NDTV Khabar

RIP Reema Lagoo: एक मां, जिसने 'वास्‍तव' में दिखाई 'मां' की यह नई सूरत

महेश भट्ट की फिल्‍म 'वास्‍तव' में अपने ही बेटे को गोली मारने वाली मां के किरदार को रीमा लागू ने कुछ ऐसे निभाया कि पुरस्‍कारों से लेकर लोगों की तारीफों तक, वह हर चीज की हकदार बन गई थीं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
RIP Reema Lagoo: एक मां, जिसने 'वास्‍तव' में दिखाई 'मां' की यह नई सूरत

फिल्‍म 'वास्‍तव' का एक सीन.

खास बातें

  1. अपने किरदारों के लिए जीता था 4 बार फिल्‍मफेयर का बेस्‍ट एक्‍ट्रेस अवॉर्ड
  2. 'वास्‍तव' में अपने से सिर्फ एक साल छोटे संजय दत्‍त की बनी थीं मां
  3. रीमा लागू का गुरुवार तड़के सुबह कोकिलाबेन अस्‍पताल में निधन
नई दिल्‍ली: बॉलीवुड ने अक्‍सर अपनी फिल्‍मों में मांओं को 'त्‍याग की देवी' और 'ममता की मूरत' जैसे अवतारों में ही दिखाया है. 'मां' शब्‍द के साथ दरअसल यह भावनाएं सटीक भी बैठती हैं. अक्‍सर शहर से बाहर लौटकर आने वाले बेटे को देखकर मां का कहना, 'तू कितना दुबला हो गया है', या अपने बेटे का पेट भरने के लिए अपनी थाली की रोटियां भी उसे खिलाने वाली मांओं के दौर में महेश भट्ट की फिल्‍म में एक ऐसी मां आई जिसने अपने बेटे को ही गोली मार दी. इस मां का किरदार निभाया था रीमा लागू ने. महेश भट्ट की फिल्‍म 'वास्‍तव' में अपने ही बेटे को गोली मारने वाली मां के किरदार को रीमा लागू ने कुछ ऐसे निभाया कि पुरस्‍कारों से लेकर लोगों की तारीफों तक, वह हर चीज की हकदार बन गई थीं.

महेश भट्ट द्वारा निर्देशित 'वास्‍तव' में संजय दत्‍त ने रीमा लागू के बेटे का किरदार निभाया था. यह फिल्‍म एक ऐसे लड़के की कहानी थी जो धीरे-धीरे जुर्म के दलदल में फंसता चला जाता है और आखिर में उसकी मां ही उसे गोली मार देती है. इस फिल्‍म में रीमा लागू ने संजय दत्‍त का मां का किरदार कुछ ऐसे निभाया कि उन्‍हें इसके लिए फिल्‍मफेयर का 'बेस्‍ट सपोर्टिंग एक्‍ट्रेस' का अवॉर्ड भी मिला. जबकि रीमा लागू संजय दत्‍त से सिर्फ एक ही साल बड़ी थीं.

एक्‍ट्रेस रीमा लागू का बीती रात दिल का दौरा पड़ने के चलते निधन हो गया है. जानकारी के अनुसार उन्‍होंने रात 3 बजकर 15 मिनट पर अंतिम सांस ली. रीमा लागू को तबियत खराब होने के चलते पिछले कुछ दिनों से मुंबई के कोकिलाबेन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. वह 59 वर्ष की थीं.
 
reema lagoo

एक प्रसिद्ध मराठी थिएटर एक्‍ट्रेस की बेटी रीमा लागू ने यूं तो थिएटर से अपनी एक्टिंग का सफर शुरू किया लेकिन देखते ही देखते वह बॉलीवुड की चहेती मां बन गईं. लेकिन बॉलीवुड की अक्‍सर 'दया का पात्र' जैसी दिखने वाली मांओं से अलग रीमा लागू ने अपने किरदारों में हमेशा एक अलग अंदाज रखा. सिर्फ 'वास्‍तव' ही नहीं, उन्होंने अपने 'मां' के हर किरदार को हमेशा पारंपरिक 'मां' की छवि से अलग और ज्‍यादा प्रैक्टिकल रखा. रीमा लागू को अपने किरदारों के लिए 4 बार फिल्‍मफेयर का बेस्‍ट एक्‍ट्रेस अवॉर्ड मिल चुका था.

चाहे सलमान खान हों या फिर शाहरुख खान, रीमा लागू ने फिल्‍मों में लगभग हर बड़े स्‍टार की मां का किरदार किया है. 'हम आपके हैं कौन', 'मैंने प्‍यार किया' और 'हम साथ-साथ हैं' जैसी फिल्‍मों में वह सलमान खान के साथ नजर आईं और एक समय ऐसा आया जब लोग उन्‍हें सलमान खान की मां ही समझने लगे थे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement