NDTV Khabar

सामाजिक कामों में खर्च होगी परवीन बाबी की 80 % संपत्ति, हाइकोर्ट ने जारी किया प्रमाण पत्र

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सामाजिक कामों में खर्च होगी परवीन बाबी की 80 % संपत्ति, हाइकोर्ट ने जारी किया प्रमाण पत्र

जनवरी 2005 में अपने जूहू स्थित घर में मृत पाई गई थीं परवीन बाबी.

खास बातें

  1. संपत्ति का 80 प्रतिशत हिस्सा सामाजिक कामों में होगा उपयोग.
  2. बाबी के रिश्तेदारों ने उनकी वसीयत को कोर्ट में दी थी चुनौती.
  3. बाबी ने 'दीवार', 'अमर अकबर एंथोनी' जैसी सफल फिल्मों में किया है काम.
मुंबई: बॉलीवुड अभिनेत्री परवीन बाबी की मृत्यु के एक दशक बाद बंबई उच्च न्यायालय ने उनकी वसीयत के असली होने का प्रमाण पत्र जारी किया है. इसने परवीन बाबी की इच्छा के अनुसार उनकी संपत्ति का ज्यादातर हिस्सा सामाजिक उद्देश्यों के लिए उपयोग करने का रास्ता साफ कर दिया है.

न्यायमूर्ति गौतम पटेल ने बाबी की वसीयत के असली होने का प्रमाणपत्र 14 अक्टूबर को जारी किया जब उनके रिश्तेदारों ने कहा कि वह मामले पर अब और अनुसरण नहीं करना चाहते हैं. बॉबी के रिश्तेदार वसीयत की प्रामाणिकता को चुनौती दे रहे थे.

न्यायमूर्ति पटेल ने कहा कि सारे विवाद इस प्रकार हल समझे जाएं और उच्च न्यायालय रजिस्ट्री को निर्देश दिया कि वे पत्र जारी करें और 23 दिसंबर 2016 तक बाबी के चाचा मुराद खान को बाबी की वसीयत का प्रबंधन करने दें.

टिप्पणियां
बाबी ने ‘अमर अकबर एंथनी’, ‘दीवार’ और ‘शान’ जैसी हिट फिल्मों में काम किया. जनवरी 2005 में जुहू स्थित उनके अपार्टमेंट में उनकी मृत्यु हो गई थी. उनकी मृत्यु के तुरंत बाद मुराद खान ने दावा किया कि बाबी ने उन्हें उनकी संपत्ति का प्रभारी बनाया था जिसमें उनका जुहू स्थित अपार्टमेंट, जूनागढ़ में एक मकान, जेवर और बैंक में जमा राशि शामिल थी.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement