यह ख़बर 26 जुलाई, 2013 को प्रकाशित हुई थी

हर नजरिये से कमज़ोर है 'इसक'

खास बातें

  • लेकिन इसकी जो बातें पसंद आईं, वे हैं सचिन−जिगर का संगीत, और रवि किशन का अभिनय... इन दोनों पहलुओं के अलावा फिल्म मनोरंजन कतई नहीं कर पाई...
मुंबई:

इस हफ्ते रिलीज़ हुई है निर्देशक मनीष तिवारी की 'इसक', जो प्रेरित है विलियम शेक्सपियर के नाटक 'रोमियो एंड जूलियट' से... फिल्म की कहानी को फिट किया गया है बनारस में और मुख्य किरदार निभाए हैं - प्रतीक बब्बर, अमायरा दस्तूर, रवि किशन, राजेश्वरी, प्रशांत नारायण और मकरंद देशपांडे ने...

'इसक' की कहानी में दो परिवारों के बीच बालू के ठेकों को लेकर झगड़ा होता है और इन दोनों परिवारों के बच्चों राहुल मिश्रा यानि प्रतीक और दूसरे परिवार की बेटी, यानि अमायरा के बीच इश्क हो जाता है, और फिर शुरू होता है मारपीट का सिलसिला...

पहली बात, फिल्म की कहानी और स्क्रीनप्ले में अगर दम न हो तो कोई भी फिल्म लड़खड़ाकर गिर सकती है, फिर चाहे आप उस पर कितने भी पैसे खर्च कर दें... यही इस फिल्म के साथ होता दिखा है... दूसरी बात, इस फिल्म में आपको कुछ ऐसे शॉट्स दिखाई देंगे, जो अपने-आप में अच्छे तो हैं, लेकिन सिनेमा की भाषा के हिसाब से उस शॉट को कहानी के उस मोड़ पर लगाना चाहिए या नहीं, यह फैसला मनीष तिवारी नहीं कर पाए...

----------------------------------------------------------------------------------------
वीडियो रिपोर्ट : हर नजरिये से कमज़ोर है 'इसक'
----------------------------------------------------------------------------------------

कुछ सीन्स ऐसे लगते हैं, जो यह सोचकर शूट किए गए कि वे अच्छे लगेंगे, लेकिन फिल्मकार यह भूल गए कि ऐसे सीन्स कहानी को सिर्फ लंबा कर सकते हैं, मज़ेदार नहीं... वैसे, ये सीन्स ऐसे भी नहीं थे, जो हमने पहले कभी देखे न हों...
Newsbeep

प्रतीक बब्बर को अपनी एक्टिंग पर काम करने की सख्त ज़रूरत है, और अमायरा को भी... बनारस में माओवादी तो हमने कभी नहीं सुने, लेकिन मनीष तिवारी के इस फिल्मी बनारस में माओवादी हमले होते हैं... फिल्म शुरू होते ही 30 मिनट के बाद मुझे लगने लगा कि इंटरवल क्यों नहीं हो रहा है...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


खैर, 'इसक' एक कमज़ोर फिल्म है, लेकिन इसकी जो बातें मुझे पसंद आईं, वे हैं सचिन−जिगर का संगीत, और रवि किशन का अभिनय... इन दोनों पहलुओं के अलावा फिल्म मेरा मनोरंजन कतई नहीं कर पाई... मेरी तरफ से फिल्म की रेटिंग है 1.5 स्टार...