'अनसूटेबल बॉय' नहीं हैं करण, उन्हें संवेदनशीलता ईश्वर से उपहार में मिली हैः शाहरुख खान

'अनसूटेबल बॉय' नहीं हैं करण, उन्हें संवेदनशीलता ईश्वर से उपहार में मिली हैः शाहरुख खान

करण जौहर और शाहरुख खान बेहद अच्छे दोस्त हैं.

नई दिल्ली:

अपने करीबी दोस्त और फिल्ममेकर करण जौहर की बायोग्राफी 'एन अनसूटेबल बॉय' के लॉन्च के मौके पर शाहरुख खान ने कहा कि करण को अनसूटेबल कहना गलत होगा. उन्हें लगता है कि करण एक संवेदनशील इंसान हैं और उनकी किताब का नाम 'अ सेंसिटिव बॉय' होना चाहिए.

करण के बारे में बात करते हुए शाहरुख खान ने कहा, 'करण एक बेहतरीन इंसान हैं, अनसूटेबल क्यों?' उन्होंने कहा कि बुक का टाइटल 'द गुड बॉय' या 'द इंटेलीजेंट बॉय' भी हो सकता था. शाहरुख ने कहा, 'करण में लोगों की भावनाओं और परिस्थियों को समझने की क्षमता है. उन्हें यह संवेदनशीलता ईश्वर से उपहार में मिली है. वह हिम्मती हैं और मैं कहना चाहूंगा कि मैं जितने लोगों से अब तक मिला हूं उनमें वह बेहद खास हैं.'

करण जौहर की किताब में शाहरुख के नाम पर एक पूरा चैप्टर है. 'रईस' के प्रति अपने लगाव के बात करते हुए करण ने कहा, 'हर रिश्ते में उतार चढ़ाव आते हैं, लेकिन हमारे रिश्ते में प्यार है. शाहरुख के प्रति अपने प्यार और सम्मान को मैं शब्दों में बयान नहीं कर सकता.' करण ने आगे कहा, 'हमारा रिश्ता जिंदगी भर साथ रहेगा क्योंकि शाहरुख और उनके परिवार के लिए मेरा प्यार पिछले दो दशकों में केवल बढ़ा ही है.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

शाहरुख से अपनी पहली मुलाकात के बारे में बात करते हुए करण ने कहा, 'शाहरुख को 'डूप्लिकेट' के लिए साइन करने के लिए मेरे पिता यश जौहर मुझे अपने साथ लेकर गए थे. यह पहली बार था जब मैं किसी युवा सितारे से मिल रहा था. शाहरुख बेहद रियल थे, उन्होंने बेहद अच्छे से बात की और जिस तरह वह मेरे पिता को सम्मान दे रहे थे मुझे उनसे प्यार हो गया.'

निर्देशक के तौर पर करण जौहर की पहली फिल्म 'कुछ कुछ होता है' थी जिसमें शाहरुख खान ने मुख्य भूमिका निभाई थी. उनकी अगली फिल्मों 'कभी खुशी कभी गम', 'कभी अलविदा न कहना' और 'माय नेम इज खान' में भी शाहरुख खान ने मुख्य बूमिका निभाई थी. करण की हालिया रिलीज फिल्म 'ऐ दिल है मुश्किल' में भी शाहरुख ने स्पेशल अपीयरेंस दिया था.