NDTV Khabar

गुरमेहर कौर ने सिर्फ एक ट्वीट से साधा रणदीप हुड्डा और वीरेंद्र सहवाग पर एक साथ निशाना

1.5K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुरमेहर कौर ने सिर्फ एक ट्वीट से साधा रणदीप हुड्डा और वीरेंद्र सहवाग पर एक साथ निशाना

खास बातें

  1. गुरमेहर कौर ने किया ट्वीट, 'यह मैंने नहीं मेरे हाथ ने ट्वीट किया है'
  2. जेएनयू की छात्रा और सेना के शहीद कैप्टन मनदीप सिंह की बेटी हैं गुरमेहर
  3. रणदीप हुड्डा ने कहा, ' मुझे ट्वीट करते हुए सतर्क रहना चाहिए था'
नई दिल्‍ली: सोशल मीडिया में अपने वीडियो और बयान के चलते ट्रोल का शिकार हुई गुरमेहर कौर ने रणदीप हुड्डा और क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग को एक ही ट्वीट से निशाना  बनाया है. अभिनेता रणदीप हुड्डा ने बुधवार को कहा कि उन्हें दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा गुरमेहर कौर से संबंधित अपने ट्वीट पर सावधानी बरतनी चाहिए थी. लेडी श्रीराम कॉलेज की छात्रा और सेना के शहीद कैप्टन मनदीप सिंह की बेटी गुरमेहर ने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी)  के खिलाफ सोशल मीडिया पर अभियान छेड़ा था जो वायरल हो गया था. दरअसल गुरमेहर का एक पुराना वीडियो वायरल हो गया था जिसमें वह अपने पिता की मौत के लिए 'पाकिस्‍तान को नहीं बल्कि युद्ध' को जिम्‍मेदार बता रही थीं.

टिप्पणियां
उसके इस रुख पर वीरेंद्र सहवाग और रणदीप हुड्डा ने आलोचनात्मक रुख अपनाया था. रणदीप हुड्डा की सफाई पर गुरमेहर कौर ने चुटकी ली है. गुरमेहर कौर ने अपने टि्वटर अकाउंट पर ट्वीट किया है, ‘मैंने ट्वीट नहीं किया, मेरे हाथों ने ऐसा किया.' इस ट्वीट के साथ गुरमेहर कौर ने रणदीप हुड्डा की सफाई वाली खबर का लिंक भी पोस्ट किया है. दरअसल गुरमौहर के ट्वीट का यह स्‍टाइल वीरेंद्र सहवाग के ट्वीट के स्‍टाइल में था. वीरेंद्र सहवाग ने गुरमेहर को ट्रोल करते हुए लिखा था, 'मैंने रन नहीं बनाए, मेरे बल्‍ले ने बनाए हैं.' इसी ट्वीट को रणदीप हुड्डा ने रीट्वीट किया था.
 
जब रणदीप से उनके ट्वीट के बारे में पूछा गया तो उन्होंने न्‍यूज एजेंसी पीटीआई को कहा, 'यह लिंग केंद्रित नहीं था. मैं निजी विचारों के राजनीतिकरण के खिलाफ था और हूं.  देश में महिलाओं को लेकर माहौल को देखते हुए मुझे लगता है कि मुझे और अधिक सतर्क रहना चाहिए था.' उन्होंने कहा कि अभिनेता के तौर पर वह अकसर सोशल मीडिया में ट्रोलिंग का शिकार होते हैं लेकिन गुरमेहर के लिए यह दुखद रहा होगा और उसके साथ ऐसा नहीं होना चाहिए था. हुड्डा ने कहा कि जब उन्होंने ट्वीट किया था तो उन्हें गुरमेहर को किसी तरह की धमकी मिलने की बात नहीं पता थी.  उन्होंने कहा कि उनके ट्वीट को गलत अर्थों में देखा गया और लोग उनके पीछे पड़ गये.

(इनपुट पीटीआई से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement