यह ख़बर 20 जनवरी, 2014 को प्रकाशित हुई थी

मैं शादी के विरुद्ध नहीं : अभय देओल

मैं शादी के विरुद्ध नहीं : अभय देओल

मुंबई:

फिल्म अभिनेता अभय देओल ने कहा है कि वह आदिकाल से भारतीय समाज में चली आ रही पवित्र विवाह व्यवस्था के खिलाफ नहीं हैं।

अभय ने बताया, 'मैं विवाह विरोधी नहीं हूं। मैं शादी को एक सांस्कृतिक घटना मानता हूं, न कि एक प्राकृतिक घटना। मैं नहीं मानता कि जितना प्रतिबद्ध मैं पहले से हूं उससे अधिक प्रतिबद्ध कागज के एक टुकड़े पर हस्ताक्षर करके हो जाऊंगा। चाहे मैं शादीशुदा हूं या नहीं, यदि मैं आपके साथ हूं तो मैं प्रतिबद्ध हूं और वह बदलेगा नहीं।'

उन्होंने कहा, 'तलाक लेकर शादी के रिश्ते को खत्म करना बहुत आसान है। विवाह का केवल एक मतलब है, वह है संपत्ति में भागीदार होना, तुम्हारे बच्चे तुम्हारा नाम विरासत में प्राप्त करें और कुल मिलाकर शादी करना कानूनी कारण है, न कि प्यार का।

अभय, जिसके प्रेम संबंध पूर्व मिस ग्रेट ब्रिटेन प्रीति देसाई से हैं, ने कहा कि प्यार दोनों तरह से फलता-फूलता है, चाहे कोई शादी करे या न करे।

उन्होंने बताया, 'मैं कह सकता हूं, हमें शादी करनी चाहिए क्योंकि मैं कठोर नहीं हूं। मैं पल-पल जीता हूं। ये मेरे विचार हैं और जो कुछ मैं कह रहा हूं, इससे किसी को भी प्रभावित नहीं होना चाहिए।'

अभय ने कहा, 'जो एक बात हम सब में सामान्य रूप से है, वह है मानवता।' उन्होंने बताया कि वह समाज द्वारा परिभाषित नैतिकता पर यकीन नहीं करते, बल्कि उनके अपने सिद्धांत हैं, जिन्हें उन्होंने अपने लिए तय कर रखा है और उनका पालन करते हैं। प्रीति के भी मनोरंजन व्यवसाय में होने की वजह से अभय ने कहा कि एक ही व्यवसाय में प्रेमी-प्रेमिका के होने के गुण-दोष होते हैं।

उन्होंने बताया, 'मेरा विचार है कि एक ही व्यवसाय में दो जनों के रहने से कई परेशानियां भी होती हैं और अच्छी भागीदारी भी रहती है। जैसा कि सब जानते हैं कि अभिनेताओं के काम करने के घंटे अधिक होते हैं और उन्हें बहुत ज्यादा सफ़र करना पड़ता है, इसलिए आपसी तालमेल रहता है। लेकिन अधिक सफ़र और लंबा काम का समय युगल के संबंधों को नुकसान भी करता है।'

Newsbeep

अभय और प्रीति आने वाली फिल्म 'वन बाइ टू' में साथ-साथ दिखेंगे। अभय के अनुसार उनके संबंधों में एक दूसरे के लिए भरोसा और आदर है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा, 'हरेक के संबंधों में कुछ न कुछ होता रहता है। किसी भी अन्य दंपती की तरह हम भी लड़ते हैं और फिर एक हो जाते हैं। यही संबंधों की खूबसूरती है।'