NDTV Khabar

ट्रिपल तलाक पर फूटा जावेद अख्तर का गुस्सा, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के कदम को बताया झूठा

1.3K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
ट्रिपल तलाक पर फूटा जावेद अख्तर का गुस्सा, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के कदम को बताया झूठा

जावेद अख्तर ट्रिपल तलाक का विरोध कर रहे हैं.

खास बातें

  1. जावेद अख्तर ने कहा कि ट्रिपल तलाक अपने आप में एक तरह का शोषण है
  2. AIMPLB के कदम को जावेद अख्तर ने झूठा बताया
  3. ट्रिपल तलाक के गलत उपयोग जैसा कुछ नहीं होता- अख्तर
नई दिल्ली: ट्रिपल तलाक पर देशभर में जारी बहस के बीच गीतकार जावेद अख्तर ने इसका कड़े शब्दों में विरोध किया है. जावेद ने ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के उस कदम को झूठा बताया है जिसमें उन्होंने ट्रिपल तलाक का गलत उपयोग करने वालों का बायकॉट करने की बात कही है. अख्तर ने कहा कि ट्रिपल तलाक अपने आप में एक शोषण है और इसे बैन किया जाना चाहिए. जावेद अख्तर यूनिफॉर्म सिविल कोड के समर्थक हैं और वह कई मौकों पर ट्रिपल तलाक का विरोध कर चुके हैं.

सोमवार सुबह जावेद अख्तर ने ट्वीट किया, "ट्रिपल तलाक का गलत उपयोग करने वालों का बहिष्कार करने का एआईएमपीएलबी का कदम एक झूठ है. ट्रिपल तलाक खुद में एक शोषण है जिसे बैन किया जाना चाहिए. वे उसे रोकने की कोशिश कर रहे हैं."
 
अपने अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा, "ट्रिपल तलाक के गलत उपयोग का मतलब क्या है? कल हम सुनेंगे छेड़छाड़ का गलत उपयोग, रेप का गलत उपयोग, पत्नि को मारने का गलत उपयोग."
 
ट्रिपल तलाक का मुद्दा रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान के बाद गरमा गया जिसमें उन्होंने कहा था कि मुस्लिम बहनें तकलीफ में हैं. उनके साथ न्याय होना चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि इस मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी का रुख एकदम साफ है.

दूसरी तरफ ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने दावा किया कि देश में शरिया कानूनों में किसी भी तरह की दखलंदाजी को सहन नहीं किया जाएगा. साथ ही हिन्दुस्तान के ज्यादातर मुसलमान मुस्लिम पर्सनल लॉ में किसी भी तरह का बदलाव नहीं चाहते. बोर्ड ने कहा कि मुस्लिम दहेज के बजाय संपत्ति में हिस्सा दें, तलाकशुदा महिला की मदद की जाए. बोर्ड तीन तलाक की पाबंदी के खिलाफ है.  


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement