शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा - फिल्म 'मांझी...' बिहार का असली डीएनए दिखाती है

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा - फिल्म 'मांझी...' बिहार का असली डीएनए दिखाती है

'मांझी- द माउंटन मैन' के एक दृश्य में नवाजुद्दीन सिद्दीकी

पटना:

अभिनेता-नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने बिहार में उनकी पैतृक भूमि गया के एक मजदूर दशरथ मांझी की जीवनगाथा पर आधारित फिल्म 'मांझी- द माउंटेन मैन' की तारीफ की।

मूल रूप से गया जिले से आने वाले शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट किया, ‘गया की मिट्टी के इस सपूत की प्रेरक कहानी पर गर्व है, जो मेरे पूर्वजों की भूमि है। सिन्हा ने कहा, बिहारी अस्मिता और बिहार के एक सपूत के वास्तविक, मजबूत डीएनए पर आधारित यह एक डाइनेमिक, मूल और सामयिक फिल्म है। शुक्रवार को रिलीज हुई फिल्म को बिहार में टैक्स फ्री करने की राज्य सरकार के फैसले की उन्होंने प्रशंसा की।

अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्न ने इसके अलावा फिल्म सितारों - नवाजुद्दीन सिद्दीकी और अभिनेत्री राधिका आप्टे की भी सराहना की।

हिन्दी और अन्य भाषाओं की 200 से अधिक फिल्मों में काम कर चुके शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट किया, बेहद नैसर्गिक कलाकार नवाजुद्दीन सिद्दीकी इस सदी की खोज हैं और अभिनेत्री राधिका आप्टे तो बहुत प्यारी और तारीफ के काबिल हैं। मैं इस फिल्म की अभूतपूर्व सफलता की कामना करता हूं।

'मांझी - द माउंटेन मैन' गया जिले में गेहलौर गांव के एक गरीब मजदूर दशरथ मांझी के जीवन पर आधारित है, जिन्हें 'माउंटेन मैन' के तौर पर भी जाना जाता है। अपनी पत्नी की याद में उन्होंने महज एक हथौड़ा और छेनी से पहाड़ को काटकर अकेले दम सड़क बना डाली। चिकित्सकीय उपचार के अभाव में उनकी पत्नी की मौत हो गई, क्योंकि पहाड़ी इलाका होने के कारण वह उन्हें समय पर उपचार के लिए अस्पताल नहीं ले जाए।

किसी और को ऐसी बेबसी की मौत न मरना पड़े इसलिए मांझी ने पहाड़ को चीरकर सड़क बना डाली। सिन्हा ने जीवनी आधारित इस फिल्म के निर्देशक केतन मेहता की भी सराहना की।

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com