Budget
Hindi news home page

कामयाबी को व्यक्तित्व पर हावी नहीं होने दिया : दीपिका पादुकोण

ईमेल करें
टिप्पणियां
कामयाबी को व्यक्तित्व पर हावी नहीं होने दिया : दीपिका पादुकोण

दीपिका पादुकोण (फाइल फोटो)

मुंबई: दीपिका पादुकोण हिन्दी सिनेमा की वह अभिनेत्री हैं जिनकी 7 फिल्में 100 करोड़ के क्लब में शामिल हैं और जिन्हें अभिनेत्रियों में सुपरस्टार का दर्जा हासिल है। उन्हें आज के दौर की सबसे कामयाब हीरोइन कहा जाता है। लोग उनकी खूबसूरती के तो कायल हैं ही साथ ही उनके अभिनय के भी कायल हैं। उन्होंने फिल्म जगत की उस भ्रांति को भी तोड़ा है कि मॉडल अच्छी एक्ट्रेस नहीं हो सकती।

2015 में उनकी फिल्म चाहे तमाशा हो, पीकू हो या फिर बाजीराव मस्तानी, तीनों में ही उनके अभिनय की तारीफ हुई, पर इस तारीफ को दीपिका ने कभी अपने दिमाग पर हावी नहीं होने दिया। NDTV इंडिया ने जब उनसे पूछा कि कामयाबी के घमंड को उन्होंने खुद से दूर कैसे रखा, तो उनका जवाब था "मेरे पिता जी एक मशहूर खिलाड़ी हैं और उनकी काफ़ी शोहरत है। मैंने बचपन से ही वह माहौल देखा है जहां लोग या फैन्स आपको सर आंखों पर बिठाते हैं। तो इन सारी चीजों से मैं पहले से ही वाकिफ थी और साथ ही जिस तरह का पालन-पोषण मेरा हुआ या फिर जिस तरह के संस्कार मुझे मिले, उनका भी मेरे व्यक्तित्व में बहुत बड़ा हाथ है।"

दीपिका फिलहाल अपनी फिल्म की कामयाबी का लुत्फ उठा रहीं हैं और जाहिर है 5 जनवरी को अपने जन्मदिन पर इस कामयाबी से बड़ा तोहफा उनके लिए कुछ और नहीं हो सकता था।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement