टर्निंग 30 : 30 पर बवाल क्यों...!

खास बातें

  • टर्निंग 30 की कहानी लिव-इन रिलेशनशिप में रह रही नैना की है जिसे एक दिन पता चलता है कि उसका बॉयफ्रेंड किसी अमीर लड़की से शादी कर रहा है।
मुंबई:

टर्निंग 30 एक अंग्रेज़ी फिल्म है। सबसे पहले इसलिए बताया क्योंकि कहीं ऐसा ना हो कि हिंदी फिल्म का टिकट खरीद कर आपको अंग्रेज़ी फिल्म देखनी पड़ जाए। बहरहाल टर्निंग 30 की कहानी लिव-इन रिलेशनशिप में रह रही नैना (गुल पनाग) की है जिसे एक दिन पता चलता है कि उसका बॉयफ्रेंड किसी अमीर लड़की से शादी कर रहा है। प्रोफेशनल फ्रंट पर नैना के काम का सारा क्रेडिट उसके बॉस उड़ा ले जाते हैं। ये सब तब जब नैना 30 साल की होने वाली है। खैर हिम्मती नैना सारी मुसीबतों को हरा देती है। पर हर कोई नैना को 30 साल की होने पर ताना क्यों मारता रहता है। नौकरानी तक नैना को सलाह दे डालती है कि− दीदी ये दूसरे वाले भैया को मत छोड़ना। नैना भी ऐसे रिएक्ट करती है जैसे 30 साल की होकर उसने पाप कर दिया। बिना मतलब एक बायसेक्सुअल लड़की भी कहानी में डाली गई है। इसमें कोई शक नहीं कि गुल पनाग ने ब्रेक अप से टूटी हताश लड़की का किरदार खूब निभाया। मुंबई की अपर मिडिल क्लास फ्री सोसाईटी की अच्छाई-बुराई भी खुलकर दिखाई गई हैं। बावजूद इसके डायरेक्टर अलंकृता श्रीवास्तव की टर्निंग 30 एवरेज फिल्म बनकर रह गई है। टर्निंग 30 के लिए मेरी रेटिंग है 2.5 स्टार।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com