NDTV Khabar

करण जौहर के बाद अब गुरमीत चौधरी और देबीना भी बने दो बच्चियों के माता-पिता

200 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
करण जौहर के बाद अब गुरमीत चौधरी और देबीना भी बने दो बच्चियों के माता-पिता

खास बातें

  1. गुरमीत चौधरी ने अपने शहर की दो लड़कियों को लिया गोद
  2. अभी कुछ समय बिहार में ही रहेंगी गुरमीत-देबीना की बेटियां
  3. गुरमीत ने कहा, अपने खुद के बच्‍चे भी करने की तमन्‍ना है
नई दिल्‍ली: एक दिन पहले ही फिल्‍ममेकर करण जौहर ने यह घोषणा की कि वह सरोगेसी के माध्‍यम से दो बच्‍चों के पिता बने हैं और अब दूसरे ही दिन यह खबर सामने आई है कि टीवी से फिल्‍मों की तरफ रुख कर चुके गुरमीत चौधरी और उनकी पत्‍नी देबीना बनर्जी के घर भी कुछ ऐसी खुशियां आई हैं. दरअसल मुंबई मिरर की खबर के अनुसार गुरमीत और देबीना होली के दो दिन बाद अपने गांव जारमपुर जाएंगे और दो बच्यिों को गोद लेंगे. यह दो बच्चियां हैं जिनमें एक 6 साल की और एक 9 साल की है जिनका नाम पूजा और लता है. हाल ही में फिल्ममेकर करण जौहर भी सरोगेसी के जरिए दो बच्चों के पिता बने हैं. फिल्म जगत से करण को बधाइयां मिल रही है.

मुंबई मिरर की खबर के मुताबिक गुरमीत और देबीना ने अपने गृहनगर जारमपुर (बिहार) में दो लड़कियों को गोद लिया है. यह दोनों तीन साल पहले 2014 में इन बच्चियों से मिले थे जब वह जारमपुर में एक शादी में गए थे. लड़कियों के मुंबई आकर सितारों के साथ रहने के सवाल पर गुरमीत ने कहा, 'नहीं, ऐसा करना मुश्किल होगा. लड़कियों के लिए यह कल्चरल लेवल पर बड़ा बदलाव होगा. फिलहाल तो मैं इस मामले मैं अपने दोस्तों और काउंसलर्स से भी मदद ले रहे हैं.'

गुरमीत और देबीना ने तय किया है कि अभी तो वो पटना में ही लड़कियों को स्कूल भेजेंगे. यह जारमपुर के मुकाबले बड़ा शहर है. यहां ये लड़कियां एक साल पढ़ाई करेंगी. मुंबई मिरर के अनुसार गुरमीत ने कहा, 'एक साल पूरा हो जाने के बाद लड़कियां हमारे साथ अंधेरी (मुंबई) वाले घर में शिफ्ट हो जाएंगी. मेरा भाई और उनका परिवार पटना में रहता है. ऐसे में वो लोग लड़कियों की देखभाल करते रहेंगे. देबीना और मैं भी साल में दो से तीन बार पटना आते-जाते रहेंगे.'
 
 

Wish you a beautiful day #beautifulday #family #happysunday #holidayfun #offday #brunch #sundaybrunch

A post shared by Debina Bonnerjee (@debinabon) on


गुरमीत ने बताया, 'लड़कियों की आपबीती मेरी मां से सुनने के बाद मैंने देबीना से इस बारे में बात की. इसके बाद हमने बच्चों को घर मुहैया करवाने का मन बनाया ताकि उन्हें बेहतर एजुकेशन और मेरा नाम मिल सके.' गुरमीत ने कहा, 'सारा पेपरवर्क हो चुका है. हम होली के बाद फाइनल साइन करने के लिए जारमपुर जा रहे हैं. यह दो दिन की प्रक्रिया है. मेरे माता-पिता और सभी लोग हमसे पूछा करते थे कि हम लोग बेबी कब प्लान कर रहे हैं. लीजिए अब मैं दो लड़कियां अपने घर लेकर आ रहा हूं. इससे ज्यादा खुशी की बात क्या हो सकती है.'

बता दें कि देबीना और गुरमीत की शादी साल 2011 में शादी की थी. गुरमीत ने मुंबई मिरर को बताया कि ऐसा नहीं है कि बच्‍चे अडॉप्‍ट करने के बाद वह अपने बच्‍चे पैदा नहीं करेंगे. गुरमीत ने कहा कि अक्‍सर जब खुद के बच्‍चे पैदा नहीं होते तो हम किसी बच्‍चे को गोद लेते हैं लेकिन यह सच नहीं है. मुझे और देबीना दोनों को बच्‍चे पसंद हैं और हम भविष्‍य में अपने बच्‍चों के बारे में भी सोच रहे हैं. '


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement