NDTV Khabar

पीएम नरेंद्र मोदी बोले, नेपाल के बिना हमारे धाम अधूरे- हमारे राम अधूरे, 10 बातें

पीएम मोदी ने कहा कि जनक की नगरी, सीता माता के कारण स्त्री- चेतना की गंगोत्री बनी है. सीता माता यानि त्याग , तपस्या ,समर्पण और संघर्ष की मूर्ति है

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम नरेंद्र मोदी बोले, नेपाल के बिना हमारे धाम अधूरे- हमारे राम अधूरे, 10 बातें

पीएम मोदी ने जानकी मंदिर जाकर पूजा-अर्चना की

नई दिल्ली: दो दिनों नेपाल दौरे पर जनकपुर पहुंचे पीएम मोदी ने जानकी मंदिर जाकर पूजा-अर्चना की. वहां मंजीरा बजाया और फिर वहां के पुजारियों से काफ़ी देर तक बात की. पूजा-अर्चना के बाद पीएम मोदी ने जानकी मंदिर की परिक्रमा की. इस दौरान वहां मौजूद लोगों ने पीएम का अभिवादन किया. पीएम ने भी हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन किया. प्रधानमंत्री मोदी ने जनकपुर-अयोध्या के बीच बस सेवा को हरी झंडी दिखाई. पीएम ने इस मौक़े पर कहा कि रामायण सर्किट भारत और नेपाल दोनों के लिए अहम है. इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा. इस दौरान नेपाल के पीएम केपी ओली भी पीएम मोदी के साथ रहे.
मामले से जुड़ी अहम जानकारियां
  1. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जनकपुर में आयोजित नागरिक अभिनंदन समारोह में कहा कि 2014 में जब मैं प्रधानमंत्री के तौर पर पहली बार नेपाल आया था, तो संविधान सभा में कहा था कि जल्द ही जनकपुर आउंगा. मैं आप सबसे क्षमा चाहता हूं, मुझे आने में थोड़ी देर हो गई. आज जानकी मंदिर में दर्शन कर, मेरी बहुत सालों की मनोकामना पूरी हुई.
  2. पीएम मोदी ने कहा कि भारत और नेपाल दो देश हैं, लेकिन हमारी मित्रता आज की नहीं त्रेता युग की है. राजा जनक और राजा दशरथ ने सिर्फ़ जनकपुर और अयोध्या ही नहीं, भारत और नेपाल को भी मित्रता और साझेदारी के बंधन में बांध दिया था. पीएम मोदी बोले, नेपाल के बिना हमारे धाम अधूरे, नेपाल के बिना हमारे राम अधूरे 
  3. पीएम मोदी ने कहा कि ये बंधन है राम-सीता का. बुद्ध का, महावीर का है. यही बंधन रामेश्वरम् में रहने वाले को खींच कर पशुपतिनाथ ले आता है. यही बंधन लुम्बिनी में रहने वाले को बोधगया ले जाता है. और यही बंधन, यही आस्था, यही स्नेह, आज मुझे जनकपुर ले आया है.
  4. पीएम मोदी ने कहा, भारत नेपाल संबंध किसी परिभाषा से नहीं बल्कि भाषा से बंधे हैं। ये भाषा आस्था की है, ये भाषा अपनेपन की है, ये भाषा रोटी की है और ये भाषा बेटी की है. 
  5. पीएम मोदी ने कहा कि हम एक नए भारत का निर्माण कर रहे हैं, जहां गरीब-से-गरीब व्यक्ति को भी प्रगति के समान अवसर मिले. जहां भेदभाव-ऊंच-नीच ना हो, सबका सम्मान हो. जहां बच्चों को पढ़ाई, युवाओं को कमाई और बुजुर्गों को दवाई मिले. 
  6. उन्‍होंने कहा कि विकास की पहली शर्त होती है लोकतंत्र. मुझे खुशी है कि लोकतांत्रिक प्रणाली को नेपाल के लोग मजबूती दे रहे हैं. हाल में ही आपके यहां चुनाव हुए. आपने एक नई सरकार चुनी है. अपनी आशांओं आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए आपने जनादेश दिया है. 
  7. पीएम मोदी ने कहा कि जनक की नगरी, सीता माता के कारण स्त्री- चेतना की गंगोत्री बनी है. सीता माता यानि त्याग , तपस्या ,समर्पण और संघर्ष की मूर्ति. 
  8. पीएम मोदी ने कहा, भारत की पड़ोसी प्रथम नीति में नेपाल सबसे पहले आता है. उन्‍होंने कहा कि जनकपुर और आसपास के क्षेत्रों के विकास के लिए नेपाल को 100 करोड़ रुपये देगा भारत. 
  9. जानकी मंदिर में पूजा-अर्चना के बाद पीएम मोदी ने वहां एक सभा को भी संबोधित करते हुए कहा कि एकादशी के दिन जनकपुर में मां जानकी के चरणों में आना मेरा सौभाग्य है. हम नेपाल के साथ रिश्तों को मज़बूत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. 
  10. पीएम मोदी ने कहा कि भारत और नेपाल दोनों देशों के बीच 'रामायण' सर्किट बनाने की दिशा में काम करेंगे. यह दोनों देशों के बीच लोगों से संपर्क करने के लिए मजबूत लोगों के लिए आधार के रूप में कार्य करेगा.
     



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement