NDTV Khabar

UN में सुषमा स्‍वराज ने पाकिस्तान को सुनाई खरी-खरी, भाषण की 10 खास बातें

भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने भाषण की शुरुआत में मोदी सरकार की योजनाओं का गुणगान किया. बाद में उन्होंने पड़ोसी देश पाकिस्तान पर जमकर निशाना साधा.

478 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
UN में सुषमा स्‍वराज ने पाकिस्तान को सुनाई खरी-खरी, भाषण की 10 खास बातें

भाषण की शुरुआत करते हुए सुषमा स्वराज ने मोदी सरकार की योजनाओं का गुणगान किया....

संयुक्त राष्ट्र: भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने शनिवार रात संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा को संबोधित किया. भाषण की शुरुआत करते हुए सुषमा ने मोदी सरकार की योजनाओं का गुणगान किया. उन्होंने मुद्रा योजना, जनधन योजना उज्जवला योजना के अलावा डिजिटल इंडिया का जिक्र खास तौर पर किया. हालांकि, बाद में उन्होंने पड़ोसी देश पाकिस्तान की जमकर खबर ली. सुषमा ने तीखे अंदाज में कहा कि हम गरीबी से लड़ रहे हैं, हमारा पड़ोसी देश पाकिस्तान हमसे लड़ रहा है. उन्होंने पाकिस्तानी नेताओं से कहा कि वे इस पर आत्ममंथन करें कि भारत क्यों वैश्विक आईटी महाशक्ति के तौर पर जाना जाता है और पाकिस्तान की पहचान 'आतंकवाद के निर्यात के कारखाने' की है. आइए एक नजर सुषमा स्वराज के भाषण की मुख्य अंश पर डाल लेते हैं:
पाकिस्तान पर बरसीं सुषमा
  1. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि गरीबी को दूर करना टिकाऊ विकास का पहला लक्ष्‍य है. हमारी सभी योजनाएं गरीबों को शक्तिशाली बनाने के लिए हैं.
  2. मुद्रा योजना के तहत 70 फीसदी से ज्यादा कर्ज महिलाओं को दिया गया है.
  3. विदेश मंत्री ने अपने भाषण में उज्जवला योजना का जिक्र किया. कहा कि इसके तह गरीब महिलाओं को मुफ्त में गैस का सिलिंडर दिया जा रहा है.
  4. उन्होंने कहा कि भारत में 30 करोड़ लोगों को मिशन मोड से बैंक से जोड़ने का काम किया गया. जिनके पास पैसा नहीं था उनका जीरो बैलेंस से एकाउंट खोला गया.
  5. इसके बाद सुषमा पाकिस्तान पर जमकर बरसी. कहा कि पाकिस्तान ने हैवानियत की सारी हदें पार कर दी है.
  6. पाकिस्तान की पहचान दहशतगर्द मुल्क की बनी है.
  7. उन्होंने कहा कि हमने आईआईटी, आईआईएम बनाए, पाकिस्तान ने आतंकी ठिकाने बनाए. हमने डॉक्टर बनाए, पाकिस्तान ने जेहादी.
  8. पाकिस्तान को नसीहत देते हुए कहा कि आतंक का पैसा भलाई पर खर्च करो.
  9. उन्होंने साफ कहा कि संयुक्त राष्ट्र जिस समस्या का समाधान तलाश रहा है उसमें आतंकवाद अहम है. अलग-अलग नजरिये से आतंकवाद को देखना बंद करें.
  10. हम पूरे विश्व में शांति की कामना करते हैं. भारत जलवायु परिवर्तन पर पेरिस समझौते को लेकर प्रतिबद्ध है. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement