NDTV Khabar

अब फिल्म सर्टिफिकेशन ट्रिब्यूनल ने सेंसर बोर्ड पर मनमानी करने का आरोप लगाया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अब फिल्म सर्टिफिकेशन ट्रिब्यूनल ने सेंसर बोर्ड पर मनमानी करने का आरोप लगाया
नई दिल्ली:

FCAT या फिल्म सर्टिफिकेशन ट्रिब्यूनल ने सेंसर बोर्ड पर मनमाने तरीके से फिल्मों की सर्टिफिकेशन बदलने आरोप लगाया है। ट्रिब्यूनल ने सेंसर बोर्ड पर बिना एग्जीक्यूटिव आर्डर के टीवी के लिए फिल्मों के सर्टिफिकेशन बदलने का आरोप भी लगाया है।

सेंसर बोर्ड ने टीवी में दिखाने के लिए सर्टिफिकेट बदले
ट्रिब्यूनल ने 16 फिल्मों का उदाहरण दिया है जिनके सर्टिफिकेट सेंसर बोर्ड ने टीवी में दिखाने के लिए बदल दिए। इनमें डर्टी पिक्चर, दम मारो दम, देसी बॉयज़, NH-10, बदलापुर, हेट स्टोरी 2 और 3 जैसी फिल्मों का ट्रिब्यूनल ने ख़ास जिक्र किया गया है। ''हमें लगता है कि CBFC सर्टिफिकेट की कैटेगरी मनमाने ढंग से बदल रही है। यह सरासर सेंसर गाइडलाइन्स का उल्लंघन है।''

टिप्पणियां

टीवी में दिखाने के लिए निर्माता ने सेंसर से UA सर्टिफिकेट की डिमांड की
दरअसल मामला फिल्म 'यारा सिल्ली सिली' का है जिसे A सर्टिफिकेट दिया जा चुका है, लेकिन टीवी में दिखाने के लिए फिल्म के निर्माता ने विवादास्पद सीन काट छांट के सेंसर से UA सर्टिफिकेट की डिमांड की है। सेंसर से UV सर्टिफिकेट नहीं मिलने पर फिल्म के निर्माता ने ट्रिब्यूनल का दरवाज़ा खटखटाया है। उनका कहना है कि ऐसी कई A सर्टिफाइड फिल्में हैं जिनके विवादास्पद सीन काट के टीवी पर दिखाया जा रहा है और इस पर ट्रिब्यूनल ने नाराज़गी जताई है।


बोर्ड को फिल्मों को सेंसर करने की जगह सिर्फ रेटिंग देने का काम करना चाहिए
एक तरफ ट्रिब्यूनल की फटकार तो दूसरी तरफ सेंसर बोर्ड अध्यक्ष पहलाज निहलानी निर्माता अनुराग कश्यप की फिल्म उड़ता पंजाब को लेकर विवाद में फंसे हैं। हालांकि निहलानी ने उड़ता पंजाब में 13 कट कर उड़ता पंजाब को A सर्टिफिकेट दे दिया है, लेकिन सर्टिफिकेशन को लेकर विवाद अभी भी जारी है। शुक्रवार को बॉम्बे हाईकोर्ट ने सेंसर बोर्ड को कहा था कि बोर्ड को फिल्मों को सेंसर करने की जगह सिर्फ रेटिंग देने का काम करना चाहिए।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement