महेश भट्ट ने बताया, क्यों हॉरर फिल्मों में बड़े कलाकारों को शामिल करने की जरूरत नहीं होती?

महेश भट्ट ने बताया, क्यों हॉरर फिल्मों में बड़े कलाकारों को शामिल करने की जरूरत नहीं होती?

महेश भट्ट (फाइल फोटो)

मुंबई:

फिल्मकार महेश भट्ट का मानना है कि हॉरर फिल्में दर्शकों का ध्यान खींचने में सक्षम हैं और यही कारण है कि इस प्रकार की फिल्मों को लोकप्रिय कलाकारों की जरूरत नहीं होती. महेश ने अपने बयान में यह बात कही.

'राज रीबूट' के प्रचार में व्यस्त हैं महेश
फिल्मकार ने कहा, 'हॉरर फिल्में बनाने वाले लोगों को एहसास है कि इस प्रकार की शैली वाली फिल्मों में दर्शकों का ध्यान अपनी ओर खींचने की पर्याप्त क्षमता है. यही कारण है कि इसमें बड़े कलाकारों को शामिल करने की जरूरत नहीं होती.' महेश वर्तमान में अपनी आगामी फिल्म 'राज रीबूट' के प्रचार में व्यस्त हैं, जिसका निर्देशन महेश भट्ट ने किया है.

16 सितंबर को रिलीज होगी 'राज रीबूट'
इस फिल्म में इमरान हाशमी, कृति खरबंदा और गौरव अरोड़ा मुख्य भूमिका में हैं. यह 16 सितंबर को रिलीज होगी. अपनी 67 साल की उम्र में भी महेश भट्ट युवा पीढ़ी के साथ ताल-मेल बैठा पाने में सक्षम हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

नई पीढ़ी की मांगों को पूरा करने में सक्षम होने के बारे में पूछे जाने पर महेश ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि इसमें आपको कमजोर होना चाहिए. आपको समय के साथ तालमेल बैठाकर रखना होगा. अगर आप ऐसा कर पाने में सक्षम हैं, तो आपके उनके साथ जुड़े रहने के अच्छे अवसर हैं.'

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)