NDTV Khabar

जुड़वां बच्चों के पिता बने करण जौहर चाहते हैं, 'अच्छे गाने सुनते हुए बड़े हों यश और रूही'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जुड़वां बच्चों के पिता बने करण जौहर चाहते हैं, 'अच्छे गाने सुनते हुए बड़े हों यश और रूही'

करण जौहर एक दिन पहले ही अपने बच्चों को अस्पताल से घर ले गए हैं.

नई दिल्ली: सरोगेसी के माध्यम से जुड़वां बच्चों के पिता बने फिल्मकार करण जौहर अपने बच्चों यश और रूही को घर ले आए हैं. हर पिता की तरह वह भी अपने बच्चों को अच्छी से अच्छी परवरिश देना चाहते हैं. करण का कहना है कि वह फिल्मी गाने सुनते हुए बड़े हुए हैं और चाहते हैं कि उनके बच्चे भी अच्छा संगीत सुनते हुए बड़े हों. यश और रूही का जन्म 7 फरवरी को मुंबई के सुर्या अस्पताल में हुआ था. प्री-मैच्योर डिलीवरी होने की वजह से दोनों बच्चे कमजोर थे और उन्हें अस्पताल के एनआईसीयू में भर्ती किया गया था. करीब दो महीने बाद दोनों बच्चों को अस्पताल से छुट्टी मिली है.

करण ने उस्ताद अमजद अली खान की किताब 'मास्टर ऑन मास्टर्स' के अनावरण के मौके पर कहा, "मैं हिंदी फिल्म संगीत सुनते हुए बड़ा हुआ हूं, मैंने लता मंगेशकर, किशोर कुमार, मोहम्मद रफी, आशा भोंसले सहित विभिन्न लोगों के संगीत को सुना. मैं चाहता हूं कि मेरे बच्चों के कमरे में हमेशा मेरा पसंदीदा संगीत बजता रहे, ताकि मेरे बच्चे उसे सुनें."
 
karan johar
अपने बच्चे को लेकर अस्पताल से निकलते करण जौहर.

44 वर्षीय फिल्मकार ने कहा कि उन्हें अपनी मां हीरू जौहर से प्रतिष्ठित पाश्र्व गायकों और दिवंगत रॉक गायक एल्विस प्रेस्ली को सुनने की आदत पड़ी है.  उन्होंने कहा, "मुझे ऐसा लगता है कि मेरी मां ने मेरे पिता से इसलिए शादी की क्योंकि उन्होंने मेरी मां को एल्विस प्रेस्ली के शो पर ले जाने का वादा किया था, जो उन्होंने हनीमून के दौरान पूरा किया."

करण ने अपने बच्चों के जन्म की बात एक महीने तक इंडस्ट्री और मीडिया से छिपाकर रखी थी. उन्होंने बेटे का नाम अपने पिता के नाम पर यश रखा है और बेटी का नाम अपनी मां हीरू के नाम के अक्षरों को उलटकर रूही रखा है. बच्चों के जन्म की घोषणा करते वक्त करण ने कहा था कि अब उनके दोनों बच्चे ही उनकी प्राथमिकता होंगे और अन्य सभी चीजें सेकंडरी हो जाएंगी.

(इनपुट आईएएनएस से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement