NDTV Khabar

'भारत बंद' में खुद मिजोरम प्रदेश कांग्रेस नहीं हुई शामिल, अन्य राज्यों में कितना रहा असर, 11 बड़ी बातें

सभी विपक्षी नेता रामलीला मैदान के पास एक इंडियन ऑयल पेट्रोल पंप के पास एकत्र हो गए, जहां संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (सप्रंग) की अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह मौजूद थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'भारत बंद' में खुद मिजोरम प्रदेश कांग्रेस नहीं हुई शामिल, अन्य राज्यों में कितना रहा असर, 11 बड़ी बातें

विपक्ष के भारत बंद का कितना असर?

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में एकजुट विपक्ष ने पेट्रोल, डीजल की बढ़ी कीमतों के विरोध में आहूत 'भारत बंद' के समर्थन में पैदल मार्च किया. राजघाट और जाकिर हुसैन कॉलेज के बीच 1.8 किलोमीटर लंबा मार्च निकाला गया. जनता दल सेकुलर (जेडी-एस), तृणमूल कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, (एनसीपी), लोकतांत्रिक जनता दल (एलजेडी), राष्ट्रीय लोक दल, ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट, रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी और आम आदमी पार्टी (आप) उन विपक्षी पाटिर्यों में रहे, जिन्होंने विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया. राजघाट पर राहुल ने महत्मा गांधी की समाधि पर श्रद्धांजलि भी अर्पित की. मार्च समाप्त होने के बाद सभी विपक्षी नेता रामलीला मैदान के पास एक इंडियन ऑयल पेट्रोल पंप के पास एकत्र हो गए, जहां संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (सप्रंग) की अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह मौजूद थे.
भारत बंद की 11 बड़ी बातें
  1. मिजोरम : कांग्रेस शासित मिजोरम में सोमवार को कहीं भी ‘ भारत बंद ’ का असर नजर नहीं आया और दुकानें, कार्यालय तथा शैक्षणिक संस्थान खुले रहे. मिजोरम प्रदेश कांग्रेस समिति (एमपीसीसी) और विपक्षी दल, कोई भी इसमें शामिल नहीं हुआ. एमपीसीसी के उपाध्यक्ष और राज्य के गृह मंत्री आर लालजिरलांगा ने पीटीआई-भाषा को बताया कि राज्य में ‘भारत बंद’ में शामिल होने के बारे में चर्चा नहीं हुई, न ही इस मुद्दे पर किसी बैठक का आयोजन किया गया. हालांकि राज्य की राजधानी में दोपहर के वक्त वनापा हॉल के सामने सांकेतिक धरना दिया जाएगा.
  2. ओडिशा : ओडिशा में रेल मार्गों को बाधित किया गया जिससे राज्य में कई स्थानों पर रेल सेवा बाधित हुई।    पार्टी कार्यकर्ताओं ने भुवनेश्वर, खुर्दा रोड, पुरी, बरहमपुर, संबलपुर और बालेश्वर में बंद लागू करने के लिए धरना दिया और रेल पटरियों को बाधित किया. रेल अधिकारियों ने बताया कि पूर्व तटीय रेलवे के क्षेत्र के अंतर्गत ‘भारत बंद’ की वजह से कम से कम 10 ट्रेनों को रद्द किया गया.
  3. राजस्थान :  ‘भारत बंद’ का सोमवार को राजस्थान में मिला जुला असर दिखाई दिया. प्रदेश में दुकानें बंद रही और कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने जगह जगह रैलियां निकाल कर विरोध प्रदर्शन किया. कांग्रेस ने राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के विभिन्न जिलों में रैलियां निकाल कर विरोध प्रदर्शन किया. 
  4. मध्य प्रदेश : मध्यप्रदेश के कई भागों में सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ. बंद के समर्थन में प्रदर्शनकारी उज्जैन और प्रदेश के अन्य शहरों में सुबह लोगों से दुकानें और पेट्रोल पम्प बंद कराते दिखाई दिये. भोपाल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पुत्र कार्तिकेय चौहान की बिट्टन मार्केट स्थित फूलों की दुकान के सामने विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के पहले यह दुकान खुली थी. उज्जैन के चिमनगंज इलाके में कांग्रेस के झंडे लिये प्रदर्शनकारियों ने एक पेट्रोल पम्प को जबरदस्ती बंद करवाया.
  5. तेलंगाना : राज्य में मिला-जुला असर रहा जहां राजधानी सहित राज्य के अधिकतर हिस्सों में कारोबार सामान्य रहा. पुलिस ने बताया कि अब तक कोई अप्रिय घटना सामने नहीं आई है. सड़कों पर बसों को चलने से रोकने के लिये राज्य सड़क परिवहन निगम (आरटीसी) के कई डिपो पर प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने हिरासत में लिया.
  6. उत्तर प्रदेश :  उत्तर प्रदेश में मिला-जुला असर रहा. प्रदेश के विभिन्न जिलों से मिली खबरों के मुताबिक ‘भारत बंद‘ का मिला-जुला असर नजर आ रहा है. ज्यादातर बाजार और अन्य दुकानें सामान्य दिनों की तरह ही खुली हैं. इसके अलावा कार्यालय, स्कूल और कालेज भी खुले हैं. सड़कों पर यातायात भी सामान्य है. राज्य सरकार ने बंद के मद्देनजर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किये हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जबरन दुकानें बंद कराने वालों पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिये थे. विशेषकर पेट्रोल पम्पों पर किसी तरह की अप्रिय घटना रोकने के लिये सुरक्षा के प्रबंध किये गये थे.
  7. तमिलनाडु : पेट्रोलियम उत्पादों की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस के ‘भारत बंद’ आह्वान के कारण सोमवार को यहां सामान्य जनजीवन आंशिक रूप से प्रभावित हुआ. सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था सामान्य रही हालांकि अधिकतर व्यवसायिक प्रतिष्ठान खुले रहे. पुलिस सूत्रों ने बताया कि सरकारी बसें सामान्य रूप से चलती रहीं साथ ही शैक्षणिक संस्थान और दुकानें एवं व्यापारिक प्रतिष्ठानें खुली रहीं.
  8. महाराष्ट्र : राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा), राज ठाकरे की अगुवाई वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे), समाजवादी पार्टी, पीजेंट एंड वर्कर्स पार्टी और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने भी समर्थन दिया.    मुंबई में महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख अशोक चव्हाण के नेतृत्व में प्रदर्शन किया गया. अंधेरी रेलवे स्टेशन पर रेल रोको प्रदर्शन के लिए चव्हाण और अन्य एक लोकल ट्रेन में सवार होकर स्टेशन तक पहुंचे.    कांग्रेस नेता माणिकराव ठाकरे, नसीम खान और अन्य नेताओं ने चव्हाण के साथ प्रदर्शन किया.
  9. पश्चिम बंगाल : पश्चिम बंगाल सरकार के तमाम उपायों के बीच कोलकाता और उपनगरों में बंद का आंशिक असर जारी है. तृणमूल कांग्रेस ने रुपये के मूल्य में गिरावट समेत मुद्दे को तो समर्थन दिया है लेकिन वह बंद के खिलाफ है. तकरीबन सभी स्कूल और कॉलेज खुले हुए हैं और परीक्षाएं भी चल रही हैं.
  10. बिहार : पटना जिले के ग्रामीण इलाकों के अलावा, मुजफ्फरपुर, लखीसराय और नालंदा जिलों से यातायात बाधित किये जाने की खबरें मिली हैं. राजधानी में निजी स्कूल बंद रहे. जहानाबाद में जाम फंसने से एक बीमार की बच्ची की मौत हो गई.    कांग्रेस के इस बंद को प्रदेश में राजद, राकांपा, समाजवादी पार्टी, वाम मोर्चा और हम (एस) का समर्थन है.
  11. अरुणाचल प्रदेश : अरुणाचल प्रदेश में जनजीवन प्रभावित हुआ है. राज्य में सभी दुकानें, बैंक समेत कारोबारी प्रतिष्ठान और शिक्षण संस्थान बंद रहे तथा निजी गाड़ियां सड़कों से नदारद रहीं. ईटानगर के पुलिस अधीक्षक एम हर्षवर्धन ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने राज्य की राजधानी में कई स्थानों पर टायर जलाए और विभिन्न स्थानों पर सड़कों को अवरुद्ध किया.


(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement