NDTV Khabar

कमजोर कहानी और बैनर का मोह डुबो रहा शाहरुख खान की लुटिया, लगातार गिर रहा कमाई का ग्राफ

शाहरुख खान को बड़े नाम और बैनर के मोह से थोड़ा बचना होगा क्योंकि यशराज बैनर की हर फिल्म उनके लिए 'दिलवाले दुल्हनियां ले जाएंगे' या 'वीर जारा' साबित नहीं हो सकती, इसलिए शाहरुख के लिए यह संभलने का समय है.  

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कमजोर कहानी और बैनर का मोह डुबो रहा शाहरुख खान की लुटिया, लगातार गिर रहा कमाई का ग्राफ

'जब हैरी मेट सेजल' ने शुरुआती दो दिनों में 28 करोड़ का कलेक्शन कर लिया है.

खास बातें

  1. लगातार गिर रहा फिल्मों की कमाई का ग्राफ, 2014 से शुरू हुआ सिलसिला
  2. 'हैप्पी न्यू ईयर' से 'जब हैरी..' तक कमाई के आंकड़ों ने किया निराश
  3. बड़े डायरेक्टरों का मोह और कमजोर कहानियां चुन रहे हैं शाहरुख
नई दिल्ली:

शाहरुख खान की फिल्म 'जब हैरी मेट सेजल' का नतीजा आ चुका है. शाहरुख की फिल्मों के बॉक्स ऑफिस पर कमाई के मामले में गर्त में जाने का सिलसिला बदस्तूर बरकरार है. उनकी फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर पहले दिन 15.25 करोड़ रु. की कमाई की है, दो दिनों में फिल्म का कलेक्शन 28 करोड़ पहुंचा है. अगर सूत्रों पर यकीन किया जाए तो फिल्म का बजट लगभग 65-70 करोड़ रु. बताया जाता है. फिल्म का प्रमोशन भी धमाकेदार हुआ. लेकिन कमजोर कहानी और डायरेक्शन ने फिल्म को पलीता लगा दिया है. फिल्म की पहले दिन की कमाई शाहरुख की पिछले चार साल की पांच फिल्मों में सबसे कम रही है.
 

jab harry met sejal'जब हैरी मेट सेजल' को दर्शकों से मिली-जुली प्रतिक्रिया मिली है.

लगातार गिर रही है कमाई
किंग खान के इस गिरते ग्राफ की शुरुआत 2014 की 'हैप्पी न्यू ईयर' के बाद होती है. फराह खान की इस फिल्म की कहानी बेहद कमजोर थी, लेकिन फराह के नाम, शाहरुख की स्टार पॉवर और मल्टीस्टारर होने की वजह से चल निकली और इसने पहले दिन की कमाई का रिकॉर्ड बनाया. इसने बॉक्स ऑपिस 44.97 करोड़ रु. उगाहे. लेकिन उसके बाद जो आंकड़ों में गिरावट आई उसने थमने का नाम ही नहीं लिया. 'दिलवाले' ने सिर्फ 21 करोड़ रु. कमाई जबकि 'फैन' ने 19.20 करोड़ रु. और 'रईस' सिर्फ 20.42 करोड़ रु. की ओपनिंग ही कर सकी. 'जब हैरी मेट सेजल' ने आंकड़ों के मामले में बहुत ही ज्यादा निराश किया है.

ये भी पढ़ें: जब हैरी मेट सेजल: पहले दिन के मुकाबले दूसरे दिन गिरा कलेक्शन, जानें दो दिनों की कमाई​


कहां रही गड़बड़
यहां सबसे बड़ी बात कहानी और डायरेक्टरों का चयन है. वे लगातार बड़े डायरेक्टरों के मोह पाश में फंस रहे हैं और कमजोर कहानियां चुन रहे हैं. उन्हें लगता रहा है कि उनकी स्टार पॉवर और बड़े डायरेक्टर का नाम उनकी नैया पार लगा देगा. नतीजा 'दिलवाले' में दिखा. 'चेन्नै एक्सप्रेस' फेम रोहित शेट्टी की इस बे-सिरपैर की फिल्म को चुनना उनके लिए घातक भूल साबित हुआ और 'बाजीराव मस्तानी' के साथ उनझना और भी खतरनाक रहा. 

इसके बाद उनकी 'फैन' आई, जिसकी कहानी भी हॉलीवुड की फिल्म से प्रेरित थी, लेकिन खराब ट्रीटमेंट की वजह से फिल्म गड्ढे में गई. 'रईस' आई तो वो भी किंग खान का जलवा नहीं पेश कर सकी जैसा उसे करना चाहिए था. 'जब हैरी मेट सेजल' के नतीजे तो हमारे सामने हैं. फिल्म ऊंची दुकान फीके पकवान की कहावत को चरितार्थ करती है. ऐसे में शाहरुख को बड़े नाम और बैनर के मोह से थोड़ा बचना होगा क्योंकि यशराज बैनर की हर फिल्म उनके लिए 'दिलवाले दुल्हनियां ले जाएंगे' या 'वीर जारा' साबित नहीं हो सकती, इसलिए शाहरुख के लिए यह संभलने का समय है.  

टिप्पणियां

ये भी पढ़ें: शाहरुख खान बनारस गए और फ्री में पान खाकर लौट आए! ट्विटर पर हुए TROLL...

एक नजर शाहरुख की पांच फिल्में और उनके पहले दिन की कमाई पर... 
हैप्पी न्यू ईयर (2014): 44.97 करोड़ रु.
दिलवाले (2015): 21 करोड़ रु.
फैन (2016): 19.20 करौड़ रु.
रईस (2017): 20.42 करोड़ रु.
जब हैरी मेट सेजल (2017): 15.25 करोड़ रु.
 ...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement