NDTV Khabar

शाहरुख और अनुष्का कर सकते हैं 'इंटरकोर्स' शब्द का इस्तेमाल, पर इस शर्त के साथ...

इस शब्द पर आपत्ति‍ जताने वाले पहलाज निहलानी ने इस शब्द के इस्तेमाल की इजाजत के लिए एक शर्त रख दी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शाहरुख और अनुष्का कर सकते हैं 'इंटरकोर्स' शब्द का इस्तेमाल, पर इस शर्त के साथ...

खास बातें

  1. निहलानी ने कहा कि वह इसके इसके समर्थन में एक लाख लोगों का वोट चाहते हैं.
  2. निहलानी बिना उचित प्रमाणन के टेलीविजन पर प्रोमो दिखाए जाने से नाराज थे.
  3. निहलानी ने कहा- मैं देखना चाहता हूं कि भारतीय परिवार क्या चाहते हैं.
सेंसर बोर्ड ने शाहरुख खान और अनुष्‍का शर्मा की फिल्‍म 'जब हैरी मेट सेजल' के एक प्रोमो में इस्तेमाल शब्‍द 'इंटरकोर्स' पर आपत्ति जताई थी. सेंसर बोर्ड के चीफ पहलाज निहलानी का कहना था कि 'हम इंटरनेट पर कंटेंट को रोक नहीं सकते. लेकिन हम अनसेंसर्ड कंटेंट को टीवी पर जाने से रोक सकते हैं और रोकेंगे भी.' लेकिन अब इस शब्द पर आपत्ति‍ जताने वाले पहलाज निहलानी ने इस शब्द के इस्तेमाल की इजाजत के लिए एक शर्त रख दी है.

निहलानी का कहना है कि फिल्म ‘जब हैरी मेट सेजल’ में इस्तेमाल शब्द ‘इंटरकोर्स’ को वह नहीं हटाएंगे, लेकिन इसके लिए मेकर्स लोगों का समर्थन जुटा लेते हैं तो. शुक्रवार को एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में पहलाज ने कहा- ''जनता में वोटिंग करवा लें, अगर समर्थन मिला तो मैं इस शब्द को प्रोमो और फिल्म से नहीं हटाऊंगा.' निहलानी ने कहा कि वह इसके इसके समर्थन में एक लाख लोगों का वोट चाहते हैं. उन्होंने कहा- '' मैं देखना चाहता हूं कि भारतीय परिवार यह चाहते हैं कि उनका 12 साल का बेटा ‘इंटरकोर्स’ का मतलब समझे.”

यहां देखि‍ए फिल्‍म 'जब हैरी मेट सेजल' का दूसरा प्रोमो-
 
 

Ab mujhe darne ki zaroorat nahi! Ye Indemnity Bond hai na! @anushkasharma #JHMSMiniTrail2

A post shared by Shah Rukh Khan (@iamsrk) on



टिप्पणियां
गौरतलब है कि पहलाज निहलानी शाहरुख खान अभिनीत फिल्म 'जब हैरी मेट सेजल' की झलक बिना उचित प्रमाणन और अनुमति के मीडिया खासकर टेलीविजन द्वारा दिखाए जाने से नाराज थे. इम्तियाज अली की फिल्म के एक छोटे से ट्रेलर में अभिनेत्री अनुष्का शर्मा, शाहरुख को 'इन्डेम्न्डि बॉन्ड' यह कहते हुए देती नजर आ रही हैं कि अगर वे अंतरंग संबंध बनाना बंद कर दें तो कोई भी कानूनी समस्या नहीं होगी.

आईएएनएस के अनुसार एक टीवी साझात्कार में वह कह चुके थे कि "हमारे काम में यह पूछते हुए हस्तक्षेप नहीं करें कि हमने यह या वह या ऐसा क्यों किया? हम अपना काम कर रहे हैं और आप अपना काम करें. हमने उन्हें प्रमाण-पत्र नहीं दिया है, हमने उन्हें सिर्फ डिजिटल रूप से दिखाए जाने का प्रमाण-पत्र दिया है."


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement