NDTV Khabar

Dussehra 2019: दशहरा कब है? क्यों इस दिन खाते हैं जलेबी, जानें विजयादशमी की तिथि, मुहूर्त, महत्व और जलेबी की विधि

Dussehra 2019: दशहरा कब है? बता दें कि दशहरा 8 अक्टूबर को मनाया जाएगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Dussehra 2019: दशहरा कब है? क्यों इस दिन खाते हैं जलेबी, जानें विजयादशमी की तिथि, मुहूर्त, महत्व और जलेबी की विधि

Dussehra 2019: दशहरा कब है? बता दें कि दशहरा 8 अक्टूबर को मनाया जाएगा.

Dussehra 2019: अगर आप भी इस सवाल का जवाब तलाश रहे हैं कि दशहरा कब है, तो हम आपको बता दें कि 2019 में दशहरा 8 अक्टूबर को है. दशहरा को बुराई पर अच्छाई की जीत प्रतीक माना जाता है. इसलिए ही इसे विजयादशमी या आयुध-पूजा (Vijayadashami 2019) भी कहा जाता है. दशहरा त्योहार के दौरान देश में माहौल बहुत ही रोशनी भरा रहता है. जगह-जगह बने दूर्गा पूजा के पंडाल लगे होते हैा. खूब सारा यमी और टेस्टी फूड भी होता है. दशहरा के 20वें दिन दीवाली (Deewali 2019) मनाई जाती है. 2019 में आश्विन शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि 8 अक्टूबर को मंगलवार के दिन पड़ रही है. पुराणों के अनुसार रावण को पराजित कर आज ही के दिन राम ने विजय पताका लहराई थी. इसके बाद जब 20 दिन बाद वे अयोध्या लौटे थे तो लोगों ने उनके राह में दीप जलाकर रौशनी की थी इसलिए ही इस दिन को दीपावली के तौर पर मना जाता है. इस बार विजयदशमी या दशहरा 8 अक्टूबर, मंगलवार को है.

Karwa Chauth 2019: क्या होती है सरगी, करवाचौथ की सरगी में क्या खाएं, कैसी हो आपकी Sargi Thali

दशहरा कब है, मुहूर्त और समय | Dussehra 2019: Date, Time and Muhurt


विजय मुहूर्त: 8 अक्टूबर दोपहर 01.42 से लेकर 02.29
दशमी तिथि की शुरुआत: दोपहर 12:39 (7 अक्तूबर)
दशमी तिथि की समाप्ति- 14:50 (8 अक्तूबर)

कैसे मनाते हैं दशहरा | How to Celebrate Dussehra

रेस्तरां में नवरात्रि स्पेशल फूड (Navratri 2018) और पूरी-चना-हलवे (Poori-Halwa and Chana) के साथ कंजक पूजन (Kanjak, kanya pujan) आदि का हर कोई बेसब्री से इंतजार करता है. पश्चिमी भारत में नवरात्रि को डांस फेस्टिवल के रूप में भी मनाया जाता है, गुजरात में गरबा (Garba) और महाराष्ट्र में डांडिया (Dandia). हाल के वर्षों में डांडिया फीवर देशभर में फैल चुका है, शायद बॉलीवुड फिल्मों में गरबा/डांडिया गाने-डांस ही इसका मुख्य कारण है.

Durga Puja 2019: कब है दुर्गा पूजा, महत्व, क्या हो मां के प्रसाद में खास, और दोस्तों को भेजें ये खास SMS और Wishes


दशहरा का महत्व | Importance Of Dussehra

यह त्यौहार भगवान श्री राम की कहानी तो कहता ही है जिन्होंने लंका में 9 दिनों तक लगातार चले युद्ध के पश्चात अंहकारी रावण को मार गिराया और माता सीता को उसकी कैद से मुक्त करवाया. वहीं इस दिन मां दुर्गा ने महिषासुर का संहार भी किया था इसलिए भी इसे विजयदशमी के रुप में मनाया जाता है और मां दूर्गा की पूजा भी की जाती है. माना जाता है कि भगवान श्री राम ने भी मां दूर्गा की पूजा कर शक्ति का आह्वान किया था, भगवान श्री राम की परीक्षा लेते हुए पूजा के लिए रखे गये कमल के फूलों में से एक फूल को गायब कर दिया. चूंकि श्री राम को राजीवनयन यानि कमल से नेत्रों वाला कहा जाता था इसलिये उन्होंनें अपना एक नेत्र मां को अर्पण करने का निर्णय लिया ज्यों ही वे अपना नेत्र निकालने लगे देवी प्रसन्न होकर उनके समक्ष प्रकट हुई और विजयी होने का वरदान दिया. माना जाता है इसके पश्चात दशमी के दिन प्रभु श्री राम ने रावण का वध किया. भगवान राम की रावण पर और माता दुर्गा की महिषासुर पर जीत के इस त्यौहार को बुराई पर अच्छाई और अधर्म पर धर्म की विजय के रुप में देशभर में मनाया जाता है.

dussehra

Dussehra 2019: दशहरा 8 अक्टूबर को है. 

Diabetes and Weight Loss: डायबिटीज का वजन पर पड़ रहा है असर? यहां हैं कंट्रोल करने के टिप्स


क्यों मनाते हैं दशहरा या विजयादशमी | Dussehra or Vijayadashami - Why Do We Celebrate It?

दशहरा को विजयदशमीं (Vijayadashami) के नाम से भी जाना जाता है. मान्यता है कि इसी दिन मां दुर्गा (Maa Durga) ने राक्षक महिषासुर का वध किया था. इसके अलावा इसी दिन राम की रावण पर भी जीत हुई थी. माना जाता है कि देवी दूर्गा ने नौ दिनों तक महिषासुर से लड़ाई की थी. दसवें दिन, जिसे दशमी (Dashmi) भी कहते हैं उन्हें विजय हासिल हुई थी.

Navratri 2019: अष्टमी के दिन क्यों बनाते हैं साबूदाना? जानें रेसिपी, अष्टमी का महत्व, पूजा का समय

क्यों खाते हैं दशहरे के दिन जलेबी | Why do people eat jalebi on dussehra?

दशहरे पर जब भी आप कभी रावण दहन देखने गए होंगे तो देखा होगा कि आसपास जलेबी के बहुत से स्टॉल होते हैं. तो कभी आपने सोचा है कि दशहरे वाले दिन लोग जलेबी क्यों खाते हैं और रावण दहन के बाद जलेबी लेकर घर क्यों जाते हैं. कहते हैं कि राम को शश्कुली नामक मिठाई बहुत पसंद थी. जिसे आजकल जलेबी के नाम से जाना जाता है. इसलिए रावण पर विजय के बाद जलेबी खाकर खुशी मनाई जाती है. तो क्यों न इस बार दशहरे को थोड़ा और बेहतर तरीके से मनाया जाए और जलेबी को घर पर ही बनाया जाए. कैसे बना सकते हैं आप फटाफर स्वादिष्ट जलेबी हम आपको बताते हैं. 

Karwa Chauth 2019 Date: 17 अक्टूबर को है करवाचौथ, पढ़ें व्रत और पूजा विधि, करवा चौथ की तैयारियां, कैसे खोलें करवाचौथ का व्रत और फास्टिंग टिप्स

kesari jalebi recipe

Jalebi on Dussehra: दशहरे के दिन जलेबी की खूब खाई जाती है. 

केसरी जलेबी रेसिपी : जलेबी एक ऐसी मिठाई है, जो भारत में काफी मशहूर है. सर्दियों के मौसम में खाने के बाद अगर गर्मागर्म जलेबी मिल जाए तो बस मजा ही आ जाता है. जलेबी केसरी या पीले रंग की एक पारंपरिक मिठाई है जिसे दशहरा, दिवाली या अन्य खास अवसरों पर भारतीय घरों में बनाया जाता है. यह खाने में कुरकुरी होती है जिसकी वजह से सिर्फ बड़े ही नहीं बल्कि बच्चे भी चाव से खाते हैं. अगर आप ​भी इस त्योहार के सीजन में घर पर जलेबी बनाना चाहते हैं तो हमारी यह रेसिपी आपके काम आ सकती है. आप जलेबी की रेसिपी यहां पढ़ सकते हैं.

टिप्पणियां

और खबरों के लिए क्लिक करें.

Quick And Hassle-Free Recipe: सुबह के नाश्ते में फटाफट बनाएं आलू ब्रेड, यहां देखें रेसिपी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement