पिता शेखर सुमन जैसा बनना चाहते हैं अध्ययन

पिता शेखर सुमन जैसा बनना चाहते हैं अध्ययन

खास बातें

  • अध्ययन ने 2008 में फिल्म 'हाल-ए-दिल' से अपने करियर की शुरुआत की थी और उसके बाद 'राज-द मिस्ट्री कंटीन्यूज' और 'जश्न' जैसी फिल्मों में काम किया था।
मुंबई:

अभिनेता अध्ययन सुमन अपने पिता शेखर सुमन की तरह बहुमुखी प्रतिभा वाले कलाकार बनना चाहते हैं। अध्ययन ने कहा, मेरा अगला एजेंडा यह है कि मैं अब गायन की तरफ ध्यान दूंगा। जहां तक बात फिल्म निर्माण की है मैं अपने पिता की फिल्म 'हार्टलैस' से अपनी निर्माण कंपनी पर ध्यान दे रहा हूं। मैं भविष्य में निर्देशन भी करंगा।

अध्ययन का कहना है कि वह अभी महज 24 साल के हैं और उनके पास काफी वक्त है। अध्ययन ने 2008 में फिल्म 'हाल-ए-दिल' से अपने करियर की शुरुआत की थी और उसके बाद 'राज-द मिस्ट्री कंटीन्यूज' और 'जश्न' जैसी फिल्मों में काम किया था। अध्ययन के पास इस समय छह फिल्मों का प्रस्ताव है।

अध्ययन ने कहा, भाग्यवश इस साल मेरे पास छह फिल्में हैं। मैं 'देहरादून डायरी', 'हार्टलैस', 'हिम्मतवाला', और इसके अलावा दक्षिण की फिल्म के हिन्दी संस्करण में काम कर रहा हूं। इसके अलावा मेरे पास दो अन्य फिल्में हैं।

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com