Budget
Hindi news home page

क्रिकेट वर्ल्ड कप और आईपीएल से बेखौफ हुआ बॉलीवुड, नई फिल्में रिलीज को तैयार

ईमेल करें
टिप्पणियां
क्रिकेट वर्ल्ड कप और आईपीएल से बेखौफ हुआ बॉलीवुड, नई फिल्में रिलीज को तैयार

रनबीर कपूर की फाइल तस्वीर

मुंबई: अब बॉलीवुड करीब करीब निडर हो चुका है और देश के पसंदीदा खेल क्रिकेट को चुनौती देने को तैयार है। इस साल क्रिकेट का वर्ल्डकप हो या उसके बाद देश में होने वाला आईपीएल। इनके दौरान बॉलीवुड निर्माता निडर होकर अपनी बड़ी-बड़ी फिल्में रिलीज़ कर रहे हैं।

इस साल क्रिकेट वर्ल्ड कप 14 फरवरी से शुरू हो रहा है जो 29 मार्च तक चलेगा। इस बीच सबसे पहले रणबीर कपूर की फ़िल्म 'रॉय' 13 फरवरी यानि वर्ल्डकप से एक दिन पहले सिनेमाघरों में उतरेगी और 20 फरवरी को वरुण धवन की फ़िल्म 'बदलापुर' रिलीज़ होगी जब वर्ल्डकप का खुमार आसमान पर होगा।

बतौर निर्माता अनुष्का शर्मा की पहली फ़िल्म 'एनएच-10" 6 मार्च को देशभर में रिलीज़ की जाएगी। मतलब यह कि अनुष्का जैसी नई निर्माता भी वर्ल्डकप के दौरान अपनी फ़िल्म को रिलीज़ करने से नहीं डर रही हैं।

वर्ल्डकप के बाद भारत में आरंभ होगा आईपीएल और इस बीच भी कई बड़ी फिल्में रिलीज़ की जा रही हैं। आईपीएल-8 अप्रैल से शुरू होकर 24 मई तक चलेगा। और इसे चुनौती देने सबसे पहले बॉक्स ऑफिस पर आएगा "डिटेक्टिव ब्योमकेश बख्शी"। ये फ़िल्म निर्देशक दिबाकर बनर्जी की है और सुशांत सिंह राजपूत मुख्य भूमिका में हैं।

जब आईपीएल अपने शबाब पर होगा तब अमिताभ बच्चन और दीपिका पादुकोण की फ़िल्म "पीकू" सिनेमा घरों में उतरेगी। और 15 मई को रणबीर कपूर स्टारर अनुराग कश्यप निर्देशित फ़िल्म "बॉम्बे वेलवेट" सिनेमाघरों में प्रदर्शित होगी।

एक वो दौर था विर्ल्डकप या आईपीएल का दौरान फ़िल्म निर्माता अपनी फ़िल्में रिलीज़ करने की हिम्मत नहीं जुटा पाते थे। इस दौरान केवल छोटे बजट की छोटी फ़िल्में ही रिलीज़ होती थी। मगर 2008 में जब आईपीएल शुरू हुआ था निर्माता महेश भट्ट ने अपनी फ़िल्म 'जन्नत' रिलीज़ करने की हिम्मत जुटाई और फल मिला कामयाबी का।

उससे पहले 1999 के वर्ल्डकप के दौरान निर्माता वाशु भगनानी ने हिम्मत दिखाकर फ़िल्म "बीवी न.1" रिलीज़ किया था और वो भी बहुत बड़ी हिट हुई थी, फिर भी बड़े निर्माता क्रिकेट के सामने आने से टकराते थे। मगर पिछले 2 से 3 आईपीएल सीज़न में जिसने हिम्मत दिखाई उस पर क्रिकेट का कोई असर नहीं पड़ा।

और बॉलीवुड समझ गया कि अगर फ़िल्म कमज़ोर होगी तो कभी भी सफल नहीं होगी और फ़िल्म में अपना दम होगा तो क्रिकेट उसका कोई नुक्सान नहीं कर सकता। लिहाज़ा अब निर्माताओं ने अपने दिल और दिमाग से क्रिकेट का डर निकाल दिया है।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement