NDTV Khabar

'बरेली की बर्फी' का हीरो कोई भी हो, पर आवाज के हीरो होंगे जावेद अख्तर...

जावेद अख्तर की ओर इशारा करते हुए अश्विनी ने कहा कि, 'हम कोई ऐसा शख्स चाहते थे जो पागल मिश्रा परिवार से पूरी तरह जुड़ा हो.'

4 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
'बरेली की बर्फी' का हीरो कोई भी हो, पर आवाज के हीरो होंगे जावेद अख्तर...

'बरेली की बर्फी' के एक सीन में कृति सेनन.

नई दिल्‍ली: पिछले साल आई नितेश तिवारी की फिल्‍म 'दंगल' में जिस तरह गीता फोगाट के चचेरे भाई ओमकार (अपारशक्ति खुराना) ने कहानी को वर्णित किया था, ठीक उसी तरह इस बार अपनी पत्नी अश्विनी अय्यर तिवारी के लिए 'बरेली की बर्फी' की कहानी लिखते समय भी नितेश ने ऐसा ही कुछ करने का निर्णय लिया. जंगली पिक्चर्स और बीआर चोपड़ा द्वारा निर्मित इस फिल्‍म को नितेश और श्रेयस जैन द्वारा लिखा गया है. हम एक ऐसा कथावाचक चाहते थे जो सिर्फ एक वॉयसओवर नहीं बल्कि फिल्म के माध्यम से भी एक प्रमुख किरदार हो. पांच बार राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता रह चुके गीतकार जावेद अख्तर की ओर इशारा करते हुए अश्विनी ने कहा कि, 'हम कोई ऐसा शख्स चाहते थे जो पागल मिश्रा परिवार से पूरी तरह जुड़ा हो.'

यह भी पढ़ें: आपने देखा पत्‍नी के साथ झूमते संजय दत्त का यह Dancing Video...??

इस फिल्‍म की निर्देशक अश्विनी ने कहा कि, 'किसी भी छोटे से शहर में, जहां घर काफी पास में होते हैं, वहां हर कोई परिवार का हिस्सा होता है और यह जानता है कि किसके घर में क्या हो रहा है, तो हमारी फिल्म में सूत्रधार एक पड़ोसी है जो मिश्रा की दिलचस्प यात्रा का साक्षी है.' अश्विनी ने बताया कि दिवंगत बीआर चोपड़ा के पोते कपिल उर्फ ​​जूनो चोपड़ा इस फिल्‍म के क्रिएटिव डायरेक्‍टर हैं और उन्होंने ही जावेद अख्‍तर को इसके लिए राजी किया.

यह भी पढ़ें: आपने देखा पत्‍नी के साथ झूमते संजय दत्त का यह Dancing Video...??

18 अगस्त को रिलीज होने वाली इस फिल्‍म में राजकुमार एक शर्मीले विक्रेता प्रीतम के रूप में नजर आएंगे जो बाद में एक प्ले बॉय रोमियो बन कर बिट्टी उर्फ कीर्ति सेनन का दिल तोड़ेंगे. ऐसा करने के लिए उनसे आयुष्मान यानी चिराग कहते हैं ताकि वह बिट्टी को रिझा सके. लेकिन यह योजना तब उल्टी पड़ जाती है जब न केवल बिट्टी, बल्कि उसका पूरा परिवार विद्रोही का मुरीद हो जाता है.

VIDEO:'राबता' फिल्‍म रिव्‍यू : दमदार एक्‍शन के साथ अधूरे प्‍यार की पुरानी कहानी



जावेद अख्तर की तारीफ करते हुए जूनो ने कहा, 'कथाकार उस व्यक्ति को होना चाहिए जो भाषा, स्वर-भाव और अभिव्यक्ति की अपनी समझ के साथ हास्य की पुड़िया के साथ कहानी को समृद्ध करता है और जावेद सर से बेहतर इसे कौन कर सकता है.'

...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement