NDTV Khabar

'बहन होगी तेरी' फिल्‍म रिव्‍यू: मजेदार विषय के साथ भी कमजोर कॉमेडी फिल्‍म है 'बहन होगी तेरी'

गट्टू (राजकुमार राव) और बिन्नी (श्रुति हसन) लखनऊ के एक मोहल्ले में बड़े हुए हैं और इन दोनों के घर आमने सामने हैं. गट्टू दिल ही दिल बचपन से बिन्नी को चाहता है पर अपने इश्क का इजहार करने से डरता हैं.

178 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
'बहन होगी तेरी' फिल्‍म रिव्‍यू: मजेदार विषय के साथ भी कमजोर कॉमेडी फिल्‍म है 'बहन होगी तेरी'

फिल्‍म 'बहन होगी तेरी' का एक सीन.

खास बातें

  1. 'बहन होगी तेरी' डायरेक्‍टर अजय के. पन्‍नालाल की पहली फिल्‍म है
  2. कॉमेडी फिल्‍म होते हुए भी कई बार पंच नहीं हंसा पाते दर्शकों को
  3. इस फिल्‍म को हमारी तरफ से मिलते हैं 2.5 स्टार्स.
नई दिल्‍ली: इस शुक्रवार रिलीज हुई राजकुमार राव और श्रुति हसन की फिल्‍म 'बहन होगी तेरी' एक कॉमेडी फिल्‍म है. निर्देशक अजय के. पन्‍नालाल की इस फिल्‍म में राजकुमार और श्रुति के अलावा दर्शन जरिवाला, गुलशन ग्रोवर और रणजीत भी नजर आएंगे. इसे इत्‍तेफाक ही कहेंगे कि शुक्रवार को रिलीज हुई दोनों फिल्‍मों के निर्देशक इन फिल्‍मों से निर्देशन की दुनिया में कदम रख रहे हैं. आज ही रिलीज हुई 'राबता' जहां प्रोड्यूसर रहे दिनेश विजान की पहली डायरेक्‍टेड फिल्‍म है तो वहीं 'बहन होगी तेरी' भी अजय के. पन्‍नालाल की पहली निर्देश‍ित फिल्‍म है.

फिल्‍म की कहानी की बात करें तो इसमें गट्टू (राजकुमार राव) और बिन्नी (श्रुति हसन) लखनऊ के एक मोहल्ले में बड़े हुए हैं और इन दोनों के घर आमने सामने हैं. गट्टू दिल ही दिल बचपन से बिन्नी को चाहता है पर अपने इश्क का इजहार करने से डरता हैं. दरअसल यहां जो भी लड़का किसी लड़की को 'उस' नजर से देखता है उसको जबरदस्ती उस लड़की से राखी बंधवाकर उसका भाई बना दिया जाता है. अब ऐसे में गट्टू की प्रेम कहानी कैसे परवान चढ़ेगी ये आप को फिल्‍म देखकर ही पता चलेगा.

टिप्पणियां
फिल्‍म की कमियों पर नजर डालें तो इसकी स्क्रिप्ट और स्क्रीन्प्ले थोड़ा ढीला है जिसकी वजह से कई जगह कॉमेडी के पंचे बेकार हो जाते हैं. इसकी एक वजह मुझे निर्देशन भी लगता है क्योंकि कई जगह कैमरा पंच के वक्‍त या तो लांग शॉट में होता या उसका फोकस कहीं और होता है, जिसकी वजह से कॉमेडी का तड़का कुछ हल्का पड़ जाता. इसके अलावा फिल्‍म कई जगह पर लम्बी लगती है. गट्टू के दोस्त के किरदार में हैरी टंगरी का अभिनय बहुत लाउड है और कई जगह बनावटी लगता है.

फिल्‍म की अच्‍छी बातों पर नजर डालें तो इसकी स्‍टोरी या कहें यह आइडिया मुझे काफी पसंद आया. राजकुमार राव एक अच्छे ऐक्टर हैं और यहां भी उन्होंने अपना किरदार पूरी ईमानदारी से निभाया है. वहीं श्रुति हसन ने भी अपने किरदार को बारीकी से पकड़ा है और अपने अभिनय के जरिए वो छाप छोड़ती हैं. फिल्‍म में एक गाना है 'जय मां', जो मजेदार है और ये एक जगराता रैप है. इस गाने के बोल आपको हंसने पर मजबूर करेंगे. फिल्‍म की कहानी के कुछ पहलू लेखक ने बड़ी खूबसूरती से पकड़े हैं और उन्हें स्क्रिप्ट में उतारा है, मसलन छोटे शहर के पड़ोसियों के रिश्ते, जो थोड़े खट्टे भी होते हैं और मीठे भी. फिल्‍म का संगीत ठीक है और ये फिल्‍म कई जगह आपको हंसाएगी. 'बहन होगी तेरी' को हमारी तरफ से मिलते हैं 2.5 स्‍टार.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement