NDTV Khabar

राजनीति में रजनीकांत : नई पार्टी बनाने का किया ऐलान, कहा- कायर नहीं हूं पीछे नहीं हटूंगा

रजनीकांत ने कहा कि वह राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव लड़ेंगे. रजनीकांत ने कहा कि वह लोकल चुनाव नहीं लड़ेंगे क्योंकि अभी उनके पास समय नहीं बचा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राजनीति में रजनीकांत : नई पार्टी बनाने का किया ऐलान, कहा- कायर नहीं हूं पीछे नहीं हटूंगा

अपने फैसले का ऐलान करते हुए रजनीकांत

नई दिल्ली: दक्षिण से लेकर हिंदी फिल्मों में एक्शन के दम पर लोगों के दिलों पर राज करने रजनीकांत ने आज अपनी नई भूमिका का ऐलान कर दिया है. उन्होंने कहा कि अपनी राजनीतिक पार्टी का ऐलान किया है. इसके साथ ही तमिलनाडु की राजनीति में एक नई पार्टी का जन्म हो गया है. उन्होंने वरिष्ठ पत्रकार चो रामास्वामी को अपना मेंटर बताया है. उन्होंने कहा कि वह अपना कर्तव्य निभाना चाहते हैं. वह कायर नहीं है और वह पीछे नहीं हटेंगे और राजनीति में आ रहे हैं. रजनीकांत ने कहा कि वह राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव लड़ेंगे. रजनीकांत ने कहा कि वह लोकल चुनाव नहीं लड़ेंगे क्योंकि अभी उनके पास समय नहीं बचा है.
राजनीति में रजनीकांत और खास बातें
  1. रजनीकांत  ने कहा कि अपनी पार्टी का ऐलान करते हुए कहा कि वह पीछे नहीं हटेंगे वह कायर नहीं हैं. मैं तमिलनाडु की जनता को नीचे नहीं जाने देंगे.
  2.  उन्होंने कहा कि तमिलनाडु की जनता का सिर नहीं झुकने दूंगा. मैं अपने प्रशंसकों को धन्यवाद करता हूं जैसा कि लोगों ने 6 दिन तक मेरे फैसले का इंतजार किया.
  3. दक्षिण के सुपर स्टार ने कहा, मुझे अपनी पार्टी में कैडर नहीं गार्ड चाहिए जो गलत होने से रोक सकें. मैं उनका सिर्फ सुपरवाइजर रहूंगा.
  4. उन्होंने कहा हमारे पास हजारों रजिस्ट्रेशन वाले क्लब हैं. सबको रजिस्ट्रेशन कराकर गार्ड बनना होगा. तब तक हमें न किसी की आलोचना करना है और न राजनीति पर बोलना है.
  5. जब विधानसभा चुनाव के समय उचित समय आएगा तब अपनी नीतियों और वादों का ऐलान करेंगे. अगले विधानसभा चुनाव तक हमारी सेना तैयार हो जाएगी.
  6. गौरतलब है कि  जयललिता के निधन के बाद दक्षिण की राजनीति में एक लोकप्रिय चेहरे की कमी महसूस की जा रही थी. राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि रजनीकांत इस खाली जगह को भर सकते हैं.
  7. रजनीकांत के राजनीति में आने के फैसले पर अन्नाद्रमुक के वरिष्ठ नेता एवं राज्य के मत्स्यपालन मंत्री डी. जयकुमार ने कहा, ‘‘भारत एक लोकतांत्रिक देश है. कोई भी राजनीति में आ सकता है.  इसे स्वीकार करना या न करना तो लोगों पर निर्भर है. लोग ही जज होते हैं.’’ 
  8. वहीं हथकरघा मंत्री ओ. एस. मणियन ने नागपत्तनम में पत्रकारों से कहा कि 67 साल के रजनीकांत की सेहत को देखते हुए हो सकता है कि राजनीति उनके लिए आदर्श जगह न हो.
  9. आपको बता दें कि रजनीकांत ने 2011 में सिंगापुर स्थित माउंट एलिजाबेथ मेडिकल सेंटर में अपनी किसी बीमारी का इलाज कराया था. इसके अलावा भी उनका मेडिकल इलाज चलता रहता है.
  10. भाजपा की प्रदेश अध्यक्ष टी. सुंदरराजन ने कहा कि उनकी पार्टी ने हमेशा राजनीति में रजनीकांत का स्वागत किया है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement