NDTV Khabar

अपनी रिपोर्ट कार्ड पर पापा के साइन खुद कर लेते थे 'शंकर-जय-किशन' के केतन सिंह

इस शो में केतन तीन किरदार निभाने वाले हैं. एक डॉक्टर है, दूसरा पुलिसवाला और तीसरा रियल एस्टेट एजेंट.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अपनी रिपोर्ट कार्ड पर पापा के साइन खुद कर लेते थे 'शंकर-जय-किशन' के केतन सिंह
नई दिल्‍ली:

सोनी सब पर जल्द ‘शंकर जय किशन’ शो शुरू होने जा रहा है, जिसमें उसके लीड ऐक्टर केतन सिंह तीन किरदार एक साथ निभाएंगे. इस शो की कहानी कुछ इस तरह है कि किशन की एक विधवा मां है और वह हार्ट पेशंट है. उसके तीन बच्चे थे, लेकिन दो हादसे का शिकार हो जाते हैं, और सिर्फ किशन अकेला बच जाता है. अपनी मां को दिल के दौर से बचाने के लिए किशन जय और शंकर को अपनी मां के सामने जिंदा रखने का फैसला करता है. एक डॉक्टर है, दूसरा पुलिसवाला और तीसरा रियल एस्टेट एजेंट. इस तरह शुरुआत होती है हंसी ठहाकों की. इस किरदार को निभा रहे केतन सिंह से बातचीत के अंशः

एक ही शो में तीन किरदार, यह कैसे?
एक शो में कई किरदार निभाना हर कलाकार के लिये सपने के सच होने जैसा है. लेकिन तीन रोल निभाना आसान काम भी नहीं है. इसके लिए फोकस और आवाज बदलने पर मेहनत करनी पड़ती है. हर कैरेक्टर को समझना प़ता है. डॉक्टर के लिए मुझे शुद्ध हिन्दी में बात करनी है, जबकि पुलिस इंस्पेक्टर का किरदार ‘टपोरी’ वाला है. उसकी आवाज भी भारी है.

यह भी पढ़ें: 'तारक मेहता...' की दया बेन को क्‍या प्रेग्‍नेंसी की वजह से छोड़ना पड़ेगा शो? जानिए सच


यह रोल कैसे मिला?
मैंने यूट्यूब पर ‘जनहित में जारी’ शो किया था, जो काफी वायरल हुआ. इस शो की कास्टिंग टीम को वो पसंद आया और उन्होंने मुझे ऑडिशन देने को कहा. मैं पहले थोड़ा सोच में पड़ गया था. बाद में मैंने हां कर दी. सबका सहयोग मिला और अब मैं ‘शंकर जय किशन यानी 3 इन 1’ कर रहा हूं.

यह भी पढ़ें: 'कपिल शर्मा ने किया रूठे हुए 'मशहूर गुलाटी' को बर्थडे विश, ट्विटर पर आया ऐसा रिएक्शन

किस तरह की चुनौतियां पेश आईं?
सबसे बड़ी चुनौती बॉडी लैंग्वेज की थी. मैं एक वॉयस आर्टिस्ट हूं, इसलिये आवाज बदलना मेरे लिये मुश्किल नहीं था, लेकिन बॉडी लैंग्वेज मुश्किल काम था. हर सीन में बॉडी लैंग्वेज बदल जाती है. मुझे उन तीनों किरदारों को जीना है, लेकिन साथ ही एक-दूसरे से अलग भी दिखना है.

 
shankar jai kishan

यह शो जल्‍द ही सब टीवी पर शुरू होने वाला है.


कभी असल जिंदगी में भी इस तरह की परिस्थितियों का सामना किया है आपने?
जब मैं बड़ा हो रहा था, उस दौरान की इस तरह की कई मजेदार कहानियां हैं. स्कूल और कॉलेज के दिनों में मुसीबत से बचने के लिए कभी ऐसा कर जाता था. एक बात जो मुझे अच्छे से याद है कि मैं अपने पापा के झूठे दस्तखत किया करता था और मैंने एक सेमेस्टर में अपनी रिपोर्ट कार्ड में ऐसा किया था. किसी तरह पापा को इस बात का पता चल गया, और मेरे कहीं भी आने-जाने पर पाबंदी लग गई और एक महीने के लिये सारी चीजों पर रोक लग गई.

यह भी पढ़ें: ''चंद्रलेखा' बनी जैकलीन फर्नांडीज का सुपर हॉट पोल डांस... बस देखते रह जाएंगे आप

शंकर जय किशन के लिए आपकी प्रेरणा कौन रहे हैं?
मैंने कई फिल्मों से प्रेरणा ली है. मसलन, ‘गोलमाल’ फिल्म के अमोल पालेकर, ‘रब ने बना दी जोड़ी’ के शाहरुख खान को शंकर के किरदार लिए देखा, जो बहुत ही शर्मीला है और शुद्ध हिन्दी में बात करता है. उसी तरह जय के किरदार के लिये मैंने सलमान से प्रेरणा ली. किशन का किरदार ऐसा है, जो मैं अपने किरदार के लिये तैयार करना चाहता था, जिसमें मेरी झलक हो.

VIDEO: Movie Review: इतिहास और देशभक्ति की कहानी कहती 'राग देश'

टिप्पणियां

...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement