NDTV Khabar

कमर्शियल फिल्‍मों का हिस्‍सा रही कोंकणा सेन शर्मा 'मसाला फिल्‍म' बनाने से कतराती हैं

कोंकणा सेन शर्मा का कहना है, 'यह भी सच है कि मुझे बहुत तरह तरह के किरदारों के प्रस्ताव नहीं मिलते. मैंने इधर-उधर की कुछ भूमिकाएं निभाई हैं लेकिन जब भी कुछ किया है तो मुझे अलग तरह की फिल्मों में बहुत सहज लगता है.'

85 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कमर्शियल फिल्‍मों का हिस्‍सा रही कोंकणा सेन शर्मा 'मसाला फिल्‍म' बनाने से कतराती हैं

खास बातें

  1. कोंकणा के डायरेक्‍शन में बनी फिल्‍म 'ए डेथ इन द गूंज' आज हुई रिलीज
  2. 'लागा चुनरी में दाग' और 'अतिथि कब जाओगे' जैसी फिल्‍मों में आ चुकी हैं नजर
  3. डायरेक्‍टर विशाल भारद्वाज ने की है कोंकणा के डायरेक्‍शन की तारीफ
नई दिल्‍ली: गंभीर किस्म के किरदार अदा करने वाली अभिनेत्री कोंकणा सेन शर्मा के मुताबिक वह निर्देशक के तौर पर भी गैर-परंपरागत कहानियां कहते रहना चाहती हैं. ‘ए डैथ इन द गूंज’ से निर्देशन में उतर रहीं 37 वर्षीय कोंकणा ने न्‍यूज एजेंसी पीटीआई से कहा कि वह कोई मसाला फिल्म नहीं बनाएंगी. कोंकणा ने कहा, 'अदाकारा के तौर पर भी मैंने इस तरह की फिल्में नहीं की हैं और यह मेरी पसंद के दायरे से बाहर हैं. कोंकणा ने यहां पीटीआई को दिये इंटरव्यू में कहा, 'यह भी सच है कि मुझे बहुत तरह तरह के किरदारों के प्रस्ताव नहीं मिलते. मैंने इधर-उधर की कुछ भूमिकाएं निभाई हैं लेकिन जब भी कुछ किया है तो मुझे अलग तरह की फिल्मों में बहुत सहज लगता है.' हालांकि खुद कोंकणा 'लागा चुनरी में दाग', 'वेकअप सिड' और 'अतिथि कब जाओगे' जैसी कमर्शियल फिल्‍मों का हिस्‍सा रह चुकी हैं. वह मानती हैं कि मुख्यधारा के सिनेमा में काम नहीं करना फायदे का सौदा नहीं हो सकता लेकिन यह उनकी अंतरात्मा की आवाज है.

उन्होंने कहा, 'ए डैथ इन द गंज थोड़ी' अलग तरह की फिल्म है और आर्थिक रूप से फायदेमंद नहीं है, लेकिन यह अंतरात्मा की आवाज है. मैं ऐसी ही हूं. मुझे नहीं पता कि कितने दिन तक यह कर पाउंगी, देखते हैं.' नये फिल्म निर्देशकों के लिए रोमांटिक कॉमेडी से शुरूआत करना सुरक्षित माना जाता है लेकिन कोंकणा के मुताबिक उन्हें एक भुला दी गयी जगह की कहानी को बयां करना जरूरी लगा.

1970 के दशक की पृष्ठभूमि में बनी यह फिल्म एक बांग्ला उच्च मध्यवर्गीय परिवार की कहानी है जो छुट्टी के लिए मैकक्लस्कीगंज जाता है और फिर उनके साथ कुछ ऐसा होता है जो परेशान करने वाला होता है. यह फिल्‍म आज रिलीज हो गई है. इसमें कोंकणा के साथ विक्रांत मैसी, कल्की कोएचिन, तिलोत्तमा शोम, रणवीर शॉरी, तनुजा, जिम सरब और दिवंगत ओम पुरी दिखाई देंगे.
 
a death in the gunj

फिल्‍म 'ए डेथ इन द गूंंज' का एक सीन.

टिप्पणियां
कोंकणा की इस फिल्‍म की तारीफ प्रसिद्ध डायरेक्‍टर विशाल भारद्वाज ने की है. कोंकणा विशाल के साथ फिल्‍म 'ओमकारा' में काम कर चुकी हैं. विशाल भारद्वाज को लगता है कि कोंकणा, एक एक्‍टर से भी ज्‍यादा अच्‍छी डायरेक्टर साबित होंगी. विशाल भारद्वाज का कहना है, 'मैंने 'ए डेथ इन द गूंज' देखी है और मैं इसे देखकर संतुष्‍ट होकर कह सकता हूं कि कोंकणा एक एक्‍टर से भी ज्‍यादा अच्‍छी डायरेक्‍टर हैं.' बता दें कि ओमकारा के अलावा विशाल भारद्वाज द्वारा लिखित फिल्‍म 'तलवार' (2015) में भी कोंकणा नजर आ चुकी हैं. इस फिल्‍म का डायरेक्‍शन मेघना गुलजार ने किया था.

(इनपुट भाषा से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement