NDTV Khabar

मन की बात में पीएम नरेंद्र मोदी ने योग और स्वास्थ्य पर की ये 8 बातें

कार्यक्रम की शुरुआत में ही पीएम मोदी ने साफ कर दिया था कि वह आज स्वास्थ्य से जुड़े मुद्दे पर ज्यादा बातें करेंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मन की बात में पीएम नरेंद्र मोदी ने योग और स्वास्थ्य पर की ये 8 बातें

मन की बात कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी ने स्वास्थ्य से जुड़ी बातें कीं. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: मन की बात कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को संबोधित किया. पीएम ने आज कई मुद्दों पर अपनी बात रखी. कार्यक्रम की शुरुआत में ही पीएम मोदी ने साफ कर दिया था कि वह आज स्वास्थ्य से जुड़े मुद्दे पर ज्यादा बातें करेंगे.
देश को 2025 तक टीबी मुक्त बनाने का लक्ष्य
  1. मन की बात में पीएम मोदी ने कहा, देश को 2025 तक टीबी मुक्त बनाने का लक्ष्य रखा है. टीबी से मुक्ति पाने के लिए हम सबको सामूहिक प्रयास करना होगा.
  2. पीएम नरेंद्र मोदी मौजूदा 479 मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस की सीटों की संख्या बढ़ाकर लगभग 68 हज़ार कर दी गई हैं. विभिन्न राज्यों में नए एम्स खोले जा रहे हैं. हर 3 ज़िलों के बीच एक नया मेडिकल कॉलेज खोला जाएगा.
  3. पीएम नरेंद्र मोदी ने दावा किया कि हृदय-रोगियों के लिए हार्ट स्टेंट की कीमत 85% तक कम कर दी गई है. नी इंप्लांट (घुटने का प्रत्यारोपण) की क़ीमतों को भी नियंत्रित कर 50 से 70% तक कम कर दिया गया है.
  4. मन की बात में पीएम मोदी ने कहा, मेरे योग करते हुए 3डी एनीमेटेड वीडियो बनाए गए हैं. मैं यह वीडियो, शेयर करूँगा ताकि हम साथ-साथ आसन, प्राणायाम का अभ्यास कर सकें.
  5. पीएम ने कहा, प्रीवेंटिव हेल्थ केयर के रूप में योग ने, नये सिरे से दुनिया-भर में अपनी पहचान बनाई है. योग, फिटनेस और वेलनेस दोनों की गारंटी देता है.
  6. पिछले लगभग 4 सालों में सेनीटेशन कवरेज दोगुना होकर करीब (80%) हो चुका है। इसके अलावा, देश-भर में हेल्थ वेलनेस सेंटर बनाने की दिशा में व्यापक स्तर पर काम हो रहा है.
  7. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, देश में स्वास्थ्य से जुड़ा हर काम जहाँ पहले सिर्फ हेल्थ मिनिस्ट्री की ज़िम्मेदारी होती थी, वहीं अब सारे विभाग और मंत्रालय, राज्य सरकारें साथ मिलकर स्वस्थ-भारत के लिए काम कर रहे हैं और प्रीवेंटिव हेल्थ के साथ-साथ अफोर्डेबल हेल्थ के ऊपर ज़ोर दिया जा रहा है.
  8. स्वच्छ भारत और स्वस्थ भारत दोनों एक-दूसरे के पूरक हैं. स्वास्थ्य के क्षेत्र में आज देश कानवेश्नल अप्रोच से आगे बढ़ चुका है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement