NDTV Khabar

'जोगन' बनते-बनते 'ड्रग तस्करी' में कैसे फंस गईं बोल्ड हीरोइन ममता कुलकर्णी!

136 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
'जोगन' बनते-बनते 'ड्रग तस्करी' में कैसे फंस गईं बोल्ड हीरोइन ममता कुलकर्णी!

ममता कुलकर्णी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: 90 के दशक में अपनी बिंदास अदाओं और खूबसूरती के लिए चर्चित रहीं ममता कुलकर्णी अचानक फिल्मी दुनिया से गायब हो गई थीं. गुमनामी के अंधेरों में गायब ममता का जिक्र उनकी फिल्म या गाना आने पर हो ही जाता है, लेकिन आज हम उनको याद इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि ममता कुलकर्णी और ड्रग माफिया विकी गोस्वामी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हुआ है. ठाणे की अदालत ने दोनों के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय ड्रग तस्करी मामले में वारंट जारी किया है. अब दोनों को भारत वापस लाने की तैयारी है. दोनों फिलहाल कीनिया में हैं. ठाणे पुलिस अब इंटरपोल के माध्यम से दोनों को पकड़कर वापस लाने की तैयारी में जुट गई है. ठाणे एंटी नार्कोटिक्स सेल के सहायक पुलिस निरीक्षक अमोल वालझाड़े ने बताया कि वारंट मिलने के बाद से 4 अलग-अलग टीमें बनाई गई हैं जो दोनों के घरों और प्रॉपर्टी की तलाश कर जरूरी कदम उठाएंगी. ठाणे पुलिस ने अप्रैल 2016 में 2000 करोड़ रुपये से भी ज्यादा के इफ्रेडिन ड्रग तस्करी के बड़े रैकेट का भंडाफोड़ किया था.

सोलापुर स्थित एवोन लाइफ़ साइंसेस कंपनी में छापा मार कर करीब 23 टन इफेड्रिन पाउडर भी जब्त किया था. मामले में दवा कंपनी के मालिकों और गुजरात के एक पूर्व विधायक के बेटे किशोर राठौड़ सहित अब तक 15 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है. पुलिस की मानें तो किशोर राठौड़ ही वो अहम कड़ी है जो विकी गोस्वामी और पूर्व फिल्म अभिनेत्री ममता कुलकर्णी से सीधे संपर्क में था.

मैं अध्यात्म में रमी और बेगुनाह हूं
ममता ने दावा किया कि वे गत बीस वर्ष से अध्यात्म में रमी हुई हैं और बैरागी का जीवन जी रही हैं. पैसा, संपत्ति और ऐशो आराम से खुद को दूर रखा है फिर ड्रग का धंधा क्यों करेगीं. ममता ने ठाणे पुलिस के 2000 करोड़ की ड्रग के दावे को भी गलत बताया. ममता के मुताबिक उनके बैंक एकाउंट में सिर्फ 25 लाख रुपये हैं जिसे उन्होंने बॉलीवुड में अभिनेत्री के तौर पर कमाया था. लेकिन ठाणे पुलिस का दावा है कि ममता ना सिर्फ तस्करी से जुड़ी बैठकों में शामिल रहती थी बल्कि विकी के नशे के कारोबार को बढ़ाने में मदद भी करती थी. इसलिए गैर जमानती वारंट के जरिये अब उन्हें पकड़ने की कोशिश तेज हो गई है.

मराठी परिवार में हुआ था ममता का जन्म
ममता का जन्म 20 अप्रैल 1972 को एक मराठी परिवार में हुआ था. उन्होंने बॉलीवुड में 1992 में 'तिरंगा' फिल्म से कदम रखा। इसके बाद वह 'आशिक अवारा' में दिखाई दीं. फिर 'वक्त हमारा है', 'क्रांतिवीर', 'करण अर्जुन', 'सबसे बड़ा खिलाड़ी' और 'बाजी', 'घातक', 'चाइना गेट' सरीखी फिल्मों में काम करके नाम कमाया। 2002 में आई 'कभी तुम कभी हम' के बाद उन्होंने बॉलीवुड को अलविदा कह दिया.

विवाद भी कम नहीं रहे
1993 में स्टारडस्ट मैगजीन में टॉपलेस फोटोशूट कराकर वह काफी चर्चा में आ गई थीं। इसके लिए उन पर जुर्माना भी हुआ था. यही नहीं 'चाइना गेट' में काम करने को लेकर खबरें उड़ी थीं कि छोटा राजन के कहने पर उन्हें यह फिल्म मिली हालांकि यह फिल्म फ्लॉप रही और इसका सुपरहिट गाना 'छम्मा-छम्मा' भी उर्मिला के खाते में चला गया. ममता की इस फिल्म के जरिये सीरियस इमेज दिखाने की कोशिश नाकाम रही.

डांस नंबर जो आज भी करते हैं थिरकने को मजबूर
ममता के कई गाने आज भी लोगों की जुबान पर हैं। जब भी ये गाने कहीं सुनने को मिलते हैं तो अचानक इस अभिनेत्री की याद ताजा हो जाती है।
कोई जाए तो ले आए मेरी लाख दुआएं पाए, मै तो पिया की गली..
मुझको राणा जी माफ करना गलती म्हारे से हो गई...
भंगड़ा पा ले... आजा आजा...
भोली-भाली लड़की.....
एक मुंडा मेरी उम्र दा...

ड्रग तस्करी करने वाले विजय गोस्वामी से जुड़ी थीं
शुरुआत में ममता के अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन से संबंधों की खबरें थीं, लेकिन कुछ समय बाद ही उनका नाम ड्रग तस्करी करने वाले विजय गोस्वामी (विकी) के साथ जुड़ गया था. उनके साथ वह दुबई और केन्या में रह रही थीं. उन्होंने एक चैनल पर कबूला था कि उन्होंने विकी से शादी नहीं की और वह विकी से जेल में मिलने गईं थीं. ममता ने इसी इंटरव्यू में बताया कि उन्होंने सोचा था कि वह कैसे भी उन्हें जेल से बाहर निकालकर रहेंगी. विकी जेल से बाहर भी आए, लेकिन ममता भारत नहीं लौट पाईं. जिस दौरान विकी जेल में थे ममता ने अपने आपको ईश्वर भक्ति में डुबो लिया था. ममता ने अध्यात्म पर एक किताब भी लिखी है, जिसका नाम है-'ऑटोबायोग्राफी ऑफ एन योगिन.

जोगन बनी ममता
वह तो बॉलीवुड से गायब ही थीं, लेकिन एक तस्वीर ने ममता कुलकर्णी को फिर से चर्चा में ला दिया. इसमें वह माथे पर तिलक लगाए दिख रही थीं. इसके बाद खबरें चलीं कि ममता अब जोगन बन गई हैं. उन्होंने एक चैनल से इंटरव्यू में कहा कि मैं बॉलीवुड को छोड़कर ध्यान में लग गई और मैंने ईश्वर में ध्यान लगा लिया. उसके बाद उनका मन ही नहीं किया कि ग्लैमर की दुनिया में लौटूं.
 
बॉलीवुड को अलविदा कहने का बताया कारण
एक ऑनलाइन इंटरव्‍यू में बॉलीवुड को अलविदा कहने की वजह पर ममता ने कहा, कुछ लोग दुनिया के कामों के लिए पैदा होते है, जबकि कुछ ईश्‍वर के लिए पैदा होते हैं. मैं भी ईश्‍वर के लिए पैदा हुई हूं. बॉलीवुड में वापसी पर उन्होंने इस साक्षात्कार में कहा था कि क्या घी को फिर से दूध बनाना मुमकिन है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement