NDTV Khabar

रिव्यू : सैफ अली खान और कैटरीना की 'फ़ैंटम' में कुछ भी नया नहीं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रिव्यू : सैफ अली खान और कैटरीना की 'फ़ैंटम' में कुछ भी नया नहीं

फैंटम के दृश्य से ली गई फोटो

मुंबई:

इस फिल्मी फ्राइडे रिलीज हुई है, 'फ़ैंटम', जिसके निर्देशक हैं, कबीर खान, जिन्होंने सलमान खान के साथ बेहद कामयाब फिल्म 'बजरंगी भाईजान' भी बनाई थी।

कबीर 'फैंटम' में लेकर आए हैं, सैफ अली खान, कैटरीना कैफ, सब्यासाची चक्रवर्ती, मोहम्मद जीशान को। 'फ़ैंटम' की कहानी हुसैन ज़ैदी की किताब 'मुंबई एवेंजर्स' पर आधारित है, जिसमें 26/11 के हमले में शामिल आतंकवादी को ढूंढकर गुप्त मिशन के तहत खत्म करने की मुहिम है। ऐसा ही कुछ आपने 'डी डे' और 'बेबी' में देखा होगा, फिल्म की सबसे बड़ी खामी यही है।

इन विषयों को पहले देखने के कारण ये ताजा नहीं लगते। फिल्म का नायक दनियाल यानी सैफ़ हिन्दुस्तान के दुश्मनों का जिस कदर खात्मा करता है, वह हजम नहीं होता। काफी सीन्स फिल्मकार की सहुलियतों पर निर्भर नजर आते हैं।

टिप्पणियां

वहीं सैफ-कैटरीना के किरदारों के अतीत की दास्तां रोमांटिक नहीं, बल्कि फिल्म को ड्रैग करती है। हालांकि निर्देशक कबीर खान ने स्क्रीनप्ले का ताना-बाना ठीक से बुना है, जो आपको पर्दे पर नज़र आएगा। वह शायद आपको फिल्म से जोड़े रखे, हां पर, थ्रिल यानी रोमांच शायद न दे पाए।


सिनेमेटोग्राफी की बात करें तो कई सीन्स बहुत अच्छे से फ़िल्माए गए हैं। अभिनय के लिए ज़ीशान की तारीफ़ ज़रूरी है। सैफ़-कैटरीना फ़िल्म में ठीक हैं पर लाजवाब नहीं। हां, कैटरीना का क्लाइमैक्स के दौरान का ड्रामे से भरा सीन आपको जरूर हंसाएगा। फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर भी ठीक-ठाक है, हालांकि फ़िल्म मुझे प्रभावित नहीं कर पाई। मेरी ओर से फ़िल्म को 2.5 स्टार्स।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement