यह ख़बर 02 अक्टूबर, 2014 को प्रकाशित हुई थी

फिल्म रिव्यू : एक बार देखी जा सकती है 'बैंग बैंग'

फिल्म रिव्यू : एक बार देखी जा सकती है 'बैंग बैंग'

मुंबई:

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि ऋतिक रोशन और कैटरीना कैफ स्टारर फिल्म 'बैंग बैंग' प्रेरित है हॉलीवुड फिल्म 'डे एंड नाइट' से, लेकिन चूंकि हमने 'डे एंड नाइट' नहीं देखी है, इसलिए दोनों फिल्मो की तुलना नहीं कर सकते... वैसे, 'बैंग बैंग' की कहानी के बारे में भी ज़्यादा बात नहीं कर सकते, क्योंकि उससे कहानी का सस्पेंस ही खत्म हो जाएगा...

हम आपको 'बैंग बैंग' के बारे में सिर्फ इतना बता सकते हैं कि लंदन से कोहिनूर हीरे की चोरी के आरोपी हैं राजवीर, यानि ऋतिक रोशन, और इसीलिए उनके पीछे पड़ी हैं, लंदन से लेकर भारत तक की खुफिया एजेंसिंयां... ऋतिक रोशन इन सबसे भाग रहे हैं और इत्तफाक से मिली कैटरीना भी उनके साथ भाग रही हैं...

फिल्म में ज़बरदस्त एक्शन है, सुन्दर दृश्य हैं और खूबसूरत फोटोग्राफी है... फिल्म में कैटरीना और ऋतिक के किरदार कहीं-कहीं हंसाते भी हैं... 'बैंग बैंग' में कई ट्विस्ट्स एंड टर्न हैं, और फिल्म अपने सस्पेंस को भी बरकरार रखती है... यानि कह सकते हैं कि 'बैंग बैंग' को पूरी तरह एक बॉलीवुड मसाला फिल्म बनाने की कोशिश की गई है...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

लेकिन फिल्म के निर्देशक हैं सिद्धार्थ आनंद, जिन्होंने पहले भी कोई 'ग्रेट फिल्म' नहीं दी है, इसलिए हम उनसे ज़्यादा उम्मीद लेकर गए भी नहीं थे... हम गए थे, यह सोचकर कि ऋतिक और कैटरीना की फिल्म में अच्छी कहानी भी होगी... मगर अफ़सोस, हम निराश हुए... 'बैंग बैंग' की कहानी कमज़ोर है, और संगीत भी बेहद साधारण है... यानि, मैं यह कह सकता हूं कि फिल्म का सबसे मज़बूत हिस्सा, जो कहानी का होता है, कमज़ोर है, और जो कुछ है भी, उसमे कुछ नयापन नहीं...

अगर आप ऋतिक रोशन और कैटरीना कैफ के फैन हैं, या आपको एक्शन देखना अच्छा लगता है, या सुन्दर दृश्य देखना पसंद है, तो इस फिल्म को एक बार देखा जा सकता है... वैसे, अगर नहीं देखेंगे, तो कुछ भी मिस नहीं करेंगे... 'बैंग बैंग' जितना डिज़र्व करती है, मैं उससे कुछ ज़्यादा रेटिंग दे रहा हूं, इसके ज़बरदस्त एक्शन और सुन्दर दृश्यों के लिए... मेरी तरफ से इस फिल्म की रेटिंग है - 3 स्टार...