NDTV Khabar

गंजे हुए सोनू निगम, बोले 'किसी को नीचा दिखाने के लिए नहीं किया है ये...'

976 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
गंजे हुए सोनू निगम, बोले 'किसी को नीचा दिखाने के लिए नहीं किया है ये...'

सोनू निगम ने कहा मैं मुस्लिमों के खिलाफ नहीं हूं.

खास बातें

  1. सोनू निगम ने कटाए अपने बाल, कहा यह किसी को दिखाने के लिए नहीं है
  2. सोनू के खिलाफ पश्चिम बंगाल के मौलवी ने सुनाया था फतवा
  3. सोनू निगम ने किया था अजान की अवाज पर ट्वीट
नई दिल्‍ली: सोनू निगम ने अपने ट्वीट पर उठे विवाद पर की प्रेस कॉन्‍फरेंस में यह साफ कर दिया है कि वह किसी धर्म के विरोध में नहीं हैं और वह अपने मुस्लिम दोस्‍तों से उतना ही प्‍यार करते हैं. सोनू निगम ने अपने बाल कटवा लिए हैं. सोनू निगम ने कहा कि मेरा उद्देश्‍य किसी को चोट पहुंचाना या किसी की भी धार्मिक भावनाओं को आहत करना नहीं था. उन्‍होंने दुख जताया है कि लोगों ने उनका मुद्दा समझने के बजाए उनकी बात को पकड़ा और उसके खिलाफ विवाद खड़ा कर दिया. सोनू ने अपने दावे को पूरा करते हुए अपना सिर मुंडवा का फैसला लिया है और इस काम के लिए उन्‍होंने अपने मुस्लिम दोस्‍त आलिम को चुना. आलिम हकीम सेलेब्रिटी हेयरस्‍टाइलिस्‍ट हैं. सोनू निगम ने कहा, मैं सोच भी नहीं सकता था कि इतनी छोटी सी बात इतनी बड़ी बन जाएगी.

बता दें क‍ि बुधवार को सुबह सोनू निगम ने पश्चिम बंगाल के एक मौलवी के बयान पर अपने बाल मुंडवाने का एलान कर दिया था. सोनू निगम ने ट्वीट करते हुए कहा, ' आज दोपहर 2 बजे आलिम आएगा और मेरा सिर मुंडेगा. अपने 10 लाख रुपये तैयार रखो मौलवी'. सोनू ने इसके साथ ही अपने अगले ट्वीट में प्रैस को भी इसके लिए निमंत्रण दे दिया. दरअसल डीएनए में छपी एक खबर में पश्चिम बंगाल अल्‍पसंख्‍यक युनाइटेड काउंसिल के एक वरिष्‍ठ सदस्‍य का बयान दिया है, 'यदि कोई उनका सिर मुंडवा कर, उनके गले में जूते की माला डालकर देश में घुमाएगा तो मैं खुद उस शख्‍स के लिए 10 लाख रुपये के पुरस्‍कार का एलान करता हूं.'

प्रेस कॉन्‍फरेंस के दौरान सोनू ने कहा, 'मेरे लिए यह गुंडागर्दी है कि कोई अपने धर्म को जोर जोर से प्रचारित करे. त्‍योहारों के दौरान, मैं कोई नाम नहीं लूंगा पर ये जो लोग सड़कों पर दादागिरी के साथ नाचते हैं... ए हटो.. ए हटो... करते हैं उससे पुलिस को परेशानी होती है. और क्या कर रहे हैं वो बेसिकली, धरम के नाम पर शराब पीके नाच रहे होते हैं, फिल्मी गाने बजा रहे होते हैं. क्या ये दादागिरी नहीं है? और अगर मैं यह मुद्दा उठा रहा हूं तो आप बुद्धिजीवियों को यह बात सही तरीके से समझकर उठानी चाहिए क्योंकि आपके बच्चे भी तो उसी देश में उसी माहौल में बढ़ने वाले हैं. क्या आप उन्हें ऐसा ही माहौल देना चाहते हैं जिसमें अभी हम जी रहे हैं.'

सोशल मीडिया पर सोनू के बाल मुंडवाते ही उनके इस कदम की तारीफ की जाने लगी.
 
सोनू ने कहा 'कुछ लोगों ने कहा है कि मैंने अपने ट्वीट में मोहम्‍मद क्‍यों लिखा, मोहम्‍मद साहब नहीं लिखा. मैं कहना चाहता हूं कि यह अंग्रेजी की भाषा की वजह से हुआ है. जैसे हिंदी में हम श्री कृष्‍ण कहते हैं जबकि अंग्रेजी में कृष्‍णा लिखते हैं. इस तरह की छोटी बातों को नहीं पकड़ना चाहिए. सोनू ने मीडिया से कहा छोटी बातों को मत पकड़‍िए, मुद्दों को समझ‍िए.

सोनू निगम से जब पूछा गया कि वह आखिर अपने बाल क्‍यों कटवा रहे हैं, तो उन्‍होंने मीडिया को बताया कि मैं यह किसी को नीचा दिखाने या अपनी बात को साबित करने के लिए नहीं कर रहा हूं. मैं जो कर रहा हूं वह किसी के लिए मिसाल बनने के लिए नहीं है. मैं अपने बाल मुंडवाने जा रहा हूं और एक मुसलमान मेरे बाल काटेगा (आलिम हकीम). मैं मुस्लिम के खिलाफ नहीं हूं. मैं बहुत सेकुलर हूं. मैं यह किसी मौलाना का चैलेंज पूरा करने के लिए नहीं कर रहा.'
 
sonu nigam

बता दें कि मंगलावर को ही सोनू ने लोगों को अपने ट्वीट्स को एंटी मुस्लिम न समझे जाने की बात भी कही थी. मंगलवार रात ट्वीट करते हुए सोनू निगम ने कहा है कि उन्‍होंने 'मुस्लिम विरोधी' कोई बात नहीं कही है. सोनू निगम ने अपने अपने ट्वीट में मस्जिद में लाउड स्‍पीकर के इस्‍तेमाल पर टिप्‍पणी की थी. सोनू ने अपने नए ट्वीट में कहा है कि अगर कोई यह साबित कर दे तो वह माफी मांगने को भी तैयार हैं. सोनू ने ट्वीट किया, 'प्रिय लोगों, जो भी यह प्रचारित कर रहा है कि मेरे ट्वीट्स मुस्लिम विरोधी हैं वह एक भी जगह ऐसी बता दें जहां मैंने ऐसा किया है, मैं माफी मांग लूंगा.'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement