NDTV Khabar

Lunar Eclipse: 4 घंटे का होगा चंद्र गहण, जानें भारत में कहां और कब लगेगा, खाने को लेकर ये हैं मान्यताएं, बरतें सावधानी

Chandra Grahan (Lunar Eclipse) 2020: चंद्र ग्रहण कब है? ये सवाल आपके मन में भी हिलोरे मार रहा होगा. आपको बता दें इस साल का पहला चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse 2020) 10 जनवरी को लगने जा रहा है. ग्रहण को एशिया, यूरोप, अफ्रिका और ऑस्ट्रेलिया में भी देखा जा सकेगा.  चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) काल 10 जनवरी रात 10:37 बजे से शुरू हो जाएगा. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Lunar Eclipse: 4 घंटे का होगा चंद्र गहण, जानें भारत में कहां और कब लगेगा, खाने को लेकर ये हैं मान्यताएं, बरतें सावधानी

2020 Chandra Grahan: 10 जनवरी को लगेगा इस साल का पहला चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse)

खास बातें

  1. चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) में खाने से जुड़ी हैं ये मान्याएं.
  2. इस बार चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) है खास, नहीं होगा सूतक काल.
  3. यहां जानें चंद्र ग्रहण के बारे में सबकुछ, भारत में दिखेगा इस समय.

Chandra Grahan (Lunar Eclipse) 2020: चंद्र ग्रहण कब है? ये सवाल आपके मन में भी हिलोरे मार रहा होगा. आपको बता दें इस साल का पहला चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse 2020) 10 जनवरी को लगने जा रहा है. ग्रहण को एशिया, यूरोप, अफ्रिका और ऑस्ट्रेलिया में भी देखा जा सकेगा.  चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) काल 10 जनवरी रात 10:37 बजे से शुरू हो जाएगा. जो अगले दिन 2:42 बजे सुबह तक चलेगा. इस चंद्र ग्रहण की अवधि कुल 4 घंटे 5 मिनट तक है. अगर आप सोच रहे हैं कि चंद्र ग्रहण क्या होता है तो बता दे यह एक खगोलीय घटना होती है, जिसमें चांद पृथ्वी ठीक पीछे होता है. हिंदू मान्यताओं के अनुसार चंद्र ग्रहण के दौरान भी कुछ सावधानियां (Precautions During Lunar Eclipse) बरतने की जरूरत होती है? उपच्छाया चंद्र ग्रहण होने से इसका सूतक नहीं माना जाएगा. पंचांग के अनुसार जो चंद्र ग्रहण नग्न आंखों से न दिखाई देता हो उसका सूतक नहीं माना जाता है. उपच्छाया चंद्र ग्रहण नंगी आंखों से न दिखाई देने से इसका प्रभाव नहीं माना जाएगा.  

गुणों की खान ये 5 चीजें हैं कैंसर से बचाव के लिए रामबाण! डाइट में शामिल कर बीमारियों को रखें दूर 


तेजी से वजन घटाने में इंटरमिटेंट फास्टिंग कमाल! मोटापा कम करने के साथ और भी हैं कई गजब फायदे

चंद्र ग्रहण कैसे लगता है (What Is a Lunar Eclipse?)

पूर्ण चंद्र ग्रहण तब लगता है, जब सूर्य और चंद्रमा के बीच पृथ्वी आ जाती है और अपने उपग्रह चंद्रमा को अपनी छाया से ढक लेती है. चंद्रमा इस स्थिति में पृथ्वी की ओट में पूरी तरह छिप जाता है और उस पर सूर्य की रोशनी नहीं पड़ पाती है और पृथ्वी की प्रच्छाया उस पर पड़ने लगती है, जिससे उसका दिखना बंद हो जाता है. इसी खगोलीय घटना को चंद्रग्रहण कहा जाता है.

6tnqcj4oChandra Grahan 2020: चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) के दौरान सावधानियां बरतनी चाहिए ऐसी मान्यता है

भारतीय समय के अनुसार कब दिखेगा चंद्र ग्रहण (When Will The Lunar Eclipse Be Seen According To Indian Time)

चंद्र ग्रहण लगभग 4 घंटे का होगा. भारतीय समय के अनुसार चंद्र ग्रहण 10 जनवरी की रात 10 बजकर 37 मिनट पर शुरू होगा और 11 जनवरी को 2 बजकर 42 मिनट पर खत्म होगा.

 चंद्रग्रहण 2020 का समय (Time Of Lunar Eclipse 2020)

ग्रहण काल शुरू होने का समय : 10 जनवरी की रात 10:39 से
ग्रहण काल का मध्‍य : 12:39 ए एम बजे. 
ग्रहण खत्म होने का समय : 2:40 ए एम बजे.

ग्रहण के दुष्प्रभावों से बचने के लिए क्या करें

वैसे तो ग्रहण के पीछे बैज्ञानिक कारण हैं, लेकिन धार्मिक मान्यताओं और हिंदू धर्म के अनुसार ग्रहण का विशेष महत्व होता है. ग्रहण काल को अशुभ माना जाता है. सूतक की वजह से इस दौरान कोई भी धार्मिक कार्य नहीं किया जाता है. इस चंद्र ग्रहण में सूत नहीं होगा तो आप पूजा पाठ कर सकते हैं. माना जाता है ग्रहण के बाद शुद्धीकरण के लिए नहाना चाहिए.

ये फल बढ़ा देते हैं शरीर में शुगर लेवल! डाइबिटीज के रोगी न दोहराएं ये गलती

साल 2020 के ग्रहण (Eclipse Of The Year 2020)

10-11 जनवरी - चंद्र ग्रहण
5 जून - चंद्र ग्रहण
21 जून - सूर्य ग्रहण
5 जुलाई - चंद्र ग्रहण
30 नवंबर - चंद्र ग्रहण
14 दिसंबर - सूर्य ग्रहण

j6pkr2ggLunar Eclipse) 2020: इस साल चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) का सूतक नहीं होगा

चंद्र ग्रहण से जुड़ी मान्यताएं

- माना जाता है कि गर्भवती महिलाओं को इस दौरान घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए.. 

- ग्रहण के दौरान खाना खाने और पकाने को भी मना किया जाता है. 

- मान्यता है कि ग्रहण के घर में बने खाने में तुसली की पत्तियां डालनी चाहिए इससे आप उसका दुबारा इस्तेमाल कर सकते हैं.

- माना जाता है कि ग्रहण के दौरान नकारात्मक शक्तियों का प्रभाव अधिक होता है, इसलिए हमेशा इस दौरान ईश्वर का ध्यान करना चाहिए.

- मान्यता है कि चंद्र ग्रहण के दौरान कुछ भी खाना-पीना नहीं चाहिए. 

- कहा जाता है कि जब भी चंद्र ग्रहण लगा हो, तो उस दौरान गर्भवती महिलाओं को सुई, चाकू, कैंची का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.

- चंद्र ग्रहण के बाद स्नान करने की भी मान्यता है.

सुबह खाली पेट गुड़ का सेवन गुनगुने पानी के साथ करने से होते हैं कई गजब के फायदे, पेट की समस्याएं होती है दूर!

चंद्र ग्रहण में खाएं या नहीं, जानें ग्रहण में खाने से जुड़ी मान्यताएं (Is eating Food During Solar Or Lunar Eclipse Really Harmful?)

1. माना जाता है कि ग्रहण शुरू होने के पहले या खत्म होने के बाद के दो घंटों में आप कुछ भी खा सकते हैं. ग्रहण खाने के पोषक तत्वों को प्रभावित कर सकता है ऐसी मान्यता है. इतना ही नहीं इस दौरान खाना पकाने से भी बचना चाहिए, लेकिन इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि बीमार लोगों को इस दौरान पूरी तरह से उपवास भी नहीं रखना चाहिए.

2. माना जाता है कि ग्रहण के दौरान हल्का सात्विक भोजन ले सकते हैं. जो पचने में आसान हो और पेट के लिए भी हल्के हों. इस दौरान खाने में आप मेवे ले सकते हैं. यह कम मात्रा में खाने पर भी शरीर को पूरी एनर्जी देंगे. 

3. कहते हैं पानी पानी में 8-10 बूंदे तुलसी का जूस या पत्ते ड़ाल कर उबाल सकते हैं. इसके साथ ही अगर आप सादा पानी नहीं पीना चाहते तो नारियल का पानी पी सकते हैं. सबसे बेहतर यह होगा कि आप ग्रहण से पहले ही अच्छी मात्रा में पानी पी लें.

और खबरों के लिए क्लिक करें

Healthy Diet: वजन घटाने, ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने, एसिडिटी, सर्दी-खांसी, आंखों की रोशनी के लिए कमाल हैं ये चीजें! जानें किस बीमारी क्या खाएं

टिप्पणियां

Benefits Of Seeds: इन बीजों को फेंककर आप भी करते हैं गलती! जानें कद्दू और अलसी के साथ कई और बीजों के फायदे



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... दिल्ली से सटे नोएडा में दूध का पैकेट चुराते CCTV कैमरे में कैद हुआ पुलिसवाला, देखें VIDEO

Advertisement