NDTV Khabar

क्या गर्म दूध के साथ शहद मिलाने से बन जाता है जहर! जानिए क्या है सच

Milk Honey Poison: कई लोग गर्म दूध में शहद डालने से होने वाले हानिकारक प्रभावों को गिनाते हैं. क्या ये दावे वाकई सच हैं? या सिर्फ एक झूठ. इससे पर्दा उठाया है हमारे आयुर्वेद ने जानने के लिए पढ़िए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्या गर्म दूध के साथ शहद मिलाने से बन जाता है जहर! जानिए क्या है सच

Disadvantage Of Honey: कुछ लोगों का मानना है कि गर्म शहद का सेवन घातक हो सकता है!

खास बातें

  1. कई लोग गर्म दूध के साथ शहद का सेवन न करने की सलाह देते हैं
  2. क्या वाकई शहद गर्म ड्रिंक्स के साथ हो सकता है घातक?
  3. आयुर्वेद ने बताया आखिर क्या है सच

Honey Milk: देर रात की बात है, जब मैं गर्म दूध (Hot Milk) के कप में शहद डाल रहा था और मम्मी का फोन आ गया. उन्होंने थोड़ी सी बात करने के बाद मुझसे पूछा कि मैंने अपने दूध में क्या डाला मैंने उन्हें शहद बताया तो उन्होंने मुझसे दूध फेंकने के लिए कहा. मम्मी जब अचानक बोला तो मैं भी घबरा गया, मैंने उनसे दूध फेंकने का कारण पूछा तो उन्होंने बताया कि उन्होंने उस दिन अखबार में पढ़ा था कि शहद को गर्म पेय पदार्थों के साथ मिलाने से न केवल शहद के स्वास्थ्य लाभ कम होते हैं, बल्कि यह विषाक्त भी हो जाता है! इस दावे पर मैं विश्वास नहीं कर पा रहा था. मैंने इसकी बारे में और जानकारी इकट्ठा करने की सोची तो माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट Quora पर कई सवास पूछे गए थे गर्म चीजों के साथ शहद मिलाने से इसके विषाक्त होने की चिंता जताई गई थी, जो जवाब मिले उनसे जानकारी तो मिली लेकिन अधूरी.

क्या शहद गर्म दूध में जहरीला हो जाता है?


शहद को लंबे समय तक हीलिंग गोल्डन लिक्विड के रूप में रखा जाता है, जिसमें कई औषधीय गुण होते हैं. कई अध्ययनों और प्रयोगों से साबित हुआ है कि कच्चा शहद प्रकृति में जीवाणु को मारने में सक्षम हो सकता है. यह स्वस्थ त्वचा (Healthy Skin) और बालों के लिए यहां तक कि छोटे घावों के उपचार के लिए कई घरेलू उपचारों में उपयोग किया जाता है. आयुर्वेद की प्राचीन भारतीय प्रथा ने भी इस तथ्य पर जोर दिया कि शहद को कभी भी गर्म करके नहीं खाना चाहिए.

honey with milk

Cold Milk And Honey: शहद को स्किन, बालों के लिए घरेलू उपचार के तौर पर उपयोग किया जाता. 

कुछ लोगों का मानना है कि गर्म शहद का सेवन घातक हो सकता है! ऐसा इसलिए है क्योंकि शक्कर के साथ कुछ भी गर्म करने से 5-हाइड्रॉक्सीमेथाइलफ्यूरफुल या एचएमएफ नामक एक रसायन निकलता है, जिसे कैंसर पैदा करने वाला रसायन माना जाता है, लेकिन यह हर उस चीज के लिए है जिसमें सिर्फ शहद नहीं, चीनी भी शामिल हो. इसलिए यह पाया गया कि शहद को गर्म करने से यह जहरीला बन सकता है, लेकिन क्या यह आपके शरीर को नुकसान जितना घातक है? 

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन द्वारा शहद को गर्म करने के साथ-साथ घी में मिलाने के दुष्प्रभावों पर किए गए एक अध्ययन में सलाह दी गई है कि गर्म शहद (> 140 डिग्री सेल्सियस) को घी के साथ मिलाने पर एचएमएफ का उत्पादन होता है जो हानिकारक प्रभाव पैदा कर सकता है, और हमारे पेय को जहर बना सकता है. ध्यान दें कि शहद के लिए अनुमत तापमान 140 डिग्री से कम है. अगर बात करें गर्म दूध के गिलास की तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि शहद के तापमान से दूध कितना गर्म होगा. यही कारण है कि यह जहरीला हो सकता है.

आयुर्वेद का मानना है कि गर्म दूध में शहद मिलाना उतना विषैला नहीं होगा कि वह जहर बन जाए. 140 डिग्री से अधिक तापमान पर शहद को गर्म करने से यह आपके शरीर के लिए कम फायदेमंद हो सकता है, क्योंकि कुछ पोषक तत्व विकृत हो जाते हैं, लेकिन यह घातक होने के करीब है. 


और खबरों के लिए क्लिक करें

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement