NDTV Khabar

प्रियंका चोपड़ा की मां हैं उनकी 'बेस्‍ट पार्टनर', देखें फोटो

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
प्रियंका चोपड़ा की मां हैं उनकी 'बेस्‍ट पार्टनर', देखें फोटो
नई दिल्‍ली: प्रियंका चोपड़ा का कहना है कि उन्होंने अपने प्रोडक्शन हाउस की शुरुआत छोटी और क्षेत्रीय भाषा की फिल्मों से की, क्योंकि उन्हें लगा कि कुछ फिल्मों और कहानियों को उनकी जरूरत है. प्रियंका ने मंगलवार रात अपने घरेलू बैनर पर्पल पेबल पिक्चर्स के तले बनी मराठी फिल्म 'वेंटिलेटर' को तीन श्रेणियों में पुरस्कार मिलने की खुशी का जश्न मनाया. न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस की रिपोर्ट के अनुसार इस मौके पर प्रियंका ने कहा, 'बड़ी हस्तियां हिंदी फिल्में बनाती हैं. मैं एक छोटी फिल्म निर्माता हूं. मुझे लगा कि कुछ ऐसा फिल्में और कहानियां है जिन्हें मेरी सहायता और समर्थन की जरूरत है.

प्रियंका ने इस सफलता का जश्न फिल्म के कलाकारों और यूनिट के सदस्यों के साथ मनाया, जिनमें आशुतोष गोवारिकर, फिल्म के निर्देशक राजेश मापुसकर आदि शामिल हुए. मीडिया के साथ बातचीत करने के दौरान उन्होंने बताया कि वह हमेशा बेहतरीन कहानियों वाली फिल्में बनाना चाहती हैं. फिल्म 'वेंटिलेटर' ने सर्वश्रेष्ठ निर्देशक (राजेश मापुसकर), सर्वश्रेष्ठ संपादन (रामेश्वर भगत) और सर्वश्रेष्ठ ध्वनि मिश्रण (आलोक डे) श्रेणियों में पुरस्कार जीता है.

इस मौके पर प्रियंका ने फिल्म की पूरी टीम का आभार जताया है और बेहतरीन सहयोगी बनने के लिए अपनी मां मधु की तारीफ की है. प्रियंका पिछले लंबे समय से अमेरिकी टीवी शो 'क्वांटिको' की शूटिंग के लिए न्‍यूयॉर्क में थीं और वह हाल ही में भारत लौटी हैं. भारत आते ही प्रियंका ने अपने बॉलीवुड के दोस्‍तों के साथ भी पार्टी की है. सोमवार को बॉलीवुड दोस्‍तों के साथ की पार्टी के बाद प्रियंका ने मंगलवार रात को 'वेंटिलेटर' की टीम के साथ पार्टी की है.
 
 

Thank you all the press photographers! I missed u too! Lol! V for #ventilator !!!

A post shared by Priyanka Chopra (@priyankachopra) on


प्रियंका ने अपनी मां के साथ एक तस्वीर शेयर की और लिखा, 'मेरी पर्पल पेबल पिक्चर्स टीम और उन सभी को धन्यवाद जिन्होंने 'व्हेंटिलेटर' और मेरे जुनूनी प्रयासों में योगदान दिया. आज रात मजबूत बनकर उभरने के लिए आप सबका धन्यवाद. हम हंसे, हम रोएं और हमने बस खुशी मनाई .मेरी बेहतरीन और असाधारण टीम, जिसके बिना कुछ भी संभव नहीं होता और मेरी साहसी मां मधु चोपड़ा. आप बेहतरीन सहयोगी हैं. ईश्वर की कृपा है.'
 

आईएएनएस की रिपोर्ट के अनुसार इस मौके पर प्रियंका ने कहा, 'कभी-कभी फिल्मकारों को दर्शकों के सामने अपनी कहानियां पेश करने का मौका नहीं मिल पाता और इसलिए मैं हमेशा किसी भी भाषा में बेहतरीन कहानी वाली फिल्में बनाना चाहती हूं.' मराठी फिल्म 'वेंटिलेटर' ने 64वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में सर्वश्रेष्ठ निर्देशन, सर्वश्रेष्ठ संपादन और सर्वश्रेष्ठ ध्वनि मिश्रण जैसी तीन श्रेणियों में पुरस्कार जीता है.

टिप्पणियां
अभिनेत्री ने भोजपुरी फिल्म 'बम बम बोल रहा है काशी' और पंजाबी फिल्म 'सर्वानन' का भी निर्माण किया है.

(इनपुट आईएएनएस से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement