Diwali 2020: कब है दिवाली का त्योहार, जानें पूजा का शुभ मुहूर्त-विधि, महत्व और बनाएं ये खास रेसिपीज

Diwali 2020: दिवाली के दिन भगवान राम लंका पर विजय पाकर माता सीता को लेकर 14 वर्षों का बनवास काट कर वापस आयोध्या आए थे. इसी शुभ अवसर पर हर साल दिवाली मनाई जाती है

Diwali 2020: कब है दिवाली का त्योहार, जानें पूजा का शुभ मुहूर्त-विधि, महत्व और बनाएं ये खास रेसिपीज

Diwali 2020: दिवाली के मौके पर लोग अपने घरों की साफ सफाई करते हैं.

खास बातें

  • दिवाली को दीपावली भी कहा जाता है.
  • काजू की बर्फी बहुत ही लोकप्रिय मिठाई है
  • कचौड़ी उत्तर भारत में बहुत लो​कप्रिय है

Diwali 2020: इस साल (November) 14 नवंबर को दिवाली का त्योहार मनाया जाएगा. दिवाली एक ऐसा फेस्टिवल है जिसे पूरे देश में बड़े घूम-धाम से मनाया जाता है. दिवाली की तैयारी अभी से शुरू कर दी गई है. जगह-जगह लोग उत्साहित नजर आ रहे हैं. इतना ही नहीं, दिवाली को लेकर लोगों ने शॉपिंग भी शुरू कर दी है. जहां कपड़ों की दुकानों पर भीड़ नज़र आने लगी है, तो वहीं सजावट की दुकानों पर भी अलग-अलग तरीके के डेकोरेटिव लाइट्स मिलने लगे हैं. दिवाली को दीपावली भी कहा जाता है. दिवाली के मौके पर लोग अपने घरों की साफ सफाई करते हैं, दिवाली के दिन अलग अलग तरह से अपने घरों की सजावट करते हैं. और कई तरह के पकवान बनाएं जाते हैं. तो चलिए जानते दिवाली के बारे में.

कब है दिवाली का पर्वः

इस साल, दिवाली 14 नवंबर, 2020 (शनिवार) को पड़ेगी. दिवाली का उत्सव 13 नवंबर से शुरू होता है, इस दिन धनतेरस (शुक्रवार) होगा. 15 नवंबर (रविवार) को गोवर्धन पूजा और 16 नवंबर (सोमवार) को भैया दूज भी मनाया जाता है.

क्यों मनाई जाती है दिवालीः

दिवाली के दिन भगवान राम लंका पर विजय पाकर माता सीता को लेकर 14 वर्षों का बनवास काट कर वापस आयोध्या आए थे. इसी शुभ अवसर पर हर साल दिवाली मनाई जाती है. दिवाली धनतेरस के दिन से शुरू होती है. धनतेरस के अगले दिन छोटी दीवाली मनाई जाती है. अगले दिन अमावस्या तिथि को मां लक्ष्मी की पूजा होती है. लेकिन इस बार दोनों दिवाली यानि छोटी दिवाली और लक्ष्मी पूजन एक ही दिन पड़ रहे हैं.

दिवाली पूजा का शुभ मुहूर्तः  

इस बार मां लक्ष्मी और गणेश की पूजा 14 नवंबर (शनिवार को होगी). पूजा का शुभ मुहूर्त 17:28 से 19:24 तक रहेगा. 
पूजा करने की शुभ समय अवधि 1 घण्टा 56 मिनट की होगी. 
प्रदोष काल 17:28 से 20:07 तक रहेगा. वहीं, वृषभ काल 17:28 से 19:24 तक रहेगा. 
इस साल अमावस्या 14 नवंबर को 14:17 बजे से शुरू होगी और 15 नवंबर को 10:36 बजे तक रहेगी.

दिवाली को स्पेशल बनाने के लिए ट्राई ये 5 रेसिपीः 

unique desserts of india

हिन्दू घर्म में ज्यादातर त्योहारो में तरह-तरह के पकवान और मिठा बनाया जाता है.  

हिन्दू धर्म में बात जब त्योहारों की हो और वहां पर पकवानों की बात ना हो ऐसा हो ही नहीं सकता! हिन्दू घर्म में ज्यादातर त्योहारो में तरह-तरह के पकवान और मिठा बनाया जाता है. और उन्हीं त्योहारों में से एक है दिवाली का त्योहार जिसमें भिन्न-भिन्न प्रकार के व्यंजन बनाएं जाते हैं. इन पकवानों के साथ दिवाली को बहुत ही खुशी के साथ मनाया जाता है. दिवाली को और खास बनाने के लिए आप इन व्यंजन को अपनी लिस्ट में एड कर सकते हैं. काजू कतली, बूंदी के लड्डू, बेसन की बर्फी समोसा आदि. 

1. काजू की बर्फी रेसिपी :

काजू की बर्फी बहुत ही लोकप्रिय मिठाई है दिवाली जैसे बड़े-बड़े त्योहारों में हर घर में आपको काजू की बर्फी देखने को मिलेगी. काजू की बर्फी को काजू कतली भी कहा जाता है. यह एक ऐसी मिठाई है जिसे आप आसानी से घर भी बना सकते हैं. रेसिपी के लिए यहां क्लिक करें.

2.  बेसन के लड्डू रेसिपीः

उत्तर भारत में बेसन के लड्डू काफी लोकप्रिय है. आज हम आप बताने जा रहे है बेसन की बर्फी की बेहतरीन रेसिपी. बाजार से लेकर तो आपने कई बार बेसन की बर्फी खाई होगी लेकिन घर पर बनाई गई बेसन की बर्फी की बात ही अलग है घर पर आसानी से बेसन के लड्डू बनाने के लिए. यहां क्लिक करें.

3. बूंदी के लड्डू रेसिपीः

ये एक ऐसे तरह का लड्डू होता है. जो शादी और दिवाली के टाइम पर ही घरों में सब से ज्यादा पसंद किया जाता है. वैसे तो आप इसे किसी भी टाइम खाकर अपना मुंह मीठा कर सकते हैं, लेकिन सीजन में इस लड्डू को खाने का अपना ही एक अलग टेस्ट है. रेसिपी के लिए यहां क्लिक करें.

4. दाल कचौड़ी रेसिपी: 

कचौड़ी का नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है. कचौड़ी एक लाजवाब स्नैक है जिसे भारतीय बड़े ही शौक से खाते हैं. कचौड़ी उत्तर भारत में बहुत लो​कप्रिय है, खासतौर पर राजस्थान में. यह इतना बढ़िया स्नैक है कि घर आए मेहमनों के सामने भी सर्व किया जा सकता है. दाल कचौड़ी रेसिपी के लिए यहां क्लिक करें.

5.आलू समोसा रेसिपी:

Newsbeep

समोसा भारत के प्रसिद्ध स्ट्रीट फूड में से एक है. शाम की चाय के साथ अगर समोसा मिल जाए तो उसका मजा दोगुना हो जाता है. समोसे की बाहरी परत कुरकुरी होती है और इसके अंदर आलू और मटर के मिश्रण की स्टफिंग करके डीप फ्राई किया जाता है. समोसे की रेसिपी के लिए यहां क्लिक करें.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.