NDTV Khabar

सिर मुंडवाकर हीरो बने सोनू निगम, अब सबके मन में एक ही सवाल- क्या दस लाख देंगे मौलवी?

2229 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
सिर मुंडवाकर हीरो बने सोनू निगम, अब सबके मन में एक ही सवाल- क्या दस लाख देंगे मौलवी?

सोनू निगम के कदम को ट्विटर पर सराहा जा रहा है.

नई दिल्ली: अजान से नींद टूटने को लेकर ट्वीट करने के बाद सुर्खियों में आए सिंगर सोनू निगम ने पश्चिम बंगाल के मौलवी के फतवे के जवाब में अपना सिर मुंडवा लिया है. सोनू निगम के इस कदम को सोशल मीडिया पर काफी सराहा जा रहा है, लोग उन्हें- बॉस, रियल हीरो जैसे टाइटल्स दे रहे हैं. सिर मुंडाने से पहले सोनू निगम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि वह किसी धर्म का निरादर नहीं कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि त्योहारों में लोग फिल्मी गाने बजाकर शराब पीकर सड़कों पर नाचते हैं जिससे आम लोगों और पुलिस को काफी तकलीफ होती है. उन्होंने कड़े शब्दों में कहा, 'क्या यह दादागिरी नहीं है?' सोनू निगम ने यह भी साफ किया कि उन्हें अजान से समस्या नहीं है, उन्हें धार्मिक स्थलों में लाउडस्पीकरों के उपयोग से समस्या है.

सोनू निगम ने मीडियाकर्मियों से कहा कि उन्हें उनकी बात सही तरीके से समझकर उठानी चाहिए. उन्होंने कहा कि हमारे बच्चे इसी देश में बढ़ने वाले हैं और हमें कोशिश करनी चाहिए कि हम उन्हें अभी से थोड़ा बेहतर माहौल दे सकें. सोनू निगम ने कहा कि वह लेफ्ट-राइट किसी विंग के समर्थक नहीं हैं, वह एक सोशल मुद्दा उठा रहे हैं जिसके लिए लोगों को उनका साथ देना चाहिए.

सोनू के सिर मुंडवाते ही लोग उनके समर्थन में ट्वीट करने लगे.
 

वहीं कुछ ट्विटर यूजर्स इसी बहाने स्नैपचैट को ट्रोल करने लगे. बताते चलें कि स्नैपचैट के एक पूर्व कर्मी ने कंपनी के सीईओ के खिलाफ एक शिकायत में कहा था कि उन्होंने भारत को एक गरीब देश बताते हुए कहा था कि स्नैपचैट भारत जैसे गरीब देश के लिए नहीं है.
 

वहीं ज्यादातर लोगों को इस बात की चिंता होने लगी कि सिर मुंडवाने पर सोनू निगम को दस लाख रुपये मिलेंगे या नहीं.
 




सोनू निगम ने सोमवार सुबह ट्वीट किया था कि उनकी नींद अजान की वजह से टूट गई. इसके बाद उन्होंने मंदिर, मस्जिद और गुरुद्वारों में भक्ति के नाम पर लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल को गुंडागर्दी बताया था और कहा था कि भारत में धार्मिक जबरदस्ती बंद होनी चाहिए. इसके बाद उन्होंने मंगलवार को कहा कि वह अपनी बात पर अडिग हैं और वह किसी धर्म के खिलाफ नहीं बल्कि धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल के खिलाफ हैं. इस बीच पश्चिम बंगाल के एक मौलवी ने फतवा जारी किया कि सोनू का सिर मूंड कर उन्हें फटे जूतों की माला पहनाने वाले को वह 10 लाख रुपये देंगे. सोनू ने मौलवी का चैलेंज स्वीकार करते हुए अपना सिर मुंडवाने का ऐलान कर दिया.  


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement