ऑर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के जमाने में पीछे नहीं रह सकता है. हमें खुशी है आपको लोगों ने तकनीकी के महत्व को बढ़ाया है. कर्नाटक के युवा हर क्षेत्र में अच्छा काम कर रहे हैं. 
  6. एथलीट गुरुराजा ने अपने मेडल को गांव, राज्य और देश को समर्पित किया है. महिलाओें ने कॉमनवेल्थ गेम्स में अच्छा प्रदर्शन किया है. अश्विनी पोनप्पा एक उभरती हुईं एथलीट हैं. 
  7. 1984 में इंदिरा गांधी की हत्या के बाद हिंसा का एक दौर चला था. इसके बाद ऐसा लगता है कि हिंसा हमारी राजनीति का हिस्सा बन गई है. हमारे कार्यकर्ता त्रिपुरा, केरल और कर्नाटक में मारे गये हैं. यह लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है. हिंसा को रोका जाना चाहिये.
  8. हिंसा के लिए लोकतंत्र में कोई जगह नहीं है. जब कोई शख्स विश्वास खो देता है और उसके पास बोलने और सच स्वीकार करने की ताकत नहीं होती है तो वह हिंसा का रास्ता अपनाता है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement