NDTV Khabar

कर्नाटक शैली के प्रख्यात संगीतज्ञ 'मेंडोलिन' श्रीनिवास का 45 वर्ष की उम्र में निधन

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्नाटक शैली के प्रख्यात संगीतज्ञ 'मेंडोलिन' श्रीनिवास का 45 वर्ष की उम्र में निधन
चेन्नई:

मेंडोलिन वादन को नई ऊंचाइयों पर ले जाने वाले उप्पलपु श्रीनिवास का शुक्रवार को चेन्नई के एक निजी अस्पताल में लंबी बीमारी के बाद देहांत हो गया। 'मेंडोलिन' श्रीनिवास के नाम से प्रसिद्ध श्रीनिवास (45) दक्षिण भारतीय कर्नाटक शैली के एक प्रसिद्ध मेंडोलिन वादक थे। उनका लंबे समय से लीवर से संबंधित बीमारी का इलाज चल रहा था।

अपोलो अस्पताल के प्रवक्ता ने बताया, उन्हें सुबह 10 बजे मृत घोषित कर दिया गया। श्रीनिवास इलैक्ट्रॉनिक मैंडोलिन बजाया करते थे। उन्होंने कई वैश्विक कलाकारों के साथ संगत की, जिसमें जॉन मैकलाफलिन और माइकल नीमैन भी शामिल हैं। श्रीनिवास को 1998 में पद्मश्री और 2010 में संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से नवाजा गया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीनिवास के निधन पर शोक व्यक्त किया है और संगीत क्षेत्र में सारंगी वादक के दीर्घकालिक योगदान को याद किया। उनके आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर कहा गया, प्रधानमंत्री जाने माने संगीतकार श्री उप्पालपू श्रीनिवास के निधन पर शोक व्यक्त करते हैं। एक अन्य ट्वीट में कहा गया, प्रधानमंत्री ने संगीत क्षेत्र में सारंगी वादक के समर्पण और दीर्घकालिक योगदान को याद किया और कहा कि वह हमेशा याद रखे जाएंगे।

श्रीनिवास सत्य साईं बाबा के अनुयायी थे और कई अवसरों पर उन्होंने उनके सामने प्रस्तुति भी दी। कई दिग्गज कलाकारों ने उनकी मौत पर शोक व्यक्त किया है। संगीतकार एआर रहमान ने कहा, यह सुनकर कि कर्नाटक संगीत के चमकते सितारे मेंडोलिन श्रीनिवास जी अब नहीं रहे, मैं भावनात्मक रूप से हिल गया हूं। अल्लाह उन्हें अगली दुनिया में खुशी बख्शे।

टिप्पणियां

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement