NDTV Khabar

'बाहुबली' के डायरेक्‍टर राजामौली ने की सत्‍यराज के विवाद से पल्‍ला झाड़ने की कोशिश

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'बाहुबली' के डायरेक्‍टर राजामौली ने की सत्‍यराज के विवाद से पल्‍ला झाड़ने की कोशिश

खास बातें

  1. राजामौली बोले, फिल्‍म के विरोध से नहीं होगा सत्‍यराज को नुकसान
  2. 'बाहुबली' और फिल्‍म की टीम का इससे नहीं है कोई संबंध
  3. राजामौली ने ट्विटर पर पोस्‍ट किया अपना वीडियो
नई दिल्‍ली: दो सालों से जिस फिल्‍म का इंतजार लोग कर रहे हैं, कर्नाटक में उसी फिल्‍म के प्रदर्शन पर अब खतरे के बादल मंडरा रहे हैं. फिल्‍म में कटप्‍पा का किरदार निभा रहे सत्‍यराज के एक सालों पुराने बयान पर विवाद शुरू हो गया जिसके बाद फिल्‍म का कर्नाटक में विरोध हो रहा है. लेकिन अब इस फिल्‍म के डायरेक्‍टर राजामौली ने इस विवाद से खुद को और अपनी फिल्‍म को अलग कर लिया है. निर्देशक एसएस राजामौली ने कहा कि सत्यराज द्वारा की गयी टिप्पणी का फिल्म निर्माताओं से कोई लेना-देना नहीं है.

अपने आधिकारिक ट्विटर पेज पर निर्देशक ने एक वीडियो संदेश में कहा, 'निर्माता और मैं मामले पर स्पष्टीकरण देना चाहते हैं. टिप्पणी ने आपमें से कुछ लोगों को आहत किया होगा, लेकिन हमारा उससे कोई लेना-देना नहीं है. वह उनकी व्यक्तिगत टिप्पणी है और करीब नौ साल पहले की गयी थी.' सत्यराज द्वारा एक कन्नड़ सामाजिक कार्यकर्ता के खिलाफ की गयी कथित 'अपमानजनक' टिप्पणी का वीडियो वायरल होने के बाद विवाद शुरू हुआ है.

फिल्म में कट्टप्पा की भूमिका निभा रहे सत्यराज ने करीब नौ साल पहले तमिलनाडु और कर्नाटक के बीच कावेरी नदी विवाद के दौरान कथित रूप से कन्नड़-विरोधी टिप्पणी की थी. सत्यराज तमिलनाडु के रहने वाले हैं. राजामौली का कहना है कि सोशल मीडिया में आया वीडियो देखने से पहले तक टीम को अभिनेता की टिप्पणी की जानकारी नहीं थी.

डायरेक्‍टर राजामौली ने लोगों को यह बात समझाने की कोशिश की कि उनका वह बयान 9 साल पुराना है और इसके बाद सत्‍यराज की और भी फिल्‍में रिलीज हो चुकी हैं. राजामौली ने अपने संदेश में कहा, 'जैसे आपने बाहुबली भाग एक को स्वीकार किया और उसकी प्रशंसा की, मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि भाग दो को भी उतना ही प्रेम दें.  सत्यराज इस फिल्म के निर्माता और निर्देशक नहीं हैं. वह इससे जुड़े विभिन्न कलाकारों में से एक हैं.' उन्होंने कहा, 'यदि आप फिल्म की रिलीज टालते हैं तो, इससे उन्हें (सत्यराज) ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा. लेकिन उनके द्वारा की गयी टिप्पणियों का गुस्सा फिल्म पर उतारना सही नहीं है.'
 
राजामौली ने कहा कि सत्यराज को 'स्थिति से वाकिफ करा दिया गया है' लेकिन टीम इससे ज्यादा कुछ नहीं कर सकती. उन्होंने कहा, 'मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि हमें इस मामले से ना जोड़ें, क्योंकि हम इससे कहीं जुड़े हुए नहीं हैं. हम चाहते हैं कि आपका प्रेम बना रहे.' फिल्म के निर्माता शोबू यारलागड्डा ने आशा जतायी कि आपसी सहमति से मामले को सुलझा लिया जाएगा.

लेकिन लगता नहीं कि राजामौली की इस अपील का कन्‍नड़ संगठनों पर कोई ज्‍यादा फर्क पड़ा है. न्‍यूज एजेंसी भाषा के अनुसार राजामौली की अपील पर प्रतिक्रिया देते हुए, कन्नड़ संगठनों के प्रधान संगठन ‘कन्नड़ ओकूटा’ प्रमुख वटल नागराज ने कहा, 'हम फिल्म या राजामौली के खिलाफ नहीं हैं लेकिन जबतक सत्यराज बिनाशर्त माफी नहीं मांगते, हमारा प्रदर्शन जारी रहेगा.' उन्होंने कहा, '28 अप्रैल को बेंगलुरू बंद रहेगा और पूरे राज्य में प्रदर्शन होगा. हम सत्यराज की मांगी से इतर कुछ भी स्वीकार नहीं कर सकते.'

(‍इनपुट भाषा से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement