NDTV Khabar

गरीबी से निकलकर आया हूं इसलिए उनकी जरूरतों की समझ है : पीएम मोदी, भाषण की 10 बड़ी बातें

पीएम मोदी ने कहा कि भ्रष्टाचार-कालेधन से देश परेशान है, लोग इनसे छुटकारा पाना चाहते हैं.

145 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
गरीबी से निकलकर आया हूं इसलिए उनकी जरूरतों की समझ है : पीएम मोदी, भाषण की 10 बड़ी बातें

फिक्की के कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली: भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिक्की के 90वें वार्षिक मीटिंग में हिस्सा लिया और इस दौरान उन्होंने संबोधन भी दिया. पीएम मोदी ने अपने संबोधन के दौरान कहा कि जनधन योजना को लोगों से जबरदस्त समर्थन मिला. साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि मैं गरीबी की दुनिया से निकलकर आपके बीच आया हूं. सीमित संसाधन, सीमित पढ़ाई के बीच से आया हूं, इसलिए मुझे गरीबों की जरूरतों की समझ है. चलिए जानते हैं कि आखिर पीएम मोदी ने अपने संबोधन में किन-किन अहम 10 बातों का जिक्र किया...
फिक्की के कार्यक्रम में पीएम मोदी की 10 बड़ी अहम बातें
  1. पीएम मोदी ने कहा कि हमारे यहां एक ऐसा सिस्टम बना जिसमें गरीब हमेशा इस सिस्टम से लड़ रहा था. छोटी-छोटी चीजों के लिए उसे संघर्ष करना पड़ रहा था, अपनी ही पेंशन, स्कॉलरशिप पाने के लिए यहां-वहां कमीशन देना होता था. 
  2. पीएम मोदी ने जनधन योजना को लेकर कहा कि जनधन योजना को लोगों से अपार समर्थन प्राप्त हुआ. जब ये योजना शुरू हुई थी तो हम लक्ष्य तय नहीं कर पाए थे कि कितने गरीबों के बैंक खाते खोलने हैं. हमारे पास ऐसा कोई डाटा नहीं था, जिससे हमें गरीबों का पता चल सके.'
  3. पीएम मोदी ने कहा कि हमें ये पता था कि गरीबों को बैंक के दरवाजे से लौटा दिया जाता है. आज जब मैं देखता हूं कि जनधन के माध्यम से 30 करोड़ से ज्यादा गरीबों ने अपने बैंक के खाते खुलवाए हैं तो लगता है कि गरीबों की कितनी बड़ी जरूरत को हम पूरा कर पाए हैं.'
  4. पीएम मोदी ने कहा कि एक अध्ययन में ये बात सामने आई है कि ग्रामीण क्षेत्रों में जहां ऐसे खाते ज्यादा खुले हैं, वहां महंगाई दर में कमी आई है. साथ ही उन्होंने कहा कि उज्वला योजना के बाद फ्यूल इंफलेशन में भी काफी मात्रा में गिरावट आई है. अब गरीब को ईंधन पर कम खर्च करने पड़ते हैं. हमने 3 करोड़ से ज्यादा को महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्शन दिया. 
  5. पीएम मोदी ने कहा कि मैं गरीबी की दुनिया से निकलकर आपके बीच आय़ा हूं. सीमित संसाधन, सीमित पढ़ाई के बीच से आया हूं. इसी दुनिया ने मुझे सिखाया है कि देश की आवश्यकताओं, गरीबों की आवश्यकताओं को समझते हुए हम काम करें और फैसले लें.
  6. पीएम मोदी ने मुद्रा योजना को लेकर कहा कि यह योजना युवाओं की बड़ी जरूरत को पूरा कर रही है. जब कोई युवा कुछ करने की सोचता है तो उसके सामने पैसे की बात आती है. मगर मुद्रा योजना के तहत पैसों की गारंटी सरकार ले रही है. पीएम ने कहा कि बीते 3 साल में करीब पौने 10 करोड़ लोगों को हमने मुद्रा योजना से लोन दिया है. इन्हें बिना बैंक गारंटी के करीब 4 लाख करोड़ रुपए दे दिए गए हैं.
  7. पीएम मोदी ने कहा कि एफआरडीआई को लेकर बहुत बड़ी  मात्रा में अफवाहें फैलाई जा रही हैं. सरकार ग्राहकों के हित को सुरक्ष‍ित करने के लिए लगातार काम कर रही है. खबरों को उसके उलट चलाया जा रहा है. आम नागारिकों को भ्रमित करने से रोकने में फिक्की की अहम भूमिका जरूरी है.
  8. पीएम ने कहा कि जब सरकार में बैठे कुछ लोगों द्वारा बैंकों पर दबाव डालकर कुछ विशेष उद्योगपतियों को लोन दिलवाया जा रहा था, तब फिक्की जैसी संस्थाएं क्या कर रही थीं. पीएम मोदी ने कहा कि पहले की सरकार में बैठे लोग जानते थे, बैंक भी जानते थे, उद्योग जगत भी जानता था, बाजार से जुड़ी संस्थाएं भी जानती थी कि गलत हो रहा है. 
  9. पीएम मोदी ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा था कि ये एनपीए यूपीए सरकार का सबसे बड़ा घोटाला था. कॉमनवेल्थ, 2जी, कोल स्कैम इन सबसे ज्यादा बड़ा घोटाला था. जो लोग मौन रहकर सबकुछ देखते रहे, क्या उन्हें जगाने की कोशिश किसी संस्था द्वारा की गई.
  10. पीएम मोदी ने कहा कि आम लोगों को पिछले 60 साल के दौरान काफी परेशानियां झेलनी पड़ी थीं. लोगों को अपने छोटे-मोटे काम के लिए दफ्तरों के चक्कर काटने पड़ते थे और दर-दर भटकना पड़ता था. मगर लोगों की समस्या से निजात दिलाने के लिए हमारी सरकार काम कर रही है और हम एक पारदर्शी माहौल तैयार कर रहे हैं. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement