NDTV Khabar

भीमा-कोरेगांव हिंसा मामले में सिविल राइट्स वक़ील सुधा भारद्वाज हाउस अरेस्ट, 10 बड़ी बातें

इस मामले के तार झारखंड के रांची से भी जुड़ रहे हैं. पुणे पुलिस की टीम ने आज रांची में छापेमारी करके स्टैन स्वामी को गिरफ़्तार किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भीमा-कोरेगांव हिंसा मामले में सिविल राइट्स वक़ील सुधा भारद्वाज हाउस अरेस्ट, 10 बड़ी बातें

मामले को लेकर देश भर में छापे मारकर कई लोगों को हिरासत और गिरफ्तार किया गया है.

नई दिल्ली: भीमा कोरेगांव हिंसा की जांच कर रही पुणे पुलिस ने मंगलवार की सुबह मुंबई, दिल्ली , हैदराबाद औऱ रांची में एक साथ छपेमारी कर घन्टो तलाशी ली औऱ फिर 5 लोगों को गिरफ्तार किया. पुणे पुलिस के मुताबिक सभी पर प्रतिबंधित माओवादी संगठन से लिंक होने का आरोप है. जबकि मानवाधिकार कार्यकर्ता इसे सरकार के विरोध में उठने वाली आवाज को दबाने की दमनकारी कार्रवाई बता रहे हैं. रांची से फादर स्टेन स्वामी , हैदराबाद से वामपंथी विचारक और कवि वरवरा राव, फरीदाबाद से सुधा भारद्धाज और दिल्ली से सामाजिक कार्यकर्ता गौतम नवलाख की भी गिरफ्तारी भी हुई है.
10 बड़ी बातें
  1. महाराष्ट्र के भीमा कोरेगांव हिंसा मामले को लेकर पुलिस ने दिल्ली-NCR, रांची, पुणे, हैदराबाद और मुंबई मे छापेमारी की है.हैदराबाद से लेखक वरवरा राव को गिरफ़्तार किया गया है. 
  2. वरवर राव पर पीएम मोदी की हत्या के लिये कथित साजिश रचने का आरोप है.
  3. वहीं पुणे से दो लोगों अरुण फ़रेरा, वेनोन गोंजाल्विस को गिरफ़्तार गया है. घर से ले जाते समय अरुण फ़रेरा ने कहा कि ये मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के ख़िलाफ़ साज़िश है.
  4. पुणे पुलिस ने दिल्ली से मानवाधिकार कार्यकर्ता गौतम नवलखा को गिरफ़्तार करके साकेत कोर्ट में पेश किया. साकेत कोर्ट ने गौतम को ट्रांजिट रिमांड पर भेजने का आदेश सुनाया.
  5. लेकिन दिल्ली हाइकोर्ट ने ट्रांजिट रिमांड पर कल तक रोक लगा दी है... इस दौरान गौतम नवलखा नज़रबंद रहेंगे
  6. इसके अलावा फ़रीदाबाद से सुधा भारद्वाज को भी गिरफ़्तार किया गया है. सुधा भारद्वाज सिविल राइट्स वक़ील हैं. उनके परिवार के मुताबिक पुलिस ने सुबह 7 बजे छापा मारा और सुधा भारद्वाज का फोन और लैपटॉप ज़ब्त कर किया.
  7. मंगलवार देर शाम को सुधा भारद्वाज के वकील ने कहा कि उन्हें अदालत द्वारा आदेश के अनुसार हाउस अरेस्ट नहीं किया गया था. अदालत ने उसे तीन दिनों तक राहत दी थी और कहा कि उसे पुणे नहीं ले जा सकते. बाद में उनके वकीलों ने कहा कि वे अदालत में चले जाएंगे. सुधा भारद्वाज को पुलिस कार में मजिस्ट्रेट के घर अगली सुनवाई के लिए वापस लाया जाया गया था. रात 1 बजे मजिस्ट्रेट ने पुलिस से उच्च न्यायालय के आदेश का अनुपालन करने और भारद्वाज को 30 अगस्त तक हाउस अरेस्ट रखने के लिए कहा.
  8. इस मामले के तार झारखंड के रांची से भी जुड़ रहे हैं. पुणे पुलिस की टीम ने आज रांची में छापेमारी करके स्टैन स्वामी को गिरफ़्तार किया.
  9.  माकपा ने विभिन्न वामपंथी विचारकों, सामाजिक और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस की छापेमारी की निंदा करते हुये इसे सरकार की दमनकारी नीतियों का नतीजा बताया है.
  10. पार्टी ने हिंसा पीड़ितों के मुकदमे लड़ रहे वकीलों और इनकी मदद कर रहे सामाजिक कार्यकर्ताओं के विरूद्ध गैरकानूनी गतिविधि निरोधक कानून की विभिन्न धाराओं के तहत इनके खिलाफ फर्जी मामले दर्ज किये जाने का आरोप लगाया.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement