NDTV Khabar

Kajari Teej 2019: तीज पर बनने वाले पकवानों की विधि, जानें कब है कजरी तीज, तिथि, व्रत कथा, पूजन विधि और मुहूर्त

हरियाली तीज (Hariyali Teej) या श्रावणी तीज भी कहा जाता है. अक्सर लोग हरियाली तीज कब की है, कजरी तीज, कब है, कजरी तीज 2019, हरियाली तीज कब है, हरियाली तीज २०१९, कजरी तीज का महत्व, हरियाली तीज की कथा और कजरी तीज पूजा विधि, हरियाली और कजरी तीज आरती और हरियाली तीज आहार के बारे में जानना चाहते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Kajari Teej 2019: तीज पर बनने वाले पकवानों की विधि, जानें कब है कजरी तीज, तिथि, व्रत कथा, पूजन विधि और मुहूर्त

कजरी तीज 2019 अगस्त में 18 तारीख को है.

Kajari Teej 2019: कजरी तीज 2019 अगस्त में 18 तारीख को है. 18 अगस्त के दिन रविवार है. कजरी तीज के मौके पर तीज के गीत गाए जाते हैं. हिन्‍दू धर्म में तीज पर्व का अपना अगल महत्व है. तीज पति-पत्‍नी के प्रेम का प्रतीक है. इस दिन सुहागिन अपने पति की लंबी उम्र के लिए निर्जला व्रत रखती है. इतना ही नहीं अविवाहित लड़कियां भी इस दिन व्रत रखती हैं. माना जाता है कि इस दिन व्रत रखने से मनचाहा जीवनसाथी मिलता है. पूरे साल में चार बार तीज आती है. इनमें से एक है हिरयाली तीज जोकि हरियाली तीज 2019 (Hariyali Teej 2019), श्रावण मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को होती है. हरियाली तीज 2019 इस साल 3 अगस्त को, तो कजरी तीज 18 अगस्त को है. हरियाली तीज (Hariyali Teej) या श्रावणी तीज भी कहा जाता है. अक्सर लोग हरियाली तीज कब की है, हरियाली तीज, कब है हरतालिका तीज, हरियाली तीज 2019, हरियाली तीज कब है, हरियाली तीज २०१९, हरियाली तीज का महत्व, हरियाली तीज की कथा और हरियाली तीज पूजा विधि, हरियाली तीज आरती और हरियाली तीज आहार के बारे में जानना चाहते हैं. कजरी तीज (Kajri Teej 2019) का विशेष महत्‍व है. कजरी तीज उत्तर प्रदेश, मध्‍य प्रदेश, बिहार और राजस्‍थान में मनाया जाता है. तो चलिए आपको बताते हैं कजरी तीज के बारे में. 

Sawan Shivratri 2019: कब है सावन शिवरात्रि? जानें पूजा विधि, शुभ मुहूर्त, महत्व और शिव को चढ़ाएं ये भोग


Nag Panchami 2019: कब है नाग पंचमी, मान्यताएं और भोजन से जुड़े रिवाज, पढ़ें सेंवई बनाने की विधि

कजरी तीज 2019: तिथि, व्रत की कथा, पूजन विधि, शुभ मुहूर्त और आहार

कजरी तीज व्रत की पूजन विधि 

मान्यता है कि कजरी तीज के दिन ही मां पार्वती ने भगवान शिव को पाने के लिए कठोर तपस्या का फल प्राप्त किया था. यही वजह है कि इस दिन शिव और पार्वती दोनों की ही उपासना की जाती है. माना जाता है कि इस दिन व्रत करने से मनचाहा वर मिलता है. कजरी तीज के दिन पूजा विधि के बारे में हम आपको पूरी जानकारी देते हैं. इस दिन सुबह नहा धोकर पूजा करने का विधान है. इस दिन पूजा से पहले मिट्टी से शिव-पार्वती बनाने का प्रावधान है. उनके साथ ही भगवान की भी मूर्ति बनाई जाती है. इसके बाद सुहाग का सामान मां पार्वती केा चढ़ाया जाता है. और मान्यता के अनुसार पूजा समाप्त करें.

Raksha Bandhan 2019: कब है रक्षा बंधन, राखी बांधने का शुभ मुहूर्त और फूडी भाई के लिए बेस्ट गिफ्ट आईडिया

कजरी तीज 2019 का शुभ मुहूर्त

तृतीया आरम्भ: अगस्त 18, 2019 को 22:50:07 से 
तृतीया समाप्त: अगस्त 19, 2019 को 01:15:15 को

ssrn0t6

Happy Teej 2019 Wishes, Quotes, SMS: तीज के मौके पर लोग एक दूसरे को शुभकामनाएं और संदेश भेजते हैं. 

कजरी तीज पर कैसे दें चंद्रमा को अर्घ्य

कजरी तीज पर शाम के सामय पूजा के बाद चांद को अर्घ्य दिया जाता है. माना जाता है कि चंद्रमा को जल के छींटे देकर रोली, मोली, अक्षत चढ़ायें और भोग अर्पित करने से व्रत पूरा होता है.

Hariyali Teej 2019: कब है हरियाली तीज? जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, व्रत कथा और व्रत के आहार

कजरी तीज की कथा

कजरी तीज के लिए बहुत सी कहानियां कही जाती हैं. इन्हीं में से एक हम आपको बताते हैं. इस कहानी के अनुसार एक गांव में एक गरीब ब्राह्मण रहता था. एक दिन ब्राह्मण की पत्नी ने कजरी तीज का व्रत रखा और पति से कहा को बताया कि उसने आज कजरी माता का व्रत किया है. इसलिए आप मेरे लिए चने का सत्तू ले आएं. लेकिन ब्राह्मण गरीब था और सोच रहा था कि बिना पैसों के सत्तू कहां से लाय. ब्राह्मण एक साहुकार की दुकान पर पहुंचा. साहुकार गहरी नींद में सो रहा था. ब्राह्मण चुपचाप अंदर गया और सत्तू बनाकर लाने लगा. लेकिन जैसे ही ब्राह्मण दुकान से निकलने लगा साहुकार उठ गया और चिल्लाने लगे. इस पर ब्राह्मण ने कहा कि 'मैं चोर नहीं हूं मैं केवल सवा किलो सत्तू लेकर जा रहा हूं. क्योंकि आज मेरी पत्नी ने कजरी तीज का व्रत किया है और उसके लिए पूजा सामाग्री चाहिए.' इस पर ब्राह्मण की तालाशी ली गई और उसके पास से सचमुच कुछ नहीं मिला. 

इससे साहुकार का मन भर आया और उसने ब्राह्मण की पत्नी को बहन बना लिया और ब्राह्मण को गहने पैसे व सामान लेकर विदा किया. तभी से सभी कजरी तीज के व्रत का प्रधान है. 

Sawan 2019: कब से शुरू होगा सावन, पहला सोमवार, मान्यताएं और व्रत में खाने से जुड़ी जरूरी बातें

कजरी तीज पर घर में बनाएं ये पकवान- 

कजरी तीज पर आप घर में बहुत से पकवान बना सकते हैं. इस दिन खीर, पूरी, हलवा, घेवर, गुजिया, बादाम हलवा, काजू कतली, दाल बाटी चूरमा जैसे मिष्ठान बना सकते हैं. चलिए कुछ की विधि हम आपको बताते हैं- 

1. घेवर रेसिपी (Ghevar Recipe)
 

ghewar

Teej Recipes 2019: सावन या राखी का इंतजार करने की जरूरत नहीं है.

सावन और राखी के त्यौहार पर हर घर में मिलने वाला घेवर सभी को पसंद होता है. इसके लिए अब आपको सावन या राखी का इंतजार करने की जरूरत नहीं है. जी हां, इसे आप एक घंटे में घर में भी बना सकते हैं.


2. चावल की खीर रेसिपी (Rice kheer Recipe)

rice kheer recipe

Kajari Teej 2019: खीर एक बहुत ही लोकप्रिय डिज़र्ट है. 

खीर का नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है, अक्सर भारत में त्योहारों और खुशी के मौकों पर खीर बनाई जाती है. खीर एक बहुत ही लोकप्रिय डिज़र्ट है और इसे ठंडा करके खाने का स्वाद ही अलग है. आप भी चावल की खीर की इस रेसिपी के साथ घर पर इस बनाकर ट्राई कर सकते हैं.

3. काजू की बर्फी रेसिपी (Kaju ki barfi Recipe)

kaju barfi

Kajari Teej 2019: तीज और त्योहार पर मीठा बनाना भारतीय परंपरा में शामिल है. 

काजू की बर्फी बहुत ही लोकप्रिय मिठाई है दिवाली जैसे बड़े-बड़े त्योहारों में हर घर में आपको काजू की बर्फी देखने को मिलेगी. काजू की बर्फी को काजू कतली भी कहा जाता है. यह एक ऐसी मिठाई है जिसे आप आसानी से घर भी बना सकते हैं.

4. मावा गुजिया रेसिपी (Mawa gujiya Recipe)

gujiya

Kajari Teej 2019: गुजिया बनाने की विधि यहां पढ़ें. 

टिप्पणियां


आप चाहे तो स्वादिष्ट गुजिया को आसानी से घर पर बना सकते हैं. साराभाई डॉट कॉम एक्सपर्ट्स द्वारा बनाई गई मावा गुजिया की रेसिपी बहुत ही आसान और इसे स्टेप बाय स्टेप फॉलो करके घर पर टेस्टी मावा गुजिया बना सकते हैं.

और खबरों के लिए क्लिक करें.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement