NDTV Khabar

Chandra Grahan 2019: साल का पहला सुपर ब्लड मून, चंद्र ग्रहण के दौरान खाने से जुड़ी मान्यताएं

Lunar Eclipse in January 2019: आज यानी 21 जनवरी को साल 2019 का पहला चंद्र ग्रहण था. इस ग्रहण में ग्रहण में चंद्रमा का रंग लाल होता है इसलिए इसे सुपर ब्लड मून (Super blood wolf moon) कहा जाता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
<i>Chandra Grahan 2019</i>: साल का पहला सुपर ब्लड मून, चंद्र ग्रहण के दौरान खाने से जुड़ी मान्यताएं

Chandra Grahan : आज यानी 21 जनवरी को साल 2019 का पहला चंद्र ग्रहण था.

New Delhi:

Lunar Eclipse 2019: आज साल 2019 का पहला पूर्ण चंद्र ग्रहण लगा. यह ग्रहण भारत में दिखाई नहीं दिया. चंद्र ग्रहण का समय सुबह-सुबह का रहा. आज सुबह 10.41 मिनट पर लगे इस ग्रहण (Chandra Grahan) को पूरे पश्चिमी गोलार्ध, उत्तरी अमेरिका, सेंट्रल अमेरिका और दक्षिणी अमेरिका में देखा जा सका. ऑस्ट्रेलिया और एशिया में ये नहीं दिखा. अगर आप यह जानना चाहते हैं कि साल 2019 में कितने और कब-कब चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan 2019) होंगे, तो आपको बता दें कि यह साल का पहला और आखिरी पूर्ण चंद्र ग्रहण है. आज यानी 21 जनवरी को साल 2019 का पहला चंद्र ग्रहण था. इस ग्रहण में ग्रहण में चंद्रमा का रंग लाल होता है इसलिए इसे सुपर ब्लड मून (Super blood wolf moon) कहा जाता है. 21 जनवरी को लगने वाला साल का पहला चंद्र ग्रहण साढ़े 3 घंटे का रहा. इसके बाद अगला पूर्ण चंद्र ग्रहण (Poorna Chandra Grahan) दो साल बाद 29 मई 2021 में होगा. 

 


 

सुपर चंद्र ग्रहण 2019 का समय (Lunar Eclipse Time Today (21, January)

ग्रहण आरम्भ- सुबह 09:04 पर.
ग्रहण मध्य- परम ग्रास- सुबह 10:42 पर. 
ग्रहण स्पर्श समाप्त- सुबह 11:13 पर. 
ग्रहण समाप्त- दोपहर 12:21 पर . 

कैसे होता है पूर्ण चंद्र ग्रहण? (Lunar Eclipse Occurs)

चलिए अब जानते हैं कि चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) होता कैसे है. यह तो आप जानते ही हैं कि पृथ्वी सूरज की परिक्रमा करती है. इस प्रक्रिया में जब कभी पृथ्वी अपने उपग्रह चंद्रमा और सूरज के बीच आ जाती है तो चांद पर पड़ने वाली सूरज कह किरणें रुक जाती हैं और धरती की प्रच्छाया चांद पर पड़ती है. इसी खगोलीय घटना से चांद का दिखना बंद हो जाता है और इसे ही चंद्र ग्रहण कहते हैं. 

Kumbh 2019: प्रयागराज के 6 मशहूर फूड अड्डे, जहां जाना तो बनता है...

 

चंद्र ग्रहण के दौरान खाने से जुड़ी मान्यताएं - (Lunar Eclipse Beliefs)

1. हिंदू मान्यता के अनुसार चंद्रग्रहण (Chandra Grahan) के दौरान भोजन नहीं करना चाहिए. लोगों में यह मिथ है या कहें कि मान्यमा है कि इस दौरान खाना खाने वाला इंसान करने वाला नर्क में जाता है.
2. मान्यता है कि ग्रहण के दौरान अगर पानी पीने की जरूरत है तो उसमें या तो तिल डाल लें या फिर कुश, दूब या तुलसी के पत्ते जरूर डाल लें.
3. ज्यादातर हिंदू घरों में ग्रहण प्रारंभ होने से पहले खाने के सामान, पानी और अन्य भोज्य पदार्थों में दूब या तुलसी की पत्तियां डाल दी जाती हैं. माना जाता है कि ऐसा करने से खाना अशुद्ध नहीं होता.
4. कहते हैं कि चन्द्र ग्रहण में तीन प्रहर पूर्व आहार नहीं लेना चाहिए.


चंद्र ग्रहण के दौरान खान-पान पर क्या कहता है विज्ञान (Is Eating Food During Lunar Eclipse Harmful)

Lunar eclipse science: चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) के संबंध में कई मिथक हैं, जो लोगों के बीच फैले हुए हैं. लोगों में यह मान्यता है कि विषाक्त विकिरणों की वज़ह से पर्यावरण में विषाणु फैलते हैं, जो खाने को दूषित करते हैं. यही वज़ह है कि लोग ग्रहण के वक्त फलों, सब्जियों को काटने से भी बचते हैं.

Weight Loss: प्रोटीन से भरपूर ये देसी ब्रेकफास्ट रेसिपी घटाएगी मोटापा...

प्रोटीन से भरपूर ये 3 ड्राई फ्रूट्स बैली फैट घटाने में कर सकते हैं आपकी मदद

 


मान्यताओं के अनुसार आहार से जुड़ी वो बातें जो आपको ग्रहण के दौरान ध्यान में रखनी जरूरी हैं

- इस दौरान हल्का सात्विक भोजन ले सकते हैं. जो पचने में आसान हो और पेट के लिए भी हल्के हों. इस दौरान खाने में आप मेवे ले सकते हैं. यह कम मात्रा में खाने पर भी शरीर को पूरी एनर्जी देंगे. 

- क्या ग्रहण के दौरान पानी पी सकते हैं? : इस दौरान पानी पीने से भी बचना चाहिए. क्योंकि न होने के चलते बैक्टिरीया एक्टिव होते हैं. अगर आप बीमार हैं या आप गर्भवती हैं तो आप हल्का गर्म पानी पी सकते हैं. इसमें 8-10 बूंदे तुलसी का जूस या पत्ते ड़ाल कर उबाल सकते हैं. इसके साथ ही अगर आप सादा पानी नहीं पीना चाहते तो नारियल का पानी पी सकते हैं. सबसे बेहतर यह होगा कि आप ग्रहण से पहले ही अच्छी मात्रा में पानी पी लें.

हरड़ के फायदे: बवासीर, कब्ज और सूजन समेत कई रोगों को करती है दूर, पढ़ें

- ग्रहण के दौरान क्या न खाएं! : मान्यता के अनुसार इस दौरान नॉन-वेज आहार बिलकुल नहीं लेना चाहिए. इस दौरान एल्कॉहोल, खमीर और हाई प्रोटीन फूड भी नहीं लेना चाहिए. यह पचाने में बहुत ही मुश्किल होता है.

- ग्रहण के बाद क्या करें: ग्रहण के बाद आप अपनी सामान्य डाइट पर आ सकते हैं. इसके बाद फल खाना अच्छा साबित होगा. यह इसलिए अच्छा होता है क्योंकि फलों में काफी मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो शरीर को डिटॉक्स करने में मदद करेंगे और एनर्जी बूस्ट होगी.

टिप्पणियां


और खबरों के लिए क्लिक करें.

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement