NDTV Khabar

जिंदगी से हार चुके थे ऋतिक रोशन, पांच मौके जब उन्होंने खुद को संभाला और आगे बढ़े

182 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
जिंदगी से हार चुके थे ऋतिक रोशन, पांच मौके जब उन्होंने खुद को संभाला और आगे बढ़े

ऋतिक रोशन को डॉक्टर ने दी थी एक्टर नहीं बनने की सलाह.

खास बातें

  1. ऋतिक रोशन ने अपनी ब्रेन सर्जरी और सुजैन से अलगाव पर बात की
  2. मुश्किल हालातों में भी ऋतिक ने खुद को पॉजिटिव रखने की पूरी कोशिश की
  3. ऋतिक की आखिरी फिल्म यामी गौतम के साथ 'काबिल' थी
नई दिल्ली: अभिनेता ऋतिक रोशन ने अपनी जिंदगी में काफी कुछ झेला है. उनका मानना है कि उनकी जिंदगी ने उन्हें काफी कुछ सिखाया है. हाल ही में ऋतिक ने अपने ब्रांड एचआरएक्स के प्रमोशन के लिए एक वीडियो शूट किया है जिसे उन्होंने 'कीप गोइंग' शीर्षक दिया है. ऋतिक ने अपने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया है जिसमें वह 'अपनी बेहतरी के लिए लड़ाई' पर बात करते दिख रहे हैं. ऋतिक ने समाचार एजेंसी आईएएनएस को बताया, "अगर आप इसे ऋतिक रोशन से जोड़कर देखने की बजाए एक आम सफर के रूप में देखेंगे तो इससे आपको काफी कुछ सीखने को मिलेगा. जिंदगी में आने वाली परेशानियों से खुद को कमजोर न समझें. उन परेशानियों का भी एक मकसद होता है. वे आपको कुछ न कुछ सिखाती हैं."

ऋतिक की जिंदगी की पांच घटनाएं जिनसे उन्हें हिम्मत मिलीः

#1: ऋतिक ने आईएएनएस को बताया, "मैं 21 साल का था और संभवतः देश के सबसे अच्छे डॉक्टर मेरे सामने बैठे थे. वह मुझे बता रहे थे कि मेरे जेनेटिक्स में वे चीजें नहीं हैं जो मुझे वो सब करने के लिए ताकत दे जो एक हिंदी फिल्म के अभिनेता करना पड़ता है. चीजें जैसी- डांस, कूद-फांद, गिरना, ब्रेक डांस, फाइट... आदि." ऋतिक ने आगे कहा कि डॉक्टर उन्हें समझा रहे थे कि वह एक्टर बनने का ख्याल छोड़ दें. उन्होंने कहा, "तब मैंने सीखा को आपके खुद के पास जानकारी होनी चाहिए और आपको किसी एक व्यक्ति के पॉइंट ऑफ व्यू तक खुद को सीमित नहीं रखना चाहिए."

#2: ऋतिक के पिता राकेश रोशन पर साल 2000 में किसी ने गोली से हमला कर दिया था. इस बारे में बात करते हुए ऋतिक ने कहा, "उन्हें अस्पताल में खून से लथपथ देखना कमजोर करने वाला था. उस उस दृश्य ने मेरे एक्टर होने, डांस करने या कॉमेडी सीन करने... हर चीज के मायने खत्म कर दिए थे." ऋतिक ने आगे कहा, "जो भी स्थिति सामने आए उसे सकारात्मकता के साथ स्वीकार करो, इससे आपको सीखने और आगे बढ़ने में मदद मिलती है."

#3:  जब ऋतिक आशुतोष गोवारीकर की 'जोधा अकबर' के क्लाइमेक्स की शूटिंग कर रहे थे उनके घुटनों ने जवाब दे दिया. ऋतिक को अर्थराइटिस है. उन्होंने आईएएनएस को बताया कि कैसे वह उस स्थिति से बाहर निकले, "यह मेरा विश्वास है कि जब आप लगे रहते हैं तो कोई न कोई रास्ता जरूर निकल आता है. कभी भी यह विश्वास करना न छोड़ें कि कोई न कोई रास्ता जरूर है और खोजने पर वह जरूर मिलेगा."

#4: ऋतिक ने बताया कि उनकी ब्रेन सर्जरी की वजह से उनके कई प्रोजेक्ट प्रभावित हुए. उन्होंने कहा, "इसका मेरे फ्यूचर पर काफी बुरा असर पड़ सकता था- जैसे मैं क्या कर सकता था... क्या नहीं कर सकता था... लेकिन तब तक मैं अपना मन बना चुका था. मुझे लगा कि कुछ भी मेरे करियर और मेरी संभावनाओं को रोक नहीं सकता है."

#5: ऋतिक ने पत्नी सुजैन खान से अलगाव के बारे में भी बात की. उन्होंने आईएएनएस से कहा, "मैं अपने पूरे सफर को सकारात्मक रूप में देखता हूं. यहां तक कि मेरा अलगाव जो भावनात्मक रूप से सबसे मुश्किल था, मैं वह भी झेल गया."

ऋतिक रोशन ने आईएएनएस से आगे कहा, "अब जब मैं पीछे मुड़कर देखता हूं और बिंदुओं को जोड़ता हूं, तो लगता है कि हर बार जब मुझे लगा था कि मेरी जिंदगी खत्म हो रही है, मैं और कुछ नहीं कर सकता, तब असल में मुझे आगे बढ़ने का नया रास्ता मिल रहा था." ऋतिक की आखिरी फिल्म यामी गौतम के साथ 'काबिल' थी, वह जल्द ही 'कृष 4' की शूटिंग शुरू करने वाले हैं.

(इनपुट आईएएनएस से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement