NDTV Khabar

पीएम मोदी ने कहा- लोगों के 'एक देश एक टैक्स' का सपना पूरा हुआ, 'मन की बात' की 10 बड़ी बातें

पीएम मोदी ने कहा कि वायुसेना के हमारे योद्धाओं ने तो बीच आसमान में धरती से 15 हज़ार फुट की ऊंचाई पर योगासन करके सबको स्तब्ध कर दिया. देखने वाला नज़ारा यह था कि उन्होंने हवा में तैरते हुए किया, न कि हवाई जहाज़ में बैठ कर.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम मोदी ने कहा- लोगों के 'एक देश एक टैक्स' का सपना पूरा हुआ, 'मन की बात' की 10 बड़ी बातें

पीएम मोदी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: पीएम मोदी ने आज ‘मन की बात’ कार्यक्रम के जरिये देशवासियों को संबोधित किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात का यह 45वां संस्करण है. रेडियो पर प्रसारित होने वाले अपने इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी अपने विचार देश की जनता से कई मुद्दों पर साझा किया. पीएम मोदी ने अपने संबोधन का आरम्भ कुछ दिन पहले बेंगलुरु में भारत और अफगानिस्तान के बीच हुए ऐतिहासिक क्रिकेट मैच को स्मरण करते हुए किया. साथ ही योग दिवस की अपार सफलता पर देशवासियों को बधाई दी और फिर सेना के साहस को सलाम किया, जो इतनी ऊंचाई पर भी योगासन किया.
मन की बात की दस बड़ी बातें
  1. पीएम मोदी ने कहा कि भारत की आज़ादी का संघर्ष बहुत लम्बा, बहुत व्यापक बहुत गहरा है, अनगिनत शाहदतों से भरा हुआ है. 2019 में जलियांवाला बाग की उस भयावह घटना के 100 साल पूरे हो रहे हैं जिसने पूरी मानवता को शर्मसार किया था. 13 अप्रैल, 1919 का वो काला दिन कौन भूल सकता है जब पावर का दुरुपयोग करते हुए क्रूरता की सारी हदें पार कर निर्दोष और मासूम लोगों पर गोलियां चलाई गयी थी. 2019 में जलियांवाला बाग़ की घटना के 100 साल पूरे हो रहे हैं, इसे हम कैसे स्मरण करें, हम सब इस पर सोच सकते हैं.
  2. पीएम मोदी ने कहा कि जीएसटी को एक साल पूरा होने वाला है.  ‘One Nation, One Tax’  यानी एक देश एक टैक्स देश के लोगों का सपना था, वो आज हक़ीक़त में बदल चुका है.
  3. पीएम मोदी ने कहा कि 23 जून को डॉ० श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि थी. डॉ० श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने शिक्षा, एडमिनिस्ट्रेशन और संसदीय मामलों, जैसे क्षेत्रों में काम किया.बहुत कम लोगों को पता होगा कि वे कोलकाता विश्वविद्यालय के सबसे कम उम्र के कुलपति थे. 
  4. पीएम मोदी ने कहा कि संत कबीरदास जी ने अपनी साखियों और दोहों के माध्यम से सामाजिक समानता, शांति और भाईचारे पर बल दिया. उनकी रचनाओं में हमें यही आदर्श देखने को मिलते हैं और आज के युग में भी वे उतने ही प्रेरक है. कबीरदास जी के मगहर जाने के पीछे एक कारण था. उस समय एक धारणा थी कि मगहर में जिसकी मृत्यु होती है, वह स्वर्ग नहीं जाता. इसके उलट काशी में जो शरीर त्याग करता है, वो स्वर्ग जाता है। मगहर को अपवित्र माना जाता था लेकिन संत कबीरदास इस पर विश्वास नहीं करते थे.
  5. पीएम मोदी ने कहा कि योग सभी सीमाओं को तोड़कर, जोड़ने का काम करता है। सैकड़ों देशों के हजारों उत्साही लोगों ने जाति, धर्म, क्षेत्र, रंग या लिंग हर प्रकार के भेद से परे जाकर इस अवसर को एक बहुत बड़ा उत्सव बना दिया. देश को गर्व होता है, जब सवा-सौ करोड़ लोग देखते हैं कि हमारे देश के सुरक्षा बल के जवानो ने जल-थल और नभ तीनों जगह योग का अभ्यास किया. कुछ वीर सैनिकों ने जहाँ पनडुब्बी में योग किया, वहीं कुछ सैनिकों ने सियाचीन के बर्फीले पहाड़ों पर योगाभ्यास किया.
  6. पीएम मोदी ने कहा कि 21 जून को चौथे ‘योग दिवस’ पर एक अलग ही नज़ारा था. विश्व-भर में लोगों ने पूरे उत्साह और उमंग के साथ योगाभ्यास किया. ब्राज़ील में, European Parliament हो, New York स्थित संयुक्तराष्ट्र का मुख्यालय हो,जापानी नौ-सेना के लड़ाकू जहाज हों,सभी जगह लोग योग करते नजर आए.
  7. पीएम मोदी ने कहा कि वायुसेना के हमारे योद्धाओं ने तो बीच आसमान में धरती से 15 हज़ार फुट की ऊंचाई पर योगासन करके सबको स्तब्ध कर दिया. देखने वाला नज़ारा यह था कि उन्होंने हवा में तैरते हुए किया, न कि हवाई जहाज़ में बैठ कर.
  8. पीएम मोदी ने कहा कि भारत का एक समृद्ध इतिहास रहा है. ऐसा कोई महीना नहीं है, जिसमें कोई-न-कोई ऐतिहासिक घटना न घटी हो. भारत में हर जगह की अपनी एक विरासत है. वहां से जुड़ा कोई संत है, कोई महापुरुष है, कोई प्रसिद्ध व्यक्ति है, सभी का अपना-अपना योगदान है, अपना महात्म्य है.
  9. पीएम मोदी ने कहा कि गुरु नानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व 2019 को मनाया जाएगा. मैं आप लोगों से इसको मनाने के लिये सुझाव देने की अपील करता हूं. गुरु नानक देव जी ने कोटि-कोटि लोगों को सन्मार्ग दिखाया, सदियों से प्रेरणा देते रहें​.
  10. पीएम मोदी ने कहा कि ‘मन की बात’ के माध्यम से मैं सभी देशवासियों की तरफ़ से हमारे सभी डॉक्टर साथियों को आगामी 1 जुलाई को आने वाले ‘डॉक्टर्स डे’ की ढेरों शुभकामनाएं देता हूं.पीएम मोदी ने कहा कि अफगानिस्तान के एक बॉलर राशिद खान ने इस वर्ष IPL में भी काफ़ी अच्छा प्रदर्शन किया था. अफगानिस्तान के राष्ट्रपति श्रीमान अशरफ़ गनी ने ट्विटर पर लिखा था- “अफगानिस्तान के लोगों को अपने हीरो राशिद खान पर अत्यंत गर्व है. प्रधानमंत्री ने भारत और अफगानिस्तान, दोनों टीमों को शुभकामनाएँ दीं और ये भी उम्मीद जताई कि दोनों देश आगे भी इसी तरह एक-दूसरे के साथ पूरी Sportsman Spirit के साथ खेलेंगे.  उन्होंने कहा कि Sportsman Spirit और Sportsmanship क्या होती है - इस एक घटना से हम अनुभव कर सकते हैं .खेल समाज को एकजुट करने और हमारे युवाओं में कौशल है, जो प्रतिभा है, उसे खोज निकालने का एक बेहरतीन तरीक़ा है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement