NDTV Khabar

एक सेब में होते हैं 10 करोड़ से ज्याद बैक्टीरिया! हो जाएं सावधान

अगली बार जब आप सेब खाएं, तो यह याद रखिए कि आप करीब 10 करोड़ बैक्टीरिया निगलने जा रहे हैं. और ये बैक्टीरिया हानिकारक या लाभदायक हैं, यह इस बात पर र्निभर करेगा कि सेब का पैदावार किस तरह से हुआ है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एक सेब में होते हैं 10 करोड़ से ज्याद बैक्टीरिया! हो जाएं सावधान

वो कहते हैं न 'एन एप्पल ए डे कीप्स द डॉक्टर अवे' यानी रोजाना अगर आप एक सेब खाएंगे तो बीमारियों से बचे रह सकते हैं. लेकिन क्या हो अगर हम आपको बताएं कि अगर आप सेब खाते समय सावधानी नहीं बरतते तो यह आपको नुकसान भी पहुंचा सकता है. क्योंकि एक सेब में 10 करोड़ से ज्यादा बैक्टीरिया (An Apple Carries Bacteria) हो सकते हैं. जी हां, माना कि आप फाइबर से भरपूर सेब को अच्छी सेहत के लिए खाते हैं, लेकिन आपकी जरा सी लापरवाही आपको बीमार भी बना सकती है. तो अगली बार जब आप सेब (Apple) खाएं, तो यह याद रखिए कि आप करीब 10 करोड़ बैक्टीरिया (Bacteria) निगलने जा रहे हैं. और ये बैक्टीरिया हानिकारक या लाभदायक हैं, यह इस बात पर र्निभर करेगा कि सेब का पैदावार किस तरह से हुआ है. शोधकर्ताओं का कहना है कि सेब में अधिकांश बैक्टीरिया मौजूद रहते हैं लेकिन यह इस पर निर्भर करता है कि आप किस तरह का सेब खाते हैं या सेब आर्गेनिक है. उनका कहना है कि जैविक रूप से उगाए गए सेब में परंपरागत रूप से उगाए गए सेब की तुलना विविध प्रकार और संतुलित बैक्टीरिया होते हैं जो उसे स्वास्थ्यकारी और स्वादिष्ट बनाते हैं. 

Health Tips: रोटी खाएं या चावल, क्‍या है सेहत के लिए बेहतर? चलिए कंपेयर करते हैं


आस्टिया के ग्रेज यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी के प्रोफेसर गैबरियल बर्ग ने बताया, "बैक्टीरिया, फंगी और वायरस भोजन के द्वारा हमारी आंतों में पहुंचते हैं. भोजन पकाने के दौरान इनमें अधिकतर मारे जाते हैं, इसलिए फल और कच्ची सब्जियां विशेष तौर पर आंतों में बैक्टीरिया के महत्वपूर्ण स्रोत हैं." माइक्रोबायलॉजी पर जर्नल फ्रंटीयर में प्रकाशित अध्ययन में परंपरागत रूप से भंडाररित और खरीदे गए सेबों और ताजा आर्गेनिक सेबों के बीच बैक्टी रिया की तुलना की गई.

Benefits Of Hazelnuts: डायबिटीज, बीपी, हार्ट और कैंसर जैसे रोगों में अच्छा है हेजलनट्स, पढ़ें फायदे और नुकसान

नीचे थोड़ा छितराया हुआ स्टेम, पील, गुदा, बीज और कैलिक्स (पुंजदल) -जहां फूल होता है, का अलग से विश्लेषण किया गया. कुल मिलाकर यह पाया गया कि परंपरागत और आर्गेनिक दोनों सेबों में बैक्टीरिया की संख्या समान थी. बेग ने बताया, "प्रत्सेक सेब के घटकों को औसत रूप से एक साथ रखने पर, हमने अनुमान लगाया कि 240 ग्राम सेब में करीब 10 करोड़ बैक्टीरिया हैं."

be2nerl8

An apple carries Bacteria: एक सेब में 10 करोड़ से ज्यादा बैक्टीरिया होते हैं. 

अधिकांश बैक्टीरिया बीज में पाए गए और बाकी के अधिकतर फ्लेश में थे. इसलिए अगर आप बीज कोष को हटा दें तो आपके खाने में बैक्टीरिया की संख्य में 1 करोड़ तक की कमी आ जाएगी. 

क्या सेब में मिलने वाले ये बैक्टीरिया आपके लिए अच्छे या लाभकारी हैं?

बेग ने व्याख्या करते हुए कहा, "ताजा और जैविक रूप से प्रबंधित सेबों में परंपरागत रूप से प्रबंधित सेबों की तुलना में महत्वपूर्ण रूप से अधिक विविधता, सम और विशिष्ट बैक्टीरिया का समुदाय पाया जाता है." बैक्टीरिया का विशिष्ट समूह जो स्वास्थ्य पर संभावित रूप से असर डालने के लिए जाने जाते हैं, का भी मूल्यांकन जैविक सेब के पक्ष में किया गया. 

शोधकर्ताओं का कहना है कि रोग पैदा करने के लिए जाने जाने वाले बैक्टीरियों का समूह 'इसचेरिचिया-शिंगेला' परंपरागत सेबों के नमूनों में पाया गया लेकिन जैविक सेबों में इसकी उपस्थिति नहीं थी." (इनपुट-आईएएनएस)

टिप्पणियां

और खबरों के लिए क्लिक करें.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement