ऑस्कर की दौड़ में थोड़ी सी और आगे बढ़ी 'सरबजीत', टीम को अवॉर्ड मिलने की उम्मीद

ऑस्कर की दौड़ में थोड़ी सी और आगे बढ़ी 'सरबजीत', टीम को अवॉर्ड मिलने की उम्मीद

फिल्म सरबजीत में रणदीप हुड्डा

खास बातें

  • 'सरबजीत' 336 सर्वश्रेष्ठ फिल्मों की सूची में शामिल
  • फिल्म में रणदीप हुड्डा ने सरबजीत का किरदार निभाया है
  • ऐश्वर्या राय बच्चन और दर्शन कुमार जैसे सितारे भी प्रमुख भूमिका में
नई दिल्ली:

रणदीप हुड्डा अभिनीत फिल्म 'सरबजीत' आगामी 89वें अकादमी पुरस्कार में 336 सर्वश्रेष्ठ फिल्मों की सूची में शामिल हो गई है. वहीं रणदीप को ऑस्कर मिलने की उम्मीद है.

उमंग कुमार द्वारा निर्देशित फिल्म भारतीय किसान सरबजीत सिंह पर बनी है, जो गलती से भारत की सीमा पार कर पाकिस्तान चला जाता है जहां उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था. पाकिस्तान ने जासूसी व आतंकवाद के आरोप में उन्हें जेल की सलाखों के पीछे डाल दिया. उन्हें मौत की सजा मिली. अप्रैल 2013 में उनके साथी कैदियों ने उन पर हमला कर दिया था जिससे सरबजीत की मौत हो गई थी.

रणदीप ने कहा, "अकादमी पुरस्कार द्वारा काम की सराहना मिलना शानदार रहा. मैं इसे सिनेमाई उत्कृष्ट महसूस करता हूं." उन्हें फिल्म से काफी उम्मीदें हैं. उन्होंने कहा, "सिर्फ इतना ही नहीं मुझे जीत की पूरी उम्मीद है लेकिन, मुझे पता है कि इसके लिए इंतजार की आवश्यकता है." रणदीप ने फिल्म की पूरी टीम को बधाई दी. इसमें ऐश्वर्या राय बच्चन और दर्शन कुमार जैसे सितारे प्रमुख भूमिका में हैं.

वहीं, फिल्म निर्माता उमंग कुमार का कहना है कि ऑस्कर से भारतीय फिल्मों के लिए बड़े रास्ते खुलेंगे. उन्होंने कहा, "एक निर्देशक और निर्माता होने के नाते ऑस्कर मिलने के बाद हमारे लिए बहुत सारे रास्ते खुलेंगे. अभी हम छोटे फिल्मों का निर्माण कर रहे हैं, लेकिन ऑस्कर पुरस्कार जीतने के बाद यह बदल जाएगा. इससे हमारी कंपनी को और बढ़ावा मिलेगा."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उमंग ने बताया, "आप और अधिक फिल्मों का निर्माण विदेश में करेंगे. इससे निर्देशकों का नजरिया बदलेगा, जिससे हमारे लिए और रास्ते खुलेंगे." उमंग ने कहा, "'सरबजीत..' विषय ही ऐसा है. इसमें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लोगों को लुभाने का माद्दा है. यह दो राष्ट्रों की बात करता है, दूसरे देश की जेल में बंद भाई और पिछले 23 साल से उसे आजाद कराने के लिए बहन के संघर्ष की बात करता है."

उन्होंने कहा, "फिल्म की कहानी गाने और डांस से परे है. इसका विषय केवल भारतीय समुदाय और संवेदनाओं के लिए नहीं है. यह इससे परे है. यह विषय सभी का दिल जीत लेगा."