NDTV Khabar

How to lower cholesterol levels? कोलेस्ट्रॉल लेवल कम करना है तो इन 3 चीजों से रहें दूर

कोलेस्ट्रॉल खून (Additional cholesterol) में पाई जाने वाली फैट यानी वसा को कहा जाता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
How to lower cholesterol levels? कोलेस्ट्रॉल लेवल कम करना है तो इन 3 चीजों से रहें दूर

खास बातें

  1. आप किस वसा का सेवन कर रहे हैं, यह मायने रखता है.
  2. कोलेस्ट्रॉल शरीर की कोशिकाओं में पाया जाने वाला एक पदार्थ है
  3. मानव शरीर कुछ मात्रा में कोलेस्ट्रॉल का निर्माण करता है

Natural Ways to Lower Your Cholesterol Levels: वसा संतुलित आहार का अहम हिस्सा है, लेकिन कोलेस्ट्रॉल स्तर को लेकर आप किस तरह के वसा का सेवन कर रहे हैं, यह मायने रखता है. ऐसे में स्वास्थ्य संबंधी दिक्कत पैदा करने वाले वसा से बचना चाहिए. जैपफ्रेश में आहार सलाहकार मनोज आचार्य व फिटपास में पोषण व आहार विशेषज्ञ मेहर राजपूत ऐसी भोज्य पदार्थ के बारे में बता रहे हैं, जिसमें ट्रांस फैट होती और यह हमारे स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह हैं. कोलेस्ट्रॉल शरीर की कोशिकाओं में पाया जाने वाला एक पदार्थ है, जो भोजन को पचाने और हार्मोन का उत्पादन करने में मदद करता है. मानव शरीर कुछ मात्रा में कोलेस्ट्रॉल का निर्माण करता है जिसकी शरीर को जरूरत होती है और इसके अलावा अतिरिक्त या ज्यादा कोलेस्ट्रॉल (Additional cholesterol) को शरीर पर बोझ माना जाता है. यानी इसे शरीर के लिए ठीक नहीं माना जाता. यह रक्त (bloodstream) में वसा और प्रोटीन से बने बंडल या गांठ की तरह रहता और प्रवाह करता है. कोलेस्ट्रॉल खून (Additional cholesterol) में पाई जाने वाली फैट यानी वसा को कहा जाता है. एक मानक के तौर पर किसी भी उम्र के स्त्री-पुरुष में कोलेस्ट्रॉल का स्तर 200 एमजी/डीएल से नीचे होना चाहिए. कोलेस्ट्रॉल के अत्यधिक निर्माण से अक्सर खतरनाक हृदय रोग हो सकते हैं. जब कोलेस्ट्रॉल की बात आती है, तो उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एचडीएल) कोलेस्ट्रॉल (Lipoprotein (HDL) cholesterol) का जिक्र करना भी लाजमी है. 

 


 

5t7rm6r

गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का सबसे अच्छा तरीका होता है नियमित व्यायाम करना. Photo Credit: iStock


 

हम आपको बता रहे हैं ऐसे 3 आहारों के बारे में जिनको अनदेखा करें - (Foods to Buy or Avoid If You Have Low or High HDL) 

 

1. केक, समोसे और कुकीज : 

ज्यादातर केक और कुकीज के लेबल पर मिश्रण में शून्य ग्राम ट्रांस वसा लिखी होती है, लेकिन इसमें एक चाल है. यदि ट्रांस वसा सामग्री 0.5 ग्राम से कम है तो निर्माता इसे शून्य ग्राम लिख सकते हैं. इसकी मात्रा फ्रॉस्टिंग में रखी हुई मिठाई खाने से बढ़ जाती है. औसतन फ्रॉस्टिंग वाले पदार्थो में 2 ग्राम ट्रांस वसा होती है और इतनी ही मात्रा में चीनी होती है.

 

2. बिस्कुट : 

इसकी बात करने से बहुत से लोगों को आश्चर्य हो सकता है. लेकिन बिस्कुट में 3.5 ग्राम ट्रांस वसा होता है. इसमें रोजाना लिए जरूरी सोडियम की आधी मात्रा होती है.

 

3. कृत्रिम मक्खन : 

ज्यादा मक्खन निर्माताओं ने अपने अवयवों में से ट्रांस वसा को हटा दिया है. लेकिन आप को इसकी जांच करनी चाहिए. अभी भी कुछ 3ग्राम की ट्रांस वसा की मात्रा रखते हैं. 

इसके अलावा आपकों फ्रेंच फ्राइज या फ्राइड चिकन के उपयोग के समय यह ध्यान रखें कि यह वनस्पति घी या हाड्रोजनेटेड वसा में तली जाएं. इसके साथ ही आपको फ्रोजेन खाद्य पदार्थ, आइसक्रीम व पॉपकार्न के सेवन के दौरान भी ट्रांस वसा का स्तर देखना चाहिए.

और खबरों के लिए क्लिक करें.

 

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement